scriptmurder case, the villagers demonstrated by keeping the dead body | हत्या के मामले में ग्रामीणों ने शव रख किया प्रदर्शन, 8 घंटे बाद खुला जाम | Patrika News

हत्या के मामले में ग्रामीणों ने शव रख किया प्रदर्शन, 8 घंटे बाद खुला जाम

बयाना-भरतपुर सड़क मार्ग के गांव बिडयारी के पास बुधवार को सुबह करीब 9 बजे एक किशोर की संदिग्ध मौत को लेकर बड़ी संख्या में आए ग्रामीणों ने शव रखकर जाम लगा दिया।

भरतपुर

Published: November 04, 2021 12:24:48 am

भरतपुर. बयाना-भरतपुर सड़क मार्ग के गांव बिडयारी के पास बुधवार को सुबह करीब 9 बजे एक किशोर की संदिग्ध मौत को लेकर बड़ी संख्या में आए ग्रामीणों ने शव रखकर जाम लगा दिया। सूचना पर पुलिस भी मौके पर पहुंची और समझाइश की लेकिन वह अड़े रहे। जिस पर पुलिस ने ट्रेफिक को डावयर्ट कर निकाला। बाद में करीब आठ घंटे बाद शाम करीब पांच बजे जाम खुल पाया। लोगों ने मुख्यमंत्री व जिला कलक्टर के नाम अधिकारियों को पत्र सौंपा। वहीं, सहमति बनने से पहले विधायक अमरसिंह ने पीडि़त परिवार को सांत्वना राशि के रूप में एक लाख रुपए व भीम आर्मी कार्यकर्ताओ एवं हिण्डौन से आई कांग्रेस नेता अनीता जाटव ने भी 51-51 हजार रुपए देने की घोषणा की।
हत्या के मामले में ग्रामीणों ने शव रख किया प्रदर्शन, 8 घंटे बाद खुला जाम
हत्या के मामले में ग्रामीणों ने शव रख किया प्रदर्शन, 8 घंटे बाद खुला जाम
पुलिस कोतवाली प्रभारी पूरनसिंह मीणा ने बताया कि रूदावल थाने के गांव डुमरिया में 16 साल के किशोर गांव नगला छीतरिया निवासी मुस्कान पुत्र भगवानसिंह जाटव का शव पड़ा मिला। परिजनों ने बताया कि गांव डुमरिया में अपने फूफा हीरासिंह जाटव के यहां भगवानसिंह पीडि़त का पुत्र मुस्कान मंगलवार को गया था। आरोप है कि मुस्कान व फुफेरे भाई दीपक को गांव डुमरिया निवासी बनैसिहं गुर्जर, श्याम, भप्पे, गुडडू आदि ने मारपीट कर दी। बचाने आई बुआ-फूफा के साथ भी मारपीट कर दी। जिससे दीपक जंगल की ओर भाग गया। जहां जंगल की पोखर में मुस्कान का शव मिला। आरोप है कि मुस्कान की हत्या कर उसके शव को पोखर में डाल दिया। रिपोर्ट दर्ज कराने के बाद भी पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया। जिससे नाराज होकर जाम लगा दिया। ग्रामीणों ने आरोपियों की गिरफ्तारी, मुआवजे के रूप में 50 लाख रुपए व पीडि़त के परिवारीजन को सरकारी नौकरी दिलाने की मांग की। इधर विधायक अमरसिहं जाटव भी मौके पर पहुंचे और समझाइश की। लेकिन ग्रामीण अड़े रहे। इसके अलावा पूर्व प्रधान महेन्द्र तिवारी, पंचायत समिति के विकास अधिकारी लाखनसिंह, तहसीलदार गिर्राज बंसल, सीओ अजयशर्मा सहित अन्य ने भी समझाया लेकिन वह अड़े रहे। इधर, भीम आर्मी व बहुजन समाजवादी पार्टी सहित अन्य संगठनों के लोग भी मौके पर पहुंच गए। जाम के चलते यहां दोनों पर वाहनों की लम्बी कतार लग गई। जिससे दिन भर यातायात बन्द रहा। दीपावली के मौके पर अपने अपने घर जा रहे लोगों परेशानी उठानी पड़ी। पुलिस ने बाद में वाहनों को डायवर्ट कर निकाला। तहसीलदार गिर्राज बंसल ने बताया कि ज्ञापन में पीडि़त परिवार को 51 लाख रुपए की आर्थित सहायता व लाईसेंसी हथियार तथा एक सदस्य को सरकारी नौकरी लगवाने तथा डुमरिया निवासी मृतक की बुआ के परिवार की पुलिस सुरक्षा व्यवस्था व आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Delhi Riots: दिलबर नेगी हत्याकांड में हाईकोर्ट का बड़ा फैसला, 6 आरोपियों को दी जमानतAntrix-Devas deal पर बोली निर्मला सीतारमण, यूपीए सरकार की नाक के नीचे हुआ देश की सुरक्षा से खिलवाड़Delhi: 26 जनवरी पर बड़े आतंकी हमले का खतरा, IB ने जारी किया अलर्टUP Election 2022 : टिकट कटने पर फूट-फूटकर रोये वरिष्ठ नेता ने छोड़ी भाजपा, बोले- सीएम योगी भी जल्द किनारे लगेंगेपंजाबः अवैध खनन मामले में ईडी के ताबड़तोड़ छापे, सीएम चन्नी के भतीजे के ठिकानों पर दबिशले. जनरल मनोज पांडे होंगे नए उप-थलसेना प्रमुख, संभालेंगे ले. जनरल सीपी मोहंती की जगहPKL 8: अनूप कुमार ने बताया कौन है Pro Kabaddi का भविष्य, इन 2 खिलाड़ियों को चुनानीट यूजी 2021: ऑनलाइन आवेदन से चुके विद्यार्थियों को एक और मौका
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.