हजार रूपए में देसी कट्टा!

हजार रूपए में देसी कट्टा!
bharatpur

Mukesh Kumar Sharma | Updated: 11 Aug 2015, 11:56:00 PM (IST) Bharatpur, Rajasthan, India

आपराधिक घटनाओं को लेकर आए दिन सुर्खियों में बने रहने वाले पूर्वी राजस्थान के भरतपुर जिले का नाम

भरतपुर।आपराधिक घटनाओं को लेकर आए दिन सुर्खियों में बने रहने वाले पूर्वी राजस्थान के भरतपुर जिले का नाम पिछले कुछ दिनों से अवैध हथियारों की तस्करी के रूप में सामने आया है। इसमें ताजा मामला एक जिला कलक्टर के पुत्र का है, जिसने भरतपुर से अवैध तरीके से पिस्टल खरीदना बताया है।


पुलिस जिले में हथियारों की अवैध फैक्ट्रियों के बंद होने का दावा करते हुए सीमावर्ती उत्तरप्रदेश से अवैध रूप से हथियार की तस्करी होने की बात कह रही है। बताया जा रहा है कि इस क्षेत्र में एक देसी कट्टा एक हजार से 12 सौ रूपए आसानी से मिल जाता है।


पुलिस इस वर्ष जून तक 105 अवैध हथियार व 105 कारतूस बरामद कर चुकी है। पुलिस ने दर्ज 144 मामलों में 131 आरोपितों को गिरफ्तार किया है। जबकि इससे पहले वर्ष 2014 में 141 हथियार व 223 कारतूस बरामद किए थे। पुलिस ने 208 मामलों में 209 लोगों को गिरफ्तार किया था।

यूपी के हाथिया से हो रही तस्करी


जिले में अवैध हथियारों की तस्करी उत्तरप्रदेश के पड़ौसी जिला मथुरा के गांव हाथिया से हो रही है। बरसाना थाने के इस गांव में आसानी से हथियार उपलब्ध हो जाते हैं।


जिले की सीमा सटी होने के कारण क्षेत्र में चोरी-छिपे हथियारों की तस्करी होती है और स्थानीय व्यक्ति सप्लायर को हथियार मुहैया कराता है या तय ऑर्डर के मुताबिक संबंधित स्थान पर भिजवाने की व्यवस्था करता है। हाथिया के अलावा मथुरा जिले के गोवर्घन थाने के गांव दौसरस व अलीगढ़ तथा आगरा से भी अवैध हथियारों की तस्करी होती है।

पुलिस भी करती है इस्तेमाल


आपराधिक प्रवृत्ति के लोग अवैध हथियारों का तो इस्तेमाल करते ही हैं, इसके अलावा स्थानीय पुलिस भी इनका उपयोग करती है। पुलिस ने गोतस्कर व वाहन चोर गिरोह से मुठभेड़ के दौरान कई बार इन दो नम्बर के हथियार का प्रयोग करती है, हालांकि पुलिस अधिकारी इससे इनकार करते हैं।

सीकर पुलिस ने गत माह जिले के नगर तहसील के गांव गंगावक निवासी युवक विष्णु गुर्जर को हथियार तस्करी के मामले में गिरफ्तार किया था। युवक सीकर एक पॉलिटेक्निक कॉलेज का छात्र है। पुलिस ने उसके कब्जे से पिस्टल, एक डबल बैरल, बंदूक व 5 कारतूस बरामद किए थे। पुलिस का कहना है कि वह हाथिया से हथियार लाकर सीकर में सप्लाई करता था। इसमें 12 बोर की बंदूक को करीब 15 से 20 हजार रूपए में बेचता था।

बाडमेर जिला कलक्टर के पुत्र शांतनु कुमार शर्मा से अवैध हथियार पकड़े जाने पर भी भरतपुर का नाम सामने आया था। शांतनु को जयपुर की महेशनगर थाना पुलिस ने अवैध पिस्टल के साथ गिरफ्तार किया था। उसने पूछताछ में पुलिस को भरतपुर से अपने साथी के साथ 12 हजार रूपए में पिस्टल खरीदना बताया है। पुलिस उसके साथी व सप्लायर की तलाश कर रही है।

आपराधिक प्रवृत्ति के लोग उत्तरप्रदेश से अवैध हथियार खरीद कर लाते हैं। इसमें हाथिया गांव प्रमुख है। पुलिस लगातार इन लोगों के खिलाफ कार्रवाई करती है।राहुल प्रकाश, पुलिस अधीक्षक भरतपुर
Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned