Bharatpur: गोतस्कर व पुलिस में तड़ातड़ फायरिंग, फिर जो हुआ...

जिले के मेवात क्षेत्र में एक बार फिर से गोतस्कर सक्रिय हो गए हैं। विशेषकर जिले के कामां व पहाड़ी इलाके में गोतस्करों की घटनाएं बढ़ रही हैं। ऐसा ही एक मामला शुक्रवार देर रात को भी आया।

By: rohit sharma

Published: 03 Aug 2019, 11:52 AM IST

भरतपुर. जिले के मेवात क्षेत्र में एक बार फिर से गोतस्कर सक्रिय हो गए हैं। विशेषकर जिले के कामां व पहाड़ी इलाके में गोतस्करों की घटनाएं बढ़ रही हैं। ऐसा ही एक मामला शुक्रवार देर रात को भी आया। पुलिस को गोतस्करों के कंटेनर में गोवंश ले जाने की सूचना मिली। जिस पर पुलिस ने इलाके में नाकाबंदी कराई और पीछा किया। तस्कर कुम्हेर से डीग की तरफ भाग निकले। पुलिस की घेराबंदी में फंसने पर तस्करों ने फायरिंग कर दी, जिस पर जवाब में पुलिस ने भी मोर्चा संभाला। स्वयं को घिरता देख तस्कर कंटेनर छोड़ कर भाग निकले। बरामद कंटेनर को पुलिस ने खोला तो उसमें निर्दयतापूर्ण तरीके से 30 से अधिक गोवंश बंधा मिला, जिसे पुलिस ने शनिवार सुबह गोशाला में छुड़वाया है।

 


जानकारी के अनुसार रात में सूचना मिली कि तस्कर कंटेनर में गोवंश छिपा कर ले जा रहे हैं। जिस पर क्यूआरटी टीम ने इलाके में नाकाबंदी की। तस्करों के भरतपुर से कुम्हेर की तरफ जाने की सूचना पर क्यूआरटी टीम ने इनका पीछा किया। कुम्हेर व डीग पुलिस ने इलाके में नाकाबंदी की। तस्कर कंटनेर को लेकर यूपी की तरफ जाने वाले बहज-गोवर्धन मार्ग की तरफ ले गए। पुलिस की घेराबंदी में फंसने पर तस्करों ने क्यूआरटी टीम पर फायरिंग कर दी, जिस पर जवाब में पुलिस ने भी फायरिंग की। स्वयं को घिरता देख तस्कर कंटेनर को छोड़ भाग निकले। कंटनेर में 30 से अधिक गोवंश निर्दयतापूर्ण तरीके से बंधे हुए थे। कंटेनर पर अलवर रजिस्ट्रेशन नम्बर की प्लेट लगी हुई थी। कंटेनर को डीग पुलिस के सुपुर्द किया है।

rohit sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned