जिस पक्ष ने की अवैध खनन की शिकायत, अब उस पर खननमाफिया का हमला

-पुलिस की कार्रवाई के बाद गांव गाधानेर में अवैध खनन पर झगड़ा

By: Meghshyam Parashar

Published: 17 Sep 2020, 10:15 AM IST

भरतपुर/पहाड़ी. दो दिन पूर्व गाधानेर के चारागाह के पहाड़ में अवैध खनन के खिलाफ हुई कार्रवाई के बाद बुधवार को दो पक्षों के बीच झगड़ा हो गया। इसमें दोनों पक्षों के छह लोग घायल हो गए। इनमें कुछ को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया। घटना की सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची, लेकिन तब तक मामला शांत हो चुका था। घटना को लेकर एक पक्ष ने आरोप लगाया है कि दूसरे पक्ष के लोग हमला करते समय कह रहे थे कि उन्होंने अवैध खनन की शिकायत पुलिस से की थी। इसलिए हमला किया गया है। उल्लेखनीय है किउल्लेखनीय है कि राजस्थान पत्रिका ने 13 सितंबर के अंक में पहाड़ी इलाके में अवैध खनन व ओवरलोडिंग पर साधी चुप्पी शीर्षक से समाचार प्रकाशित कर मामले का खुलासा किया था। इसके बाद 14 सितंबर को प्रशासन ने गोपनीय कार्रवाई की रणनीति बनाई। कार्रवाई के बाद से ही गांव में तनाव की स्थिति बनी हुई है। क्योंकि यहां लंबे समय से अवैध खनन के काम में हिस्सेदारी को लेकर दो रसूखदारों के दोनों पक्ष आमने-सामने होते रहे हैं।
गाधानेर निवासी इशा पुत्र जुहरू ने दर्ज कराई रिपोर्ट में बताया है कि वह सुबह अपनी पुत्र वधू रसमीना के साथ सामान खरीदने जा रहा था कि चौराहे पर पहुंचने पर रसीद के मकान के समीप एक राय होकर गांव के जाफर, निसार, अरशद पुत्र यूनुस, आरिफ पुत्र हारुन, तालीम पुत्र ध्यानी, आरिफ पुत्र राजू, ध्यानी राजू फरीद पुत्र अब्दुल्ला, साकिर, साबिर पुत्र दीना, वाजिद पुत्र यूनिस, नम्मा पुत्र हमीदा हाथों में हथियार लेकर आए और हमला कर दिया। बचाने आई पुत्र वधू के साथ भी मारपीट की लूटपाट की।

रसूख के दबाव में चलता है सारा खेल

हकीकत यह है कि राजस्व रिकार्ड में दर्ज चारागाह पहाड़ों में गाधानेर का (कोचरा), धौलेट में ठेकड़ा व ठेकावास के चारागाह पहाड़ को खनन माफियाओं ने छलनी कर दिया है। इनमें से अभी तक गाधानेर के पहाड़ में कई बार कार्रवाई की गई। रास्ते काटे गए लेकिन अवैध खनन पर लगाम नहीं लग सकी है। उसका मुख्य कारण खनिज विभाग की लापरवाही होना है। खनन से जुड़े लोगों का कहना है कि खनिज विभाग जानते हुए भी अनजान बना रहता है। इस अवैध खनन से सरकार को करोड़ों रुपए का चूना लगाया जा चुका है। दशकों से इस इलाके में रसूख के दबाव में अवैध खनन का सारा खेल चलता है। क्योंकि एक गिरोह स्थानीय से लेकर जिलास्तर इस पूरे मामले में कार्रवाई से बचाने के लिए भी जुटा रहता है। इस बार हुई कार्रवाई ने इस गिरोह का भी खुलासा कर दिया है।

Meghshyam Parashar Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned