शिकायत के बाद भी नहीं दिया एक्सईएन व जेईएन ने ध्यान, राज्यमंत्री ने निलंबन की दी चेतावनी

-राज्य मंत्री सुभाष गर्ग ने निरीक्षण में लापरवाही मिलने पर दिए निर्देश

By: Meghshyam Parashar

Updated: 09 Jan 2021, 07:58 PM IST

भरतपुर. राज्यमंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने गांव इकरन में नंदी गौशाला का निरीक्षण किया। जहां लापरवाही देखकर उन्होंने सुधार नहीं लाने पर अधिकारियों को निलंबित करने की चेतावनी दी। निरीक्षण के दौरान सामने आया कि गौशाला का डीप बोर खराब हो चुका था, लेकिन शिकायत के बाद भी संबंधित दोनों अधिकारियों ने ध्यान नहीं दिया।
राज्य मंत्री सुभाष गर्ग नंदी गौशाला पहुंचे और उस समय नाराज हो गए जब गौशाला में रह रहे गौवंश के लिए पीने के लिए पानी नहीं मिल पा रहा था। क्योंकि गौशाला में पानी उपलब्ध कराने के लिए संचालित डीप बोर का पंप खराब पड़ा है और नगर निगम के अधिकरियों ने इस तरह ध्यान नहीं दिया। पानी आपूर्ति के लिए संचालित पंप खराब होने व शिकायत मिलने के बाद भी ठीक नहीं कराने से मंत्री नाराज हो गए और तुरंत ही मौके पर सम्बंधित अधिकारियों काम में सुधार नहीं करने पर निलंबित करने की चेतावनी दी। इसके अलावा मंत्री ने गौशाला में सभी व्यवस्था ठीक रखने के लिए अधिकारियों को निर्देश जारी किए। इसी प्रकार तकनीकी शिक्षा राज्य मंत्री डॉ. गर्ग शनिवार को ग्राम बझेरा, ऊदरा, घुस्यारी एवं इकरन में आयोजित किसान संवाद एवं जनसुनवाई कार्यक्रम में आमजन को सम्बोधित किया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की कथनी और करनी में कोई अन्तर नहीं है। राज्य सरकार की ओर से जनघोषणा पत्र में किसानों से किए गए वायदों को तत्काल अमल में लाने के लिए अपनी पहली मंत्रिमंडल की बैठक में किसान कर्जमाफी योजना को धरातल पर लाने की घोषणा कर किसानों के कर्जमाफ किए। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की ओर से सहकारी बैंकों से किसानों के लिए गए कर्जों को माफ कर दिया गया है तथा वाणिज्यिक बैंकों से लिए गए ऋण की माफी के लिए मुख्यमंत्री ने केन्द्र सरकार को पत्र लिखा है।

चंबल पेयजल परियोजना की समस्या का होगा निराकरण

डॉ. गर्ग ने क्षेत्र की समस्याओं एवं विकास कार्यों पर चर्चा करते हुए कहा कि क्षेत्र में पेयजल की समस्या के समाधान के लिए चम्बल पेयजल परियोजना के माध्यम से फरवरी 2021 तक पेयजल सप्लाई शुरू करा दी जाएगी तथा जल जीवन मिशन के घर-घर पेयजल कनेक्शन अभियान के तहत 2023 तक जिले के समस्त ग्रामों में घर-घर पेयजल कनेक्शन होने से महिलाओं को बढी राहत मिलेगी। उन्होंने कहा कि जिले में शीघ्र ही विद्युत तंत्र का सुदृढ़ीकरण कराकर अप्रेल 2022 तक किसानों को सिंचाई के लिए मिलने वाली विद्युत आपूर्ति को दिन में ही कराया जाएगा साथ ही बच्चों की सुविधा के लिए सुबह चार बजे से सात बजे तक निर्वाद्ध रूप से विद्युत आपूर्ति कराने के निर्देश जेवीवीएनएल के अधिकारियों को दिए। उन्होंने ग्रामों में स्वच्छता लाने के लिए स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के तहत 40 करोड़ रुपए के प्रस्ताव तैयार कर भिजवाए गए हैं जिससे ग्रामीण क्षेत्र की पोखरों की चारदीवारी एवं नाली निर्माण के कार्य कराए जाएंगे।

Meghshyam Parashar Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned