scriptMore crowd and less food, the courage was breaking the winter | भीड़ ज्यादा और खाना कम, सर्दी तोड़ रही थी हिम्मत | Patrika News

भीड़ ज्यादा और खाना कम, सर्दी तोड़ रही थी हिम्मत

-यूक्रेन से लौटे एमबीबीएस स्टूडेंट सक्षम चाहर ने बताई आपबीती, बेटे को देख मां के छलके आंसू

भरतपुर

Published: March 04, 2022 09:52:57 am

भरतपुर. 23 फरवरी तक सब कुछ सामान्य था, जैसे हम लोग पिछले काफी समय से वहां रहकर पढ़ाई कर रहे थे, सबकुछ ठीक वैसे ही चल रहा था। इसके बाद धीरे-धीरे हालात बिगडऩे लगे। जब हम बॉर्डर पर पहुंचे तो वहां भोजन की व्यवस्था की गई थी। ऐसे में वहां भीड़ ज्यादा थी और भोजन कम। भूखा रहकर गुजारा करना पड़ा। खौफ इतना था कि हर पल डर लगा रहता था कि कब वापस भारत जाकर अपने परिवार से मिलेंगे। आसपास बम गिरने की आवाज ऐसी आती थी कि लगता कि वह हमारे ऊपर ही आ रहा है। सात दिन से एक मिनट के लिए भी नहीं सोया था। यूक्रेन से लौटे महाराजा प्रोपर्टी निवासी एमबीबीएस स्टूटेंड सक्षम चाहर ने पत्रिका को आपबीती सुनाई।
सक्षम चाहर ने बताया कि वो यूक्रेन की विनित्सा यूनिवर्सिटी से एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहा है। हालात ज्यादा बिगडऩे पर भारतीय विद्यार्थियों का दल रोमानिया बॉर्डर पर पहुंचा, लेकिन बॉर्डर पर भी दूतावास के किसी अधिकारी ने संपर्क नहीं किया। ऐसे में विद्यार्थियों का दल तीन दिन तक कड़ाके की सर्दी में बॉर्डर पर फंसा रहा। उसके बाद भारतीय दूतावास के अधिकारियों ने छात्रों से संपर्क किया तब उन्हें भारत लाया जा सका। मां हेमलता चाहर ने बताया वहां हजारों की संख्या में बच्चे बॉर्डर पर फंसे हुए थे, हालांकि बॉर्डर पर अधिकारियों की ओर से खाना पहुंचाया जा रहा था, लेकिन भीड़ अधिक होने की वजह से सभी को पर्याप्त और समय पर भोजन नहीं मिल पा रहा था। विद्यार्थी जैसे तैसे जो उपलब्ध हो रहा था वही खा कर पेट भर रहे थे। हेमलता ने बताया कि उनका बेटा बीते सात दिन से परेशान, भूखा और थका हुआ है। पहले उसको भरपेट खाना खिलाना है। सक्षम चाहर ने भारत सरकार से अपील करते हुए कहा है कि अभी भी यूक्रेन में काफी भारतीय विद्यार्थी फंसे हुए हैं और उन्हें जल्द से जल्द देश लाने के इंतजाम किए जाएं। सभी बहुत परेशान है। उसने बताया कि दिल्ली में फ्लाइट से उतरने के बाद राज्यमंत्री डॉ. सुभाष गर्ग मिले और उन्होंने ही ट्रेन से भरतपुर के लिए रवाना किया।
भीड़ ज्यादा और खाना कम, सर्दी तोड़ रही थी हिम्मत
भीड़ ज्यादा और खाना कम, सर्दी तोड़ रही थी हिम्मत
यूके्रन में फंसा छात्र, खाने-पीने का संकट

पहाड़ी. तहसील केे गांव बमनवाडी निवासी मुजाहिद पुत्र आस मोहम्मद यूक्रेन के सुमि प्रांत में एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहा था। परिजन उससे लगातार बात कर उससे हाल पूछ रहे हैं और उसे धैर्य रखने के लिए कह रहे हैं। पिता आसमोहम्मद ने बताया कि उनका पुत्र वहां एक बंकर नुमा कमरे में छिपा हुआ है। उसके साथ राजस्थान के कीरब 70-80 छात्र जबकि भारतीय 200 करीब हैं। पुत्र ने बताया कि खाने-पीने का सामान केवल दो दिन के लिए बचा हुआ है। अगर यहां से जल्द नहीं निकल पाए तो संकट पैदा हो जाएगा। वहीं गाधानेर के गांव हुजार निवासी मुवीन पुत्र अलीमोहम्मद गत 28 फरवरी का गांव वापस लौट गया।
तिरंगा सीने पर लगाकर विकास पहुंचा पोलैण्ड

भुसावर. उपखंड के गांव घाटरी निवासी छात्र विकास कुमार यूक्रेन से निकल कर पोलैण्ड पहुंच गया। अब उसे भारत सरकार की ओर से चलाए जा रहे ऑपरेशन गंगा के तहत भारत लाया जाएगा। उधर, छात्र के परिजन चितिंत बने हुए हैं और उसकी सकुशल घर वापसी की प्रार्थना कर रहे हैं। गांव घाटरी निवासी धन सिंह जाटव ने बताया कि उनका पुत्र विकास जाटव यूक्रेन में एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहा है। उन्होंने बताया कि गोली लगने से एक छात्र की मौत होने से चिंता बढ़ गई है। लेकिन विकास पोलैंड एयरपोर्ट पर पहुंच गया है। अब वह भारत सरकार द्वारा चलाए गए गंगा मिशन के तहत भारत आएगा। पुत्र ने बताया कि वह यूके्रन से रवाना हुआ तो तिरंगे झण्डे को सीने पर लगाकर पोलैण्ड एयरपोर्ट पर पहुंचा। वह बस से आए जिसमें वह पूरे समय तिरंगा को सीने से लगाए हुए था, पॉलैण्ड पर पहुंचने पर उसने राहत की सांस ली।
पोलैण्ड सीमा में घुसने के लिए बॉर्डर पर पड़ाव

डीग. यूक्रेन के खारकीव में फंसे गांव गदालपुर का छात्र दिगम्बर सिंह अन्य करीब 15 भारतीय छात्रों के साथ गुरुवार को सुरक्षित निकल कर पोलैंड सीमा पर रिजिसो शहर पहुंच गया। पिता किशन सिंह ने बताया कि उसने फोन पर बताया कि सभी छात्र पोलैण्ड सीमा में घुसने के लिए इंटरनेशनल बॉर्डर पर खड़े हुए हैं। भारतीय एंबेसी के अधिकारी गुरुवार सुबह एरिग्रेशन सर्टिफिकेट बनने के बाद उन्हें पोलैंड सीमा प्रवेश दिलाएंगे। शुक्रवार को उन्हें भारत भिजवाया जाएगा।
घर पहुंचने पर लोगों ने किया स्वागत

रूपवास. कस्बा निवासी छात्र प्रशांत परमार सुरक्षित गुरुवार को घर पहुंच गया। यहां पहुंचने पर परिजनों ने उसका स्वागत किया। इस मौके पर एसडीएम राजीव शर्मा व राजस्थान शिक्षक संघ राष्ट्रीय के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य हरिशंकर शर्मा की अध्यक्षता में रैली निकाल कर छात्र का स्वागत किया गया। इवानो फ्राकविस्ट नेशनल यूनिवर्सिटी में पढ़ाई कर रहे प्रशांत ने बताया कि 26 फरवरी की सुबह शहर के एयरपोर्ट पर मिसाइल अटैक होने की खबर आने पर सभी छात्र सुरक्षित ठिकानों पर छिप गए। वह यूक्रेन से करीब 12 किमी पैदल चल कर रोमानिया के बॉर्डर पर पहुंचे। यहां से मिली मदद के बाद वह भारत के लिए रवाना हो गए।

इनका कहना है

-इन्दिरा गांधी अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर लौटे छात्रों का स्वागत किया। यूक्रेन से दिल्ली आए एमबीबीएस के उन विद्यार्थियों को उनके परिजनों के सुपुर्द कर दिया जो दिल्ली पहुंच गए। भरतपुर विधानसभा क्षेत्र के मुरवारा निवासी सूर्यवीर, जाटौली रथभान निवासी शुभम गौतम से दूरभाष पर बात कर कुशलक्षेम पूछी और उन्हें विश्वास दिलाया कि जल्द ही उन्हें भारत लाने के प्रयास किए जा रहे हैं। राजस्थान सरकार यूक्रेन सरकार के संर्पक में है। किसी तरह की चिंता करने की आवश्यकता नहीं है। राजस्थान सरकार उनके साथ है और शीघ्र ही वह सकुशल अपने घर पहुंचेंगे।
डॉ. सुभाष गर्ग, राज्यमंत्री

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

कोर्ट में ज्ञानवापी सर्वे रिपोर्ट पेश होने में संशय, दूसरी ओर सुप्रीम कोर्ट में एक बजे सुनवाई, 11 बजे एडवोकेट कमिश्नर पहुंचेंगे जिला कोर्टहरियाणा: हरिद्वार में अस्थियां विसर्जित कर जयपुर लौट रहे 17 लोग हादसे के शिकार, पांच की मौत, 10 से ज्यादा घायलConstable Paper Leak: राजस्थान कांस्टेबल परीक्षा रद्द, आठ गिरफ्तार, 16 मई के पेपर पर भी लीक का सायाWeather Update: उत्तर भारत में भीषण गर्मी, इन राज्यों में आंधी और बारिश की अलर्टLucknow: क्या बदलने वाला है प्रदेश की राजधानी का नाम? CM योगी के ट्वीट से मिले संकेतबॉर्डर पर चीन की नई चाल, अरुणाचल सीमा पर तेजी से बुनियादी ढांचा बढ़ा रहा चीनगेहूं के निर्यात पर बैन पर भारत के समर्थन में आया चीन, G7 देशों को दिया करारा जवाबLIC IPO : एलआईसी आईपीओ आज होगा सूचीबद्ध, इतने रुपए पर होगी लिस्टिंग
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.