scriptNegotiations of Saini reservation movement canceled | एक्सक्लूसिव वीडियो...संयोजक मुरारीलाल बोले: मेरे बेटे का तबादला कराया और घर पर भेजे गुंडे | Patrika News

एक्सक्लूसिव वीडियो...संयोजक मुरारीलाल बोले: मेरे बेटे का तबादला कराया और घर पर भेजे गुंडे

अब आरक्षण आंदोलन पर विवाद: सैनी, कुशवाह आरक्षण संघर्ष समिति के संयोजक हैं मुरारीलाल सैनी, फिर अटकी समझौता वार्ता, वार्ता से इंकार, अब वार्ता निरस्त

भरतपुर

Published: June 14, 2022 12:33:50 pm

भरतपुर. माली, सैनी, कुशवाहा, शाक्य व मौर्य समाज की आरक्षण संघर्ष समिति के संयोजक मुरारीलाल सैनी ने बड़ा बयान देकर राज्य सरकार व जिला प्रशासन पर सवाल खड़ा कर दिया है। उन्होंने आरोप लगाया कि आंदोलन को दबाने के लिए मेरे बेटे का तबादला जालौर करा दिया गया है। जबकि भतीजे का भी तबादला कराया है। मेरे घर पर गुंडों को भेजा जा रहा है। यह सब आंदोलन को कुचलने की साजिश है, लेकिन मैं और मेरा समाज डरने वाले नहीं है। यह लड़ाई एकमात्र मेरी नहीं है, बल्कि सारे समाज के हक की लड़ाई है।
जानकारी के अनुसार मंगलवार सुबह राज्य सरकार की ओर से अधिकृत कैबिनेट मंत्री विश्वेंद्र सिंह व संभागीय आयुक्त सांवरमल वर्मा ने वार्ता का न्यौता देने के लिए जिला कलक्टर आलोक रंजन को मौके पर भेजा था। इसमें तय हुआ था कि 10 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल वार्ता के लिए जाएगा। इसके कुछ देर बाद संयोजक मुरारीलाल सैनी ने एक सूची प्रशासन को भेज दी। इसमें खुद मुरारीलाल का नाम नहीं था। इसके बाद वार्ता के स्थान को लेकर विवाद होता रहा। अंत में आंदोलनकारी भरतपुर में वार्ता करने के लिए तैयार हो गए, लेकिन प्रशासन ने वार्ता में मुरारीलाल सैनी की उपस्थिति को जरूरी बताया। परंतु मुरारीलाल सैनी ने वार्ता में जाने से इंकार कर दिया। उनका कहना था कि जब उन्होंने 10 सदस्यों को अधिकृत कर दिया है तो उनकी आवश्यकता नहीं है। इस पर वार्ता फिर से अटक गई। इधर, मुरारीलाल सैनी ने आरोप लगाया है कि उनके चार बेटे व तीन पुत्रवधु कामां में शिक्षक के पद पर कार्यरत हैं, जहां एक बेटे व भतीजे का तबादला आंदोलन को दबाने के लिए अन्यत्र कर दिया गया है। बार-बार घर पर गुंडों को भेजा जा रहा है। इस पर सैनी समाज के लोग आक्रोशित हो गए और सरकार पर आंदोलन को दबाने की साजिश रचने का आरोप लगाते हुए प्रदर्शन किया। इधर, आगरा-बीकानेर नेशनल हाईवे मंगलवार को तीसरे दिन भी जाम है। हालांकि अब भी वार्ता को लेकर असमंजस की स्थिति बनी हुई है।
एक्सक्लूसिव वीडियो...संयोजक मुरारीलाल बोले: मेरे बेटे का तबादला कराया और घर पर भेजे गुंडे
एक्सक्लूसिव वीडियो...संयोजक मुरारीलाल बोले: मेरे बेटे का तबादला कराया और घर पर भेजे गुंडे
कैबिनेट मंत्री विश्वेंद्र सिंह बोले: खुद मुरारीलाल ने भेजी सूची

कैबिनेट मंत्री विश्वेंद्र सिंह ने सुबह आईजी प्रसन्न कुमार खमेसरा, संभागीय आयुक्त सांवरमल वर्मा, जिला कलक्टर आलोक रंजन व एसपी श्याम सिंह के साथ बैठक की। इसके बाद मीडिया से बात करते हुए कहा कि ताली दोनों हाथों से बजती है। कल से ही कहा जा रहा है कि वहां महिला व बुजुर्ग सभी बैठे हुए हैं। 45 डिग्री तापमान में अगर किसी को कुछ हो जाता है तो कौन जिम्मेदार होगा। मुरारीलाल सैनी ने खुद के नाम सहित एक सूची सुबह ही प्रशासनिक अधिकारियों के पास भेजी थी, फिर अचानक से खुद के वार्ता में नहीं आने की बात कहां से आ गई। यह गलत है। उन्हें पहले हाईवे को खाली करना चाहिए और खुद अपने प्रतिनिधिमंडल के साथ वार्ता करने के लिए आना चाहिए।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

इसलिए नाम के पीछे झुनझुनवाला लगाते थे Rakesh Jhunjhunwala, अकूत दौलत के बावजूद अधूरी रह गई एक ख्वाहिशRakesh Jhunjhunwala Net Worth: परिवार के लिए इतने पैसे छोड़ गए राकेश झुनझुनवाला, एक दिन में कमाए थे 1061 करोड़राजस्थान के जालोर में दलित छात्र की मौत के बाद तनाव, इंटरनेट सेवा बंद, अलर्ट पर प्रशासनपिता ने नहीं दिए पैसे, फिर भी मात्र 5000 के निवेश से कैसे शेयर बाजार के किंग बने राकेश झुनझुनवालासिर पर टोपी, हाथों में तिरंगा; आजादी का जश्न मनाते दर्जनों मुस्लिम बच्चों का ये वीडियो कहां का है और क्यों वायरल हो रहा है?Rakesh Jhunjhunwala Faith in Sati Dadi Temple: झुंझुनूं की राणी सती दादी मंदिर में थी राकेश झुनझुनवाला की गहरी आस्था'आजादी के अमृत महोत्सव' के तहत भारत-पाकिस्तान सीमावर्ती 30 गांवों के विकास के लिए शुरू हुई अनूठी पहलRajasthan: तीसरी कक्षा के दलित छात्र को निजी स्कूल के शिक्षक ने पानी का कंटेनर छूने को लेकर पीटा, मौत के बाद तनाव, इंटरनेट सेवा बंद
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.