scriptGrabbed land, now if the pension stopped, it was revealed | 19 साल पूर्व फर्जी मृत्यु प्रमाण पत्र बना हड़पी जमीन, अब पेंशन रुकी तो हुआ खुलासा | Patrika News

19 साल पूर्व फर्जी मृत्यु प्रमाण पत्र बना हड़पी जमीन, अब पेंशन रुकी तो हुआ खुलासा

श्रीनगर गांव के युवक से जुड़ा है मामला

भरतपुर

Published: August 03, 2022 07:49:11 am

भरतपुर. 19 साल पहले जो युवक कुछ समझने के काबिल भी नहीं था, उस युवक का मृत्यु प्रमाण पत्र बनवा कर उसकी संपत्ति को हड़पने का मामला सामने आया है। उसे अब तक पता ही नहीं चला कि उसे सहायता करने का दम भरने वाले उसके अपनों ने ही उसका मृत्यु प्रमाण पत्र बनवा कर संपत्ति अपने नाम करा ली है। जब हादसे में वह पैर से दिव्यांग हो गया तो पेंशन चालू कराई। पांच महीने बाद पेंशन बंद हुई तो मृत्यु प्रमाण पत्र जारी होने का खुलासा हुआ। पीडि़त ने जिला कलक्टर आलोक रंजन को मंगलवार को इस प्रकरण से अवगत कराया। इसमें आरोप लगाया है कि उसके ही कुछ परिजन व उसके साथियों ने मिलकर कुछ साल पहले पिता की हत्या कर दी थी। अब वह शिकायत नहीं करने दबाव बना रहे हैं। आए दिन जान से मारने की धमकी दे रहे हैं।
VIDEO#19 साल पूर्व फर्जी मृत्यु प्रमाण पत्र बना हड़पी जमीन, अब पेंशन रुकी तो हुआ खुलासा
VIDEO#19 साल पूर्व फर्जी मृत्यु प्रमाण पत्र बना हड़पी जमीन, अब पेंशन रुकी तो हुआ खुलासा
यह है आरोप

पीडि़त महेशचंद पुत्र स्व. साहबसिंह गुर्जर निवासी श्रीनगर थाना सेवर हाल निवासी बजरंग नगर कुट्टा शीशम तिराहा भरतपुर ने बताया है कि उसके चाचा धर्मसिंह पुत्र रामजीलाल व ताऊ का लड़का बीरीसिंह पुत्र बच्चू, रामभरोसी पुत्र गोरधन माली, धीरज पुत्र सुरेश, शिवहरि शर्मा ने मुझे बंदी बनाया और 2003 में मेरा मृत्यु प्रमाण पत्र भी बनवा लिया। तभी से ये सभी मुझे अकेला नहीं रहने देते थे। अगर स्कूल भी जाता था तो साथ जाते थे। मां व पत्नी घर पर होते थे तो एक आदमी घर का पहरा देता था। पूर्व में मेरे पिता को चाचा साहब ने ही जहर देकर मारा था। बाबा ने 40 एयर भूमि व एक भूखंड मेरे नाम किया था। वह फर्जी प्रमाण पत्र बनवा कर इन्होंने अपने नाम करा लिया।
पांच माह बाद बंद हुई पेंशन

पीडि़त महेशचंद ने बताया कि उसके पिता साहब सिंह का 13 जून 2019 को देहांत हो गया था। उसके बाद से ही परिवार आर्थिक तंगी से परेशान चल रहा है। एक वर्ष पूर्व हादसे में एक पैर से दिव्यांग हो गया। चिकित्सा विभाग से सर्टिफिकेट लेकर दिव्यांग प्रमाण पत्र बन गया। पांच महीने बाद पेंशन बंद होने पर बात की तो बैंक वालों ने बताया कि तुम्हारी तो रिकवरी होनी है। क्योंकि पेंशन चालू होने से पहले ही मृत्यु प्रमाण पत्र जारी हो गया था। जिला कलक्टर ने पीडि़त को उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Bihar Political Crisis Live Updates: नीतीश कुमार आज 8वीं बार लेंगे CM पद की शपथ, पटना में BJP का धरना-प्रदर्शन शुरूनीतीश के NDA छोड़ने के बाद पी चिदंबरम ने बीजेपी पर किया हमला, ट्वीट करके कही ये 6 बातेंBihar : आज 8वीं बार CM पद की शपथ लेंगे नीतीश कुमार, महागठबंधन के मंत्रिमंडल में होंगे 35 विधायकMaharashtra: कानून तोड़ने का अधिकार सिर्फ हमें है... केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने अफसरों को लगाई फटकारदूसरी बार कोरोना संक्रमित हुई कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी, भाई राहुल गांधी भी अस्वस्थ, टला राजस्थान दौरा48 घंटे के सर्च ऑपरेशन के बाद भी गुरुग्राम के नाले में गिरे बच्चे को नहीं खोज सकी टीम, परिजनों में मचा है कोहरामMaharashtra: महाराष्ट्र विधानसभा का मानसून सत्र आज से होगा शुरू, सचिवालय ने सभी कर्मचारियों को दिया ये आदेशBihar Politics: नीतीश कुमार की 'अवसरवादी राजनीति' की गूंज कहां तक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.