scriptFood was confined to the age of Bali, the edge of oil became sharp | बाली उम्र में ही सिमटा अन्न, तेल की धार हुई पैनी! | Patrika News

बाली उम्र में ही सिमटा अन्न, तेल की धार हुई पैनी!

locationभरतपुरPublished: Oct 01, 2022 04:55:13 pm

Submitted by:

Gaurav Saxena

Food was confined to the age of Bali, the edge of oil became sharp!
सिमटा गेहूं, खिली सरसों!...एक साल में...गेहूं का 25 फीसदी रकबा घटा, सरसों में 10 फीसदी की हुई बढ़ोतरी

file photos
file photos
Food was confined to the age of Bali, the edge of oil became sharp!
खरीफ में खराबा, 30 हजार हैक्टेयर बढ़ेगा सरसों का रकबा
साल दर साल सिमट रहा गेहूं का रकबा
भरतपुर. बदले मौसम (weather) के बीच खरीफ में खराबे की भरपाई सरसों की बुवाई से होगी। इस बार 30 हजार हैक्टेयर रकबे में सरसों की बुवाई ज्यादा होगी। इस बार कृषि विभाग ने 2 लाख 90 हजार हैक्टेयर में सरसों की बुवाई का अनुमान जारी है, जो पिछले साल की तुलना में 30 हजार हैक्टेयर अधिक होगा। इसकी मुख्य वजह यह है कि सिंचाई के लिए पानी की कमी से हर बार गेहूं का रकबा सिकुड़ रहा है। इससे हर बार सरसों की बुवाई बढ़ रही है।

मानसून के विदा लेते समय जिले में झमाझम के दौर ने किसानों को खासा आहत किया। बाजरे की फसल करीब-करीब 100 प्रतिशत तक खराब हो गई। इससे किसानों ने खासा नुकसान झेला है। अब चूंकि खरीफ में खराबा हुआ तो किसान जल्दी से फसल समेटकर खेतों को तैयार करने में जुट गए हैं, जिससे सरसों की समय पर बुवाई हो सके। यह समय सरसों की बुवाई के लिए उपयुक्त बताया जा रहा है। पिछले सालों में सरसों के बढ़ते भावों ने भी किसानों को इस ओर लुभाया है। यही वजह है कि किसान गेहूं का रकबा घटाकर सरसों की ओर से आकर्षित हो रहे हैं।

गेहूं के रकबे की बात करें तो पिछले तीन सालों में गेहूं का रकबा लगातार कम हो रहा है। वर्ष 2020 में गेहूं का रकबा 1 लाख 35 हजार, इसके बाद वर्ष 2021 में 1 लाख 25 हजार एवं इस बार रकबा एक लाख हैक्टेयर तक आ गया है।

बिना पानी के सिमट रहा रकबा
कृषि के जानकारों का कहना है कि जिले में सिंचाई के पानी की कमी के कारण गेहूं का रकबा लगातार घट रहा है। किसान खेतों में परिवार की जरूरत के मुताबिक ही गेहूं की बुवाई कर रहे हैं। गेहंू की फसल को सरसों के मुकाबले काफी पानी की जरूरत होती है। साथ ही आवारा जानवरों से रखवाली भी किसानों के सामने बड़ी चुनौती होती है।

यही वजह है कि किसानों का इससे मोहभंग हो रहा है। सरसों कम पानी में ही हो जाती है और इसका भाव भी किसानों को अच्छा मिल रहा है। यही वजह है कि सरसों का रकबा लगातार बढ़ रहा है। हालांकि जिले में कृषि योग्य भूमि सीमित है। ऐसे में यहां गेहूं का रकबा घटकर सरसों का बढ़ रहा है।

शत-प्रतिशत ने मांगा मुआवजा
बाजरे की फसल में खराबे को लेकर जिले से शत-प्रतिशत किसानों ने मुआवजे की मांग की है। जिले में बीमित 57 हजार किसानों में से 6 हजार 729 ने ऑनलाइन तथा 48 हजार 904 ने ऑफलाइन माध्यम से मुआवजे के फॉर्म भरे हैं। कुल 55 हजार 633 बीमित किसान आवेदन कर चुके हैं।

इनमें से बकाया करीब एक से डेढ़ हजार किसान ऐसे हैं, जिन्होंने अतिवृष्टि होने से पहले ही अपनी फसल उठा ली। ऐसे किसानों ने आवेदन ही नहीं किया।

सम्बधित खबरे

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

दिल्ली में श्रद्धा मर्डर जैसा एक और केस, शव के टुकड़े कर फ्रिज में रखा, मां-बेटा गिरफ्तारFIFA 2022 : मोरक्को से हारने पर बेल्जियम में दंगा, पथराव के दौरान दागे आंसू गैस के गोले, कई गिरफ्तारएनालिसिस: मुुलायम की सीट बचाने में कहीं सपा के हाथ से निकल न जाए आजम का गढ़Gujarat assembly elections 2022: कच्छ-सौराष्ट्र- कौन होगा खुश और कौन फुस्सCG Breaking : बीजेपी प्रत्याशी ब्रह्मानंद नेताम को गिरफ्तार करने कांकेर पहुंची झारखंड पुलिस , गुड्डू सोनी और नरेश सोनी के घर दबिश दी, अब चारामा रवानाएक दिसंबर से बदल जाएंगे ये नियम, घट सकता है जेब का बोझ'दिल्ली का लड़का' कार्टून सीरीज से भाजपा अपने काम का करेगी बखान और सीएम केजरीवाल की खोलेगी पोलभारत सहित विश्व के 84 देशों के करीब 50 करोड़ व्हाट्सऐप यूजर्स का डेटा लीक, ऑनलाइन बिक रहा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.