प्रदेश में फैला बाबरिया गिरोह का नेटवर्क, पुलिस की दबिश से बस्तियों में पसरा सन्नाटा, 50 से अधिक हिरासत में लिए

प्रदेश में फैला बाबरिया गिरोह का नेटवर्क, पुलिस की दबिश से बस्तियों में पसरा सन्नाटा, 50 से अधिक हिरासत में लिए

abdul bari | Publish: Jul, 12 2019 11:32:51 PM (IST) | Updated: Jul, 13 2019 01:44:51 AM (IST) Bharatpur, Bharatpur, Rajasthan, India

पुलिस की कार्रवाई के भय से ( babaria gang ) दोनों ही बस्तियों के लोग भाग गए। एक बार तो दोनों बस्तियों में सन्नाटा पसर गया। पुलिस ने हिरासत में लिए गए लोगों को बस से संबंधित दोनों थानों में लाकर करीब तीन घंटे तक पूछताछ की।

भरतपुर.

चिकसाना थाना क्षेत्र में कच्छा-बनियान गिरोह की ओर से वारदात करने के बाद पुलिस आरोपियों की पांच दिन से तलाश में जुटी हुई है, लेकिन कोई सुराग नहीं लग सका है। इसलिए सर्किल के सभी थानों की पुलिस ने शहर के रंजीत नगर कच्ची बस्ती व चिकसाना थाने के गांव आजाद नगर में दबिश दी।

जहां से करीब 50 से अधिक लोगों को हिरासत में लिया व तलाशी ली गई। पुलिस देर शाम इन सभी को पूछताछ करने के बाद आवश्यक दस्तावेज लेकर छोड़ दिया। उल्लेखनीय है कि इन दोनों स्थानों पर बाबरिया गिरोह ( Babaria gang ) से जुड़े लोग निवास करते हैं। ये परिवार शादियों में बैग चुराने, बच्चों के माध्यम से चोरी कराने समेत आपराधिक वारदातों को अंजाम देते हैं।

जानकारी के अनुसार आठ जुलाई को चिकसाना थाने के गांव नाई के नगला में कच्छा-बनियान गिरोह के आधा दर्जन बदमाशों ने पुलिसकर्मी ( Bharatpur police ) के घर पर रविवार देर रात धावा बोलकर दो लाख रुपए नकद और 13 लाख के आभूषण लूट लिए थे। वारदात के दौरान परिवार वालों ने विरोध किया तो उन्होंने उन्हें डंडों से पीटा था। पुलिस ने पिछले पांच दिन से इस गिरोह की तलाश कर रही है। चूंकि चिकसाना क्षेत्र में आजादनगर होने के कारण पुलिस से बाबरिया गिरोह के वारदात में शामिल होने पर आशंक व्यक्त कर रही थी।

सीओ ग्रामीण परमाल सिंह के नेतृत्व में आजादनगर व सीओ सिटी हवासिंह रायपुरिया के नेतृत्व में रंजीतनगर कच्ची बस्ती में दबिश दी गई। पुलिस की कार्रवाई के भय से दोनों ही बस्तियों के लोग भाग गए। एक बार तो दोनों बस्तियों में सन्नाटा पसर गया। पुलिस ने हिरासत में लिए गए लोगों को बस से संबंधित दोनों थानों में लाकर करीब तीन घंटे तक पूछताछ की। पुलिस ने बताया कि पूछताछ में काफी सुराग मिले हैं। इसलिए पुलिस टीमों का गठन कर संबंधित स्थानों पर भेजा गया है।

पुलिस का कहना है कि बाबरिया गिरोह का नेटवर्क पूरे प्रदेश समेत देश के कई राज्यों में फैला होने के कारण कुछ परेशानी आ रही थी, लेकिन इस कार्रवाई से काफी हद तक सुराग हाथ लगे हैं। जल्द ही कच्छा-बनियान गिरोह के अलावा अन्य वारदातों का भी खुलासा किया जाएगा।

 

यह खबरें भी पढ़ें

6 लोगों पर युवती को जबरन चंडीगढ़ ले जाकर सामूहिक बलात्कार करने का आरोप


सरकारी निर्माण स्थल से रात में चोरी करते थे सरिये, ठेकेदार सहित 4 गिरफ्तार


केवलादेव के लिए पर्यटकों को नहीं बहाना पड़ेगा पसीना, ई-मित्र से मिल सकेंगे टिकट

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned