भरतपुर शराब दुखांतिका: जिला आबकारी अधिकारी व सर्किल का पूरा थाना सस्पेंड

रूपवास दुखान्तिका मामले में मुख्यमंत्री की नाराजगी के बाद गुरुवार शाम मामले में कई अधिकारी और पुलिसकर्मियों पर गाज गिरी।

By: kamlesh

Published: 14 Jan 2021, 09:21 PM IST

भरतपुर। रूपवास दुखान्तिका मामले में मुख्यमंत्री की नाराजगी के बाद गुरुवार शाम मामले में कई अधिकारी और पुलिसकर्मियों पर गाज गिरी। इसमें जिला आबकारी अधिकारी को निलम्बित कर दिया गया। वहीं, इससे पहले बयाना आबकारी थाने के पूरे स्टाफ को मुख्यमंत्री के आदेश के बाद निलम्बित कर दिया था। वहीं, जिले के हरियाणा व उत्तरप्रदेश से लगे बॉर्डर समेत अन्य इलाकों में अवैध शराब के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

जिला कलक्टर नथमल डिडेल ने बताया कि मामले में शासन सचिव वित्त की ओर से जारी आदेश में मामले में लापरवाही बरतने पर जिला आबकारी अधिकारी महेशचंद भीमवाल को निलम्बत कर मुख्यालय जयपुर किया गया है। इसी तरह सहायक आबकारी अधिकारी राकेश शर्मा, बयाना आबकारी थाने के पेट्रोलिंग अधिकारी रेवत सिंह राठौड, आबकारी निरीक्षक बयाना योगेन्द्र सिंह को निलम्बि किया है।

इसके अलावा रूपवास में आबकारी एन्फॉर्समेंट थाने के संपूर्ण स्टाफ को सस्पेंड किया है। वहीं, जिला पुलिस अधीक्षक देवेन्द्र सिंह ने रूपवास थाने के एएसआई मोहन सिंह व दो बीट कांस्टेबल को निलम्बित किया है। उधर, रूपवास एसडीएम ललित मीणा को एपीओ करने के निर्देश दिए हैं।

उधर, सरकार ने मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख रुपए और बीमारों को 50-50 हजार रुपए की सहायता राशि के चेक देने की घोषणा की है। जिस पर देर शाम मंत्री डॉ.सुभाष गर्ग व क्षेत्रीय विधायक अमर सिंह जाटव ने मृतकों के परिजनों को चेक सौंपे। वहीं, शराब दुखान्तिका के मामले की जांच संभागीय आयुक्त भरतपुर पीसी बैरवाल को सौंपी है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned