गुर्जर महापंचायत: इन तीन कारणों से 7 दिन में बदल सकता है बहुत कुछ

गुर्जर महापंचायत: इन तीन कारणों से 7 दिन में बदल सकता है बहुत कुछ

kamlesh sharma | Publish: May, 16 2018 04:21:11 PM (IST) Bharatpur, Rajasthan, India

बैंसला ने स्पष्टरूप से गुर्जरों से कहा कि वे आंदोलन की तैयारी के साथ ही श्रद्धांजलि सभा में आएं। सात दिन का समय सरकार को दिया गया है।

बयाना। गुर्जर आरक्षण को लेकर एक ही समाज के दो गुटों की महापंचायत हुई। मंगलवार को गांव अडडा में हुई कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला गुट ने 23 मई को कारवारी पीलूपुरा में श्रद्धांजलि सभा के साथ आंदोलन करने का इशारा कर दिया। हालांकि बैंसला ने स्पष्टरूप से गुर्जरों से कहा कि वे आंदोलन की तैयारी के साथ ही श्रद्धांजलि सभा में आएं। सात दिन का समय सरकार को दिया गया है। सरकार चाहे तो रोक सकती है।

इन तीन कारणों से 7 दिन में बदल सकता है बहुत कुछ
1. गुर्जर समाज में दो फाड़ हो चुकी है। लेकिन समाज आरक्षण चाहता है। इसलिए कर्नल बैंसला के सामने आंदोलन करने की अब मजबूरी बन चुकी है। इसलिए आंदोलन हो सकता है।

2. विधानसभा चुनावों को लेकर भी कुछ नेता अपना भाग्य आजमाने की कोशिश में जुटे हैं। इसलिए यहां शामिल होकर खुद को दिखा रहे हैं। दोनोें ही गुटों में पार्टियों के नेता भी हैं।

3. कारवारी पीलूपुरा रेल लाइन के पास ही है। इसलिए सरकार नहीं मानती है तो गुर्जरों को आंदोलन करने में भी आसानी रहेगी।


दो घंटे तक शांत रहे बैंसला ने भी मानी फूट
गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के संयोजक कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला करीब दो घंटे तक महापंचायत में शांत बैठे रहे। लेकिन अंत में खुद किरोड़ी ने भी मान लिया कि समाज में पिछले कुछ समय में बीच में जो खाई आई है। उसे भरना जरूरी है। इसलिए भी सात दिन का समय देना आवश्यक था।

इतना ही नहीं मंच पर कुछ वक्ताओं ने पिछले कुछ दिन से चल रहे मनमुटाव को लेकर भड़ास निकाली। साथ ही संघर्ष समिति को लेकर भी सवाल खड़े कर दिए। इतना ही नहीं महापंचायत में सबसे खास बात यह भी रही कि ओबीसी का विभाजन कर पांच प्रतिशत आरक्षण के मुद्दे पर वक्ता भटकते रहे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned