बैंकों के बिजनेस पर असर...

भरतपुर. वित्तीय संस्थानों के लिए एक अप्रेल खासा व्यस्तता का दिन रहता है।

By: rohit sharma

Published: 31 Mar 2020, 07:28 PM IST

भरतपुर. वित्तीय संस्थानों के लिए एक अप्रेल खासा व्यस्तता का दिन रहता है। बुधवार को मार्च क्लोजिंग के चलते बैंक शाखाएं ग्राहकों के लिए बंद रहेंगी। केवल क्लोजिंग संबंधी कामकाज होगाा। लॉक डाउन के चलते इस बार बैंकिंग सेक्टर के बिजनेस पर असर पड़ सकता है। विशेषकर डिपोजिट वाली बैलेंसशीट गड़बड़ा सकती है। बाजार में कारोबारी गतिविधि नहीं होने से नकदी का प्रवाह प्रभावित हुआ है। इसका सीधा असर बैंक पर भी पड़ रहा है। विशेषकर एक सप्ताह के दौरान लॉक डाउन में जमा राशि का खाता प्रभावित हुआ है।

उधर, मंगलवार शााम से बैंकों में क्लोंजिंग का कार्य शुरू हो गया। इसमें सरकारी लेनदेन का कार्य 8 बजे तक चला जबकि इंटरनल बैङ्क्षकग कार्य रात 9 बजे तक हुआ। वहीं, जो नोडल बैंक हैं, जो क्लेरिंग हाउस से जुड़ी हैं उन ब्रांचों में रात करीब 12 बजे तक कामकाज हुआ वहीं, जिला कोष कार्यालय में देर तक कामकाज चला। विभागों ने खर्च किए बजट का हिसाब-किताब कोष कार्यालय भिजवाया। बुधवार को वीसी केन्द्र खुले रहेंगे।


लॉक डाउन के चलते केवल अति आवश्यक सामग्री से जुड़ी दुकान ही कुछ घंटे के लिए खुल रही है जबकि शेष बाजार पूरी तरह से बंद है। बाजार में व्यापारिक गतिविधि नहीं होने से मार्च के अंतिम सप्ताह में जमा होने वाली राशि खासी कमी आई है। इसमें ऑटो सेक्टर, एफएमसीजी, इलेक्ट्रॉनिक्स उत्पाद, पेट्रोलियम पदार्थ, बिल्डिंग मैटेरियल और दवा कारोबार खासा प्रभावित हुआ है। इन क्षेत्रों से बैंक में बड़ी पूंजी जमा होती है लेकिन बाजार बंद रहने से पंूजी का प्रवाह कम हुआ है। बैंकों में सामान्यतौर पर कामकाज रहा है।

उधर, डिपोजिट प्रभावित होने के साथ ही एडवांस चेक भी अटक गए हैं। सूत्राों के अनुसार व्यापारिक गतिविधि ठप होने से कारोबारियों से भी अग्रिम भुगतान राशि को स्थिति को देखते हुए रोक लिया है। हालांकि, ऑनलाइन गतिविधि जारी है। व्यापारियों ने आरटीजीएस व नेफ्ट का इस्तमाल किया है। वहीं, ग्राहकों ने एटीएम का खूब इस्तमाल किया है।


मार्च क्लोजिंग के चलते बुधवार को बैंकों में ग्राहकों के लिए लेनदेन बंद रहेगा। वहीं, 2 अप्रेल का अवकाश होने से अब बैंक 3 अप्रेल को खुलेंगी। उस दिन बैंकों में भीड़ हो सकती है। लॉक डाउन के चलते सरकार की ओर से रजिस्टर्ड श्रमिक व अन्य के खाते में जमा कराई राशि के निकालने वालों की भीड़ में रहेगी। वहीं, पेंशनधारक भी बैंक पहुंचेंगे। इससे तीन अप्रेल को बैंक में खासी मशक्कत हो सकती है। पीएनबी के मंडल प्रमुख राजीव जैन का कहना है कि लॉक डाउन से सभी सेक्टर पर असर है। बैंक में कैश जमा में कुछ असर आ सकता है। ग्राहक आरटीजीएस व नेफ्ट बैंकिंग के जरिए कार्य कर रहा है। आरबीआई के दिशा-निर्देशों के तहत बैंक कार्य कर रही हैं।

rohit sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned