जेल से ऑपरेट हो रही गैंग, चुरू में हुई हत्या का गैंगस्टर लॉरेंस पर शक

चुरू जिले के राजगढ़ में शुक्रवार को गैंगवार में हुई एक व्यक्ति की हत्या को लेकर देर रात केन्द्रीय कारागार सेवर में बंद गैंगस्टर लॉरेंस विश्नोई की सेल की आकस्मिक जांच की गई।

By: rohit sharma

Published: 24 May 2020, 03:02 AM IST

भरतपुर. चुरू जिले के राजगढ़ में शुक्रवार को गैंगवार में हुई एक व्यक्ति की हत्या को लेकर देर रात केन्द्रीय कारागार सेवर में बंद गैंगस्टर लॉरेंस विश्नोई की सेल की आकस्मिक जांच की गई। पुलिस अधिकारियों को देख गैंगस्टर ने दो मोबाइल फोन दीवार फेंक मारे, जिसमें स्क्रीन टूट गई। पुलिस ने दोनों मोबाइल फोन, ब्लूटूथ एयरफोन, दो सिमकार्ड, एक किताब व एक नोटबुक को जब्त किया है। नोटबुक पर कुछ कई संदिग्ध मोबाइल नम्बर लिखे हुए थे, फिलहाल पुलिस चुरू में हुई हत्या से सेवर जेल से कनेक्शन की जांच कर रही है। प्रकरण में सेवर पुलिस थाने में गैंगस्टर के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।


पुलिस अधीक्षक हैदर अली जैदी ने बताया कि चुरू जिले के राजगढ़ में शुक्रवार को गैंगवार में हुई हत्या के मामले में जांच में भरतपुर केन्द्रीय कारागार में बंद गैंगस्टर लॉरेंस विश्नोई उर्फ बालकरण उर्फ बाल पुत्र लविन्दर विश्नोई से कनेक्शन होना मिला। जिस पर डीजीपी जेल एनआरके रेड्डी व डीआइजी लक्ष्मण गौड के निर्देश पर एएसपी (मुख्यालय) डॉ.मूलसिंह राणा व एडीएम (शहर) राजेश गोयल के नेतृत्व में एक टीम रात 10 बजे सेवर जेल जांच करने पहुंची। सेल नम्बर 48 की तलाशी के लिए दरवाजे को खुलवाया तो अंदर बंद गैंगस्टर लॉरेंस विश्नोई ने दो मोबाइल फोनों को दीवार पर फेंक कर तोड़ दिया। सेल की तलाशी लेने पर उसके से दो सिम कार्ड एवं एक जोड़ी वायरलैस ब्लूटूथ एयर फोन, एक सिम निकालने की पिन, एक नोटबुक मिली। सेवर थाना पुलिस ने सेल से मिले सामान को जब्त कर मामले में मुकदमा दर्ज किया है।


नोटबुक में विदेशी नम्बर भी मिला

लॉरेंस की सेल से जब्त की नोटबुक में संदिग्ध नम्बर लिखे हुए थे। माना जा रहा है कि यह मोबाइल लॉरेंस की गैंग के सदस्यों के हो सकते हैं। जांच में एक किताब मिली, जिसमें अंदर पेज पर एक विदेशी मोबाइल नम्बर भी लिखा हुआ था।


वारदात को लेकर लॉरेंस ने की गुर्गो से बात

सूत्रों के अनुसार चुरू के राजगढ़ में हुई राजेन्द्र गढवाल की हत्या से पहले गैंगस्टर लॉरेंस विश्नोई ने सेवर जेल से मोबाइल पर गुर्गो से बात की थी। बताया जा रहा है कि वारदात को लेकर उसने डायरेक्शन भी दिए थे। माना जा रहा है कि गैंगस्टर से चुरू पुलिस जल्द मर्डर मामले में पूछताछ कर सकती है। उधर, पुलिस लॉरेंस की सेल से मिले मोबाइल के डाटा को खंगाल रही है, जिससे मालूम हो सके उसने किस-किस से बात की है। वहीं, चुरू के जिस क्षेत्र में राजेन्द्र गढवाल की हत्या हुई थी, उसके थाना प्रभारी विष्णुदत्त विश्नोई के खुदकुशी करने से मामला उलझ गया है।


अभी तक सुबह करते थे जांच

गैंगस्टर लॉरेंस विश्नोई की सेल की इससे पहले भी कई बार आकस्मिक जांच हो चुकी है लेकिन इससे पहले कुछ खास नहीं मिला। अभी तक की जांच सुबह होती थी, इस बार अचानक रात में हुई। जिस पर सेल में उसके पास से दो मोबाइल फोन व अन्य सामान जब्त किया गया है। इससे पहले जांच में उसकी सेल से कई जोड़ी जूते व अन्य सामान मिल चुका है। मोबाइल फोन मिलने से जेल प्रशासन की मिलीभगत भी सामने आ रही है।


्रचण्डीगढ़ में हुई हत्या के बाद गैंग ने किया था दावा

हत्या के मामले में गैंगस्टर लॉरेंस से कनेक्शन जुडऩे का पहला मामला नहीं है। इससे पहले गत सितम्बर चण्डीगढ़ में राजवीर उर्फ सोनू शाह की कुछ लोगों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। इर वारदात के बाद गैंगस्टर विश्नोई के कथित सोशल मीडिया पेज पर गत 28 सितम्बर को उक्त शख्स की हत्या करवाने का दावा किया गया था। इस खबर के बाद पंजाब पुलिस की सूचना पर स्वयं एसपी हैदरअली जैदी ने सेवर जेल पहुंच कर गैंगस्टर की बैरक की तलाशी ली थी लेकिन उस समय कुछ हाथ नहीं लगा था।

rohit sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned