scriptCrime News : आठ माह पहले रेप का शिकार हुई नाबालिग ने अब बच्चे को दिया जन्म | Bharatpur Crime News : Minor girl raped 8 months ago, delivers baby boy | Patrika News
भरतपुर

Crime News : आठ माह पहले रेप का शिकार हुई नाबालिग ने अब बच्चे को दिया जन्म

बलात्कार के इस केस में सबसे बड़ी बात यह भी सामने आई है कि जब पीडि़ता की ओर से एक महीने पहले 21 मई को मामला दर्ज करा दिया गया था, तो पुलिस अब तक जांच के नाम पर फौरी कार्रवाई किसके दबाव में करती रही। रसूख के दबाव में आरोपी को ही गिरफ्तार नहीं किया गया, बल्कि आरोपी पक्ष पर मेहरबानी की जाती रही।

भरतपुरJun 22, 2024 / 01:59 pm

जमील खान

Bharatpur News : भरतपुर. डीग जिले की एक नाबालिग बलात्कार पीडि़ता ने जनाना अस्पताल में बेटे को जन्म दिया है। पीडि़ता के साथ एक दबंग ने आठ माह पहले दरिंदगी को अंजाम दिया था। पीडि़ता जब पेट दर्द की शिकायत लेकर अस्पताल पहुंची तो उसे इस बात का पता चला। जबकि बलात्कार पीडि़ता संबंधित थाने में आरोपी के खिलाफ नामजद मुकदमा 21 मई को ही दर्ज करा चुकी है, लेकिन पुलिस ने अब तक आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया।
पीडि़ता को 18 जून की सुबह अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां शाम को उसने जिला जनाना अस्पताल में ऑपरेशन से बेटे को जन्म दिया। पुलिस के अनुसार पीडि़ता ने दर्ज रिपोर्ट में बताया था कि गांव के एक दबंग व्यक्ति के बेटे ने नाबालिग के साथ अक्टूबर 2023 में जबरन खेत में ले जाकर साथ बलात्कार किया। इतना ही नहीं आरोपी ने नाबालिग के अश्लील वीडियो आदि भी बना लिए। बाद में वह सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल करने की धमकी देकर नाबालिग के साथ बलात्कार करता रहा। वहीं अभी तक पुलिस आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर पाई है।
बताया जा रहा है कि नाबालिग लड़की कुम्हेर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पेट मे दर्द होने पर सोनोग्राफी कराने गई थी, तभी चिकित्सक ने उसे सात माह की गर्भवती होने की जानकारी दी तो वह घबराहट के चलते अपना आधार कार्ड छोड़कर सीएचसी से भाग निकली। मामले को संदिग्ध मानते हुए चिकित्सक ने पुलिस बुलाकर आधार कार्ड को पुलिस के हवाले कर दिया।
पहले फोन नहीं उठाया, फिर स्विच ऑफ
डीग जिले की पुलिस की इतने बड़े मामले को लेकर लापरवाही भी सामने आई है। क्योंकि जहां आरोपी को अब तक गिरफ्तार नहीं किया गया। कुम्हेर के सीओ प्रेम बहादुर से बात की तो उन्होंने कहा कि यह मामला मेरे संज्ञान में नहीं है। मैं बाहर हूं। एक बार आप कुम्हेर एसएचओ से बात कर लीजिए। इतना ही नहीं जब इस मामले को लेकर पुलिस अधिकारियों से बात करना चाहा तो कुछ ने बोलने से इनकार कर दिया तो कुछ एसएचओ से बात करने को कहकर टाल गए।
जब राजस्थान पत्रिका ने कुम्हेर एसएचओ अध्यात्म गौतम से बात करने की कोशिश की तो उन्होंने फोन ही नहीं उठाया। लापरवाही को छिपाने के लिए फोन ही स्विचऑफ कर लिया। बताते हैं कि कुम्हेर थाना पुलिस की सबसे बड़ी लापरवाही सामने आई है, लेकिन इसके बाद भी डीग एसपी की ओर से संबंधित दोषियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करना सवालिया निशान खड़ा कर रहा है।
एक महीने तक नींद में पुलिस
बलात्कार के इस केस में सबसे बड़ी बात यह भी सामने आई है कि जब पीडि़ता की ओर से एक महीने पहले 21 मई को मामला दर्ज करा दिया गया था, तो पुलिस अब तक जांच के नाम पर फौरी कार्रवाई किसके दबाव में करती रही। रसूख के दबाव में आरोपी को ही गिरफ्तार नहीं किया गया, बल्कि आरोपी पक्ष पर मेहरबानी की जाती रही।
पंचायत राजीनामा का दबाव
बताते हैं कि नाबालिग लड़की के परिजनों को उसके गर्भवती होने की जानकारी हुई तो उसके बाद गांव में पंच पंचायत का दौर शुरू हुआ, लेकिन पीडि़ता को इंसाफ नहीं मिलता देख पीडि़ता के परिजनों ने थाना पुलिस को सूचना दी, लेकिन इसके बाद भी पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की।

Hindi News/ Bharatpur / Crime News : आठ माह पहले रेप का शिकार हुई नाबालिग ने अब बच्चे को दिया जन्म

ट्रेंडिंग वीडियो