आसमान से किसानों को बरसी आफत...

भरतपुर. दिनभर बरसे पानी से लोग सर्दी में ठिठुरते नजर आए। सूरज की एक किरण भी लोगों को दिखाई नहीं दी। बुधवार बीती रात से गुरुवार शाम तक कहीं चना आकार के ओले गिरे तो कहीं तेज व रुक-रुककर बारिश का दौर चलता रहा।

भरतपुर. दिनभर बरसे पानी से लोग सर्दी में ठिठुरते नजर आए। सूरज की एक किरण भी लोगों को दिखाई नहीं दी। बुधवार बीती रात से गुरुवार शाम तक कहीं चना आकार के ओले गिरे तो कहीं तेज व रुक-रुककर बारिश का दौर चलता रहा। जिले में सुबह से शाम तक 10.1 एमएम बारिश दर्ज की गई। लोग सुबह से ही घरों में अलाव के सहारे बचाव करते दिखे। वहीं दिनभर की बारिश से लोगों के दैनिक कार्य भी प्रभावित हुए। लेकिन, बारिश से जहां सरसों और चना को नुकसान होने की आशंका हैं वहीं गेहूं के लिए वरदान मानी जा रही है।

कई दिन से तेज धूप के बाद अचानक मौसम में परिवर्तन आया। यह पश्चिमी विक्षोभ के कारण हो रहा है। इस विक्षोभ से पहाड़ी क्षेत्रों में बर्फबारी का प्रभाव यहां पड़ रहा है। मौसम में रात से सुबह तक बारिश और ओले गिरना और चार किलोमीटर प्रतिघंटा की गति से शीतलहर चलना लोगों को कंपंकपा रहा है। माना जाता है कि अभी एक-दो दिन ऐसी स्थिति रहेगी। इसके बाद धूप निकलने की संभावना है। अगर ऐसा ही रहा तो सरसों की फसल को नुकसान हो सकता है।


जिले में 4.10 लाख हैक्टेयर कृषि भूमि हैं, जहां 2.67 लाख किसान फसल बुवाई का कार्य करते हैं। इन्होंने 2.10 लाख हैक्टेयर में सरसों, 08 हजार हैक्टेयर में चना की बुवाई की है। लगातार न्यूनतम तापमान चार डिग्री से नीचे रहे और बारिश के साथ ओले गिरें से सरसों और चना को नुकसान होगा। क्योंकि, लगातार बारिश से सरसों का फूल झड़ जाता है और बचा हुआ दाना मोटा होकर बेकार हो जाता है।

वहीं चना का दाना मोटा हो जाता है और धूप निकलने पर सूखकर बेकार हो जाता है। इस स्थिति में सरसों और चना की फसल करने वाले किसानों को नुकसान की आशंका सता रही है। लेकिन, 1.38 लाख हैक्टेयर में गेहूं की फसल करने वाले किसानों को यह बारिश वरदान है। इसका कारण गेहूं की फसल छोटी है और उसे अभी पानी की आवश्यकता है। बारिश से नुकसान का असर सब्जियों की फसल पर भी पड़ेगा। इसलिए किसान चिंतित हैं।


बारिश पर गौर करें तो कुम्हेर, कामां, बयाना, रूपवास क्षेत्र में बारिश के साथ ओले गिरे और भरतपुर शहर, जनूथर, सीकरी, नगर, हलैना, सेवला, उच्चैन, नदबई, सेवर आदि में बारिश हुई। जिले में धुंध छाई रही। पूरे दिन बारिश से सर्दी का दौर बना रहा। यहां भरतपुर में 17 एमएम, अजानबंध में 16 एमएम, नदबई में 3, भुसावर में 9, उच्चैन में 9, बारैठा में 13, हलैना में 10, बयाना में 12, सेवला में 14, रूपवास में 5, वैर में 10, सेवर में 4 एमएम बारिश दर्ज की गई। यानि पूरे दिन में करीब 10.1 एमएम बारिश जिलेभर में हुई।

pramod verma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned