बॉर्डर पर उलझी यूपी व राजस्थान पुलिस, डीएम व एसपी को संभालना पड़ा मामला

मथुरा जिले के रारह बॉर्डर से बिना रजिस्ट्रेशन के जा रहे प्रवासी मजदूरों को यूपी पुलिस के रोकने से चल रही तनातनी रविवार को विवाद में बदल गई।

By: rohit sharma

Updated: 10 May 2020, 12:09 PM IST

भरतपुर. मथुरा जिले के रारह बॉर्डर से बिना रजिस्ट्रेशन के जा रहे प्रवासी मजदूरों को यूपी पुलिस के रोकने से चल रही तनातनी रविवार को विवाद में बदल गई। यूपी की जाजमपट्टी चौकी की ओर लगी बैरिकेड्स को उद्योगनगर पुलिस के हटाकर फेंकने से सुबह के समय दोनों जिलों की पुलिस आमने-सामने हो गई। विवाद बढऩे पर यूपी पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए और उद्योगनगर थाना अधिकारी के व्यवहार को लेकर नाराजगी जताई।

यूपी पुलिस इस कदर नाराज थी कि एएसपी परमाल सिंह व सीओ शहर हवा सिंह के सामने उन्होंने नाराजगी जताते हुए बात करने से इनकार कर दिया। बॉर्डर पर तनाव की स्थिति होने पर दोनों जिले के आला अधिकारियों ने जाजमपट्टी चौकी पर वार्ता की और यूपी प्रशासन ने बिना रजिस्ट्रेशन के प्रवासी मजदूरों को अपनी सीमा में नहीं लेने की बात कही। जिस पर फिलहाल बिना रजिस्ट्रेशन के श्रमिकों की आवाजाही रोक दी है। एसपी हैदरअली जैदी ने मामले में जांच कर आवश्यक कार्रवाई कर भरोसा यूपी पुलिस को दिया है। वार्ता में भरतपुर डीएम नथमल डिडेल, मथुरा के सरबद्धराम मिश्र, एसएसपी मथुरा डॉ.गौरव समेत अन्य अधिकारी मौजूद थे।


गौरतलब रहे कि दो दिन रारह बॉर्डर पर यूपी और राजस्थान पुलिस में बिना रजिस्ट्रेशन के आ रहे प्रवासी श्रमिकों को लेकर विवाद चल रहा था। यूपी पुलिस ने बिहार, झारखण्ड, मध्यप्रदेश समेत अन्य प्रांतों के श्रमिकों को अपनी सीमा में लेने से इनकार कर दिया। कुछ श्रमिक जो जाजमपट्टी तक घुस आए थे, उन्हें भी वापस रारह बॉर्डर पर राजस्थान सीमा में छोडऩे से विवाद बढ़ गया। बताया जा रहा है कि रविवार को उद्योगनगर थाना पुलिस ने यूपी के जाजमपट्टी के बेरीकेड्स हटा देने पर तनातनी हो गई। यूपी पुलिस का आरोप है कि इस घटना में जाजमपट्टी चौकी प्रभारी पुष्पेन्द्र व मर्गोरा थाने के एसआई अनुज तिवारी को मालूमी चोट पहुंची। इस घटना के बाद यूपी के अधिकारी बिफर गए और कंपनी पीएसी की कंपनी और आसपास के थाना पुलिस के जवान और अधिकारी रारह बॉर्डर पर पहुंच गए। हालात बिगड़ते देख एएसपी परमाल व सीओ हवा सिंह ने समझाइश की लेकिन यूपी पुलिस के अधिकारियों ने उनकी एक नहीं सुनी और जमकर खरीखोटी सुनाई। मामला बिगडऩे पर जिला कलक्टर नथमल डिडेल व एसपी हैदरअली जैदी यूपी सीमा पर पहुंचे और आला अधिकारियों से वार्ता की। वार्ता के बाद मामला शांत हुआ और एसपी ने कहा कि जो भी हुआ उसकी जांच कराई जाएगी।


हमला करने का लगाया आरोप

बॉर्डर पर जब सीओ शहर हवा सिंह समझाइश कर रहे थे तब यूपी पुलिस ने राजस्थान पुलिस पर हमला करने तक का आरोप लगाया। यूपी के एसआई अनुज कुमार ने अंगुली में चोट दिखाते हुए कहा कि सीओ साहब यह आप के निर्देश में हुआ है और नहीं हुआ है तो आपकी गलती है।

rohit sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned