गुर्जर आरक्षण : गुर्जरों के इस नेता ने कर्नल बैंसला को बताया भाजपा समर्थक, एक अगस्त से फिर आंदोलन

गुर्जर आरक्षण : गुर्जरों के इस नेता ने कर्नल बैंसला को बताया भाजपा समर्थक, एक अगस्त से फिर आंदोलन

 

By: rohit sharma

Published: 24 May 2018, 04:40 PM IST

भरतपुर।

राजस्थान सरकार तथा राजस्थान गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के बीच 19 मई को हुए समझौते को लेकर गुर्जर समाज दो धड़ों में बंट गया है। अखिल भारतीय गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के अध्यक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी ने समझौते को गुर्जर समाज के साथ विश्वासघात बताते हुए रद्द करने की मांग की है।

बैंसला पर करौली से टिकट मांग का आरोप

जयपुर में गुरुवार को आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में बिधूड़ी ने कहा कि इस समझौते से राज्य की भाजपा सरकार अपनी चुनावी घोषणा पत्र में गुर्जर तथा अन्य चार जातियों को पांच प्रतिशत आरक्षण देने के वादे से मुकर गई है। उन्होंने कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला को भाजपा समर्थक बताते हुए कहा कि लोग बातें कर रहे हैं कि कर्नल अपने बेटे के लिए करौली से टिकट मांग रहा है।

READ : राजस्थान में अब BJP के कई नेताओं सहित 100 से ज़्यादा कार्यकर्ताओं ने थामा कांग्रेस का दामन

साथ ही उन्होंने कहा कि भ्रमित करने के बजाय राज्य की भाजपा सरकार 2013 के घोषणा पत्र में किए गए वादे तथा 2015 को हुए समझौते के अनुरूप गुर्जर तथा अन्य चार जातियों को पांच प्रतिशत आरक्षण देना चाहिए।

READ : गुर्जर महापंचायत: इन तीन कारणों से 7 दिन में बदल सकता है बहुत कुछ

उन्होंने कहा कि सरकार की वादा खिलाफ के विरोध में एक अगस्त से शांतिपूर्वक प्रदेशव्यापी आंदोलन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पांच प्रतिशत आरक्षण दो ही स्थिति में दिया जा सकता है। पचास प्रतिशत के दायरे में पांच प्रतिशत आरक्षण की व्यवस्था की जाए या फिर संविधान की नौंवी अनुसूची में यह प्रावधान जुड़वाया जाए।

गौरतलब है कि राज्य सरकार और गुर्जर समाज के बीच शनिवार को करीब दस घंटे के दौरान दो दौर की वार्ता के बाद 16 मांगों पर सहमति बनी थी। इसमें सरकार ने गुर्जर समाज की प्रत्येक मांग को निश्चित समय सीमा में पूरा करने का भरोसा दिया था। साथ ही रोहिणी कमेटी की रिपोर्ट का अध्ययन कर इस पर निर्णय करने की मंशा जताई। इसके बाद गुर्जर समाज ने 23 मई से प्रस्तावित आंदोलन को फिलहाल स्थगित कर दिया गया था।

rohit sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned