लैपटॉप में छिपे राज से पुलिस को आस

लैपटॉप में छिपे राज से पुलिस को आस
bharatpur

Mukesh Kumar Sharma | Publish: Feb, 09 2016 11:25:00 PM (IST) Bharatpur, Rajasthan, India

पुलिस को रीट परीक्षा में नकल कराने के मामले की जांच में जहां आधुनिक सूचना तकनीक से सफलता के पापड़

भरतपुर।पुलिस को रीट परीक्षा में नकल कराने के मामले की जांच में जहां आधुनिक सूचना तकनीक से सफलता के पापड़ बेल रही है, दूसरी ओर फरार गिरोह सरगना मुकेश ठाकुर की तलाश में उसके संभावित ठिकानों पर दबिश देने की कार्रवाई भी तेज कर दी गई है। गिरोह का पर्दाफाश होने के बाद पुलिस के हाथ लगे दो लैपटॉप इस प्रकरण की जांच में अहम हैं, इन्हीं से गिरोह के षड्यंत्र के ताने-बाने के खुलासा होने की पुलिस को आस है।

पुलिस ने रीट परीक्षा में नकल कराने के षड्यंत्र में पकड़े शेष छह आरोपितों को  ुमंगलवार को कोर्ट में पेश किया, जहां से पांच आरोपितों को न्यायिक अभिरक्षा में केन्द्रीय कारागार सेवर भेज दिया जबकि एक आरोपित को रिमाण्ड पर लिया है। इस आरोपित के कब्जे से नकदी बरामद हुई थी। जांच अधिकारी धर्मराज चौधरी ने बताया कि आरोपित भूपेन्द्र राजपूत निवासी विरोंदा थाना मनिया, मुकेश निवासी खेरली थाना मनिया, राकेश निवासी खेरली थाना मनिया जिला धौलपुर, देवेन्द्र निवासी अर्जुननगर जिला आगरा व पवन निवासी गहनावली थाना डीग को कोर्ट में पेश किया, जहां से इन्हें न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया। जबकि कुंजबिहारी निवासी खेरली थाना मनिया धौलपुर को 12 फरवरी तक पुलिस रिमाण्ड पर सौंपा है। आरोपित के कब्जे से पुलिस ने साढ़े चार लाख रुपए बरामद किए थे। सात आरोपित पहले से ही 12 फरवरी तक पुलिस रिमाण्ड पर चल रहे हैं।

बाहरी संपर्कों की भी तलाश

गिरोह के बाहरी संपर्कों की भी खोजबीन करने में जुटी हुई। अधिकारियों का मनाना है कि गिरोह के अन्य प्रदेशों में भी संपर्क हैं, वे परीक्षा में उत्तीर्ण कराने का भरोसा देकर मोटी रकम वसूलते हैं। ये रकम गिरोह के पास पहुंचाई जाती है।

लैपटॉप में मिले प्रश्न-पत्र

गिरोह के कब्जे से मिले दो लैपटॉप को खंगालने पर पुलिस को उसमें कुछ प्रश्न-पत्र सहित अन्य दस्तावेज मिले हैं। पुलिस ने प्रश्न-पत्रों की जांच करने में जुटी हुई है। आरोपितों के कॉल डिटेल खंगालने पर भी खासी मशक्कत की जा रही है। पुलिस पता लगाने में जुटी हुई है कि गिरोह ने कितने लोगों ने रीट परीक्षा के संबंध में वार्ता की।

सरगना का नहीं लगा सुराग


पुलिस ने गिरोह के सरगना मुकेश ठाकुर की तलाश में मंगलवार को भी भरतपुर सहित पड़ौसी जिले मथुरा और अन्य स्थानों पर उसकी पड़ताल में जुटी रही। पुलिस ने उसके कुछ स्थानों पर दबिश दी, लेकिन उसका कोई सुराग नहीं लगा। पुलिस आरोपित के करीबियों पर नजर रखे हुए हैं। बताया जा रहा है कि सरगना उस रात मकान पर ही था, लेकिन पुलिस कार्रवाई की भनक लगने से वह मौके से भाग निकला। पुलिस को रात में मकान की बनावट व उसके रास्तों को लेकर अनभिज्ञ थी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned