रूपवास में जाम लगाने का प्रयास, ग्रामीण शव भरतपुर लेकर पहुंचे

रूपवास थाना क्षेत्र के गांव मालौनी में कुछ माह पूर्व हुई फायरिंग में घायल दो जनों में से एक की उपचार के दौरान मौत होने पर गुस्साए ग्रामीणों ने रविवार को यहां पुलिस थाने के बाहर जाम लगाने का प्रयास किया।

By: rohit sharma

Published: 01 Mar 2020, 09:59 PM IST

भरतपुर. रूपवास थाना क्षेत्र के गांव मालौनी में कुछ माह पूर्व हुई फायरिंग में घायल दो जनों में से एक की उपचार के दौरान मौत होने पर गुस्साए ग्रामीणों ने रविवार को यहां पुलिस थाने के बाहर जाम लगाने का प्रयास किया। लेकिन पुलिस जाम नहीं लगने दिया। इसके बाद ग्रामीण शव भरतपुर पुलिस अधीक्षक कार्यालय ले आए। यहां अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (एडीएफ) सुरेश खींची ने समझाइश की और आरोपियों की गिरफ्तारी का आश्वासन देकर मामला शांत कराया। बाद में शव को जिला आरबीएम अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया दिया।
क्षेत्र के गांव पुरा व मालौनी निवासी दो पक्षों के पुराने विवाद को लेकर पुरा गांव के पक्ष के लोगों की फायरिंग में गत 10 दिसंबर 2019 को मवासी पुत्र ननगा व नितिन पुत्र हरिओम गोली लगने से घायल हो गए थे। इन्हें उपचार के लिए जयपुर ले गए थे। बाद में रविवार को तबीयत खराब होने पर परिजन मवासीराम को रूपवास सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लेकर आए, जहां चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया। इससे गुस्साए परिजन व ग्रामीणों ने थाने के बाहर जाम लगाने का प्रयास किया। पुलिस पहले से सतर्क थी, जिससे जाम नहीं लग पाया। ग्रामीण शव को भरतपुर पुलिस अधीक्षक कार्यालय ले आए। यहां एएसपी समेत अन्य अधिकारियों ने समझाइश की और आरोपियों को जल्द गिरफ्तारी का आश्वासन दिया। बाद में शव को पोस्टमार्टम के लिए मोर्चरी में रखवा दिया। पुलिस ने बताया कि फायरिंग के तीन आरोपियों में से दो को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है।

rohit sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned