ब्रज होली महोत्सव: निर्णय नहीं बदला तो हाईकोर्ट की लेंगे शरण

पर्यटन विभाग की ओर से इस साल कामां में ब्रज में होली महोत्सव के तहत आगामी 6 मार्च की रात विभाग के कलाकारों के सांस्कृतिक संध्या आयोजन की स्वीकृति जारी की गई।

भरतपुर. पर्यटन विभाग की ओर से इस साल कामां में ब्रज में होली महोत्सव के तहत आगामी 6 मार्च की रात विभाग के कलाकारों के सांस्कृतिक संध्या आयोजन की स्वीकृति जारी की गई। जबकि राधाबल्लभ जी व गोपीनाथ जी मंदिर की साज-सज्जा व फूल बंगला झांकी, दोपहर को शोभायात्रा व राधा बल्लभजी मंदिर में ल_मार होली का आयोजन नहीं होगा। अन्य कार्यक्रम नहीं होने से लोगों में नाराजगी बनी हुई है। इसको लेकर कस्बेवासी व संत समाज के लोगों ने लाल दरवाजे पर आम सभा कर सरकार से ब्रज महोत्सव के संपूर्ण कार्यक्रम आयोजित कराने की मांग की है। लोगों ने ब्रज होली महोत्सव नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है।
आम सभा में लोगों ने कहा कि जब बृज की पहचान ल_मार होली, रथयात्रा ठाकुर जी के फूल बंगला दर्शन ही नहीं हो तो फिर यह कैसा बृज महोत्सव है। पर्यटन विभाग के आदेश से प्रतीत हो रहा है कि वह ब्रज महोत्सव आयोजन के नाम पर रात्रि को सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित कर लोगों की भावनाओं से खिलवाड़ कर रहा है जिसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। लोगों ने सरकार से मांग की कि ब्रज महोत्सव के पूरे कार्यक्रम आयोजित कराए जाएं यदि ब्रज होली महोत्सव के कार्यक्रमों में कटौती की जाती है तो कस्बे की जनता पर्यटन विभाग के कार्यक्रमों का बहिष्कार कर ब्रज होली महोत्सव के पूरे कार्यक्रमों को जन सहयोग से आयोजित कराएगी। वक्ताओं ने कहा कि सरकार द्वारा बार-बार ब्रज क्षेत्र की जनता की भावनाओं से खिलवाड़ किया जा रहा है कुछ माह पूर्व ब्रज मेवात की पहचान कुश्ती दंगल मेला भी आयोजित नहीं कराया गया था। जिस पर जनता को उच्च न्यायालय की शरण लेनी पड़ी थी। यदि इस बार भी ब्रज होली महोत्सव आयोजित नहीं कराया गया तो जनता आंदोलन करेगी। यदि उच्च न्यायालय की शरण लेनी पड़ी तो वह कदम भी उठाया जाएगा।


गौरतलब है कि हर वर्ष पर्यटन विभाग द्वारा नगर पालिका को चार लाख रुपए का बजट आवंटित किया जाता था। जिला प्रशासन, नगर पालिका व पर्यटन विभाग के संयुक्त तत्वावधान में कामा में एक दिवसीय ब्रज महोत्सव धूमधाम से आयोजित कराया जाता था। पर्यटन विभाग की इसी बजट राशि से ल_मार होली, रथयात्रा ठाकुर जी के फूल बंगला व रात्रि को सांस्कृतिक आयोजन होता था जिसे देखने के लिए बड़ी संख्या यात्री कामां पहुंचते थे। लेकिन इस साल इन आयोजनों को समाप्त कर दिया गया है। केवल रात्रि को सांस्कृतिक कार्यक्रम ही आयोजित कराए जाने की स्वीकृति जारी की गई है। आम सभा में राधा बल्लभ जी मंदिर महंत प्रकाशचन्द कौशिक, बृजबासी बाबा, किसान यूनियन के अध्यक्ष यतेंद्र गुलपाडिया, हुकमसिंह यादव, वरिष्ठ साहित्यकार छुट्टन खान साहिल, सामाजिक कार्यकर्ता विजय मिश्रा, ओमप्रकाश पाराशर, रामकिशन सैनी सहित अन्य लोग मौजूद थे।


विधायक मुख्यमंत्री से करेगी मुलाकात


ब्रज महोत्सव में पर्यटक विभाग के कार्यक्रमों के लिए बजट स्वीकृत नहीं करने के मामले में विधायक जाहिदा खान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मुलाकात कर कार्यक्रम कराने की मांग करेंगी। पूर्व प्रधान जलीस खान ने बताया कि विधायक ने कामां क्षेत्र में प्रतिवर्ष आयोजित होने वाले ब्रज महोत्सव को लेकर पर्यटक विभाग द्वारा स्वीकृति प्रदान नहीं की गई थी जिसके बाद विधायक ने उच्च स्तर पर वार्ता कर 6 मार्च को ब्रज महोत्सव आयोजन करने को लेकर विभाग ने स्वीकृति दी। उसके बाद भी विभाग द्वारा दिन के कार्यक्रमों को लेकर बजट स्वीकृत नहीं किया है। उच्च अधिकारियों से दिन के कार्यक्रम आयोजन कराने को लेकर वार्ता की जा रही है। मुख्यमंत्री से भी मिलकर आयोजन कराने को लेकर चर्चा की जाएगी।

rohit sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned