अब गांवों में कोरोना का कहर

-सर्वाधिक गांवों में निकल रहे कोरोना मरीज, क्योंकि शुरुआत में नहीं संभले इसलिए हो रहा ऐसा, प्रशासन का गांवों पर फोकस

By: Meghshyam Parashar

Published: 20 May 2021, 02:18 PM IST

भरतपुर. पिछले कुछ दिन से जिस तरह कोरोना संक्रमितों के आंकड़े सामने आ रहे हैं, उस हिसाब से स्पष्ट है कि अब गांवों में भी कोरोना कहर बरपा रहा है। हालांकि कोरोना काल के करीब डेढ़ साल के इस अरसे में गांव इस वायरस की चपेट में आने से काफी हद तक सुरक्षित थे। अक्सर ग्रामीण अंचलों से जुड़े लोग यह दावा तक करते थे कि उन्हें इस वायरस से कोई खास खतरा नहीं है। वजह यह थी कि गांवों तक इसकी असरदार पहुंच नहीं बनी थी। साथ ही, वे ग्रामीण अक्सर गांवों की साफ-सुथरी आबोहवा और स्वस्थ खानपान व जीवनशैली के बल पर खुद को इस संक्रामक बीमारी से सुरक्षित बताते थे। ये दावे हवाई नहीं थे। जानकारी के अनुसार भले ही विभाग की ओर से ग्रामीण व शहरी दोनों इलाकों के संक्रमितों के आंकड़े अलग-अलग जारी नहीं किए जा रहे हैं, लेकिन इतना अवश्य बताते हैं कि पिछले कुछ दिन से सर्वाधिक मरीज ग्रामीण इलाकों से ही निकल रहे हैं। इसका प्रमुख शादियों में शामिल होना व बाहर से आकर बगैर जांच कराकर रहना भी शामिल हैं। जब विभाग ने गांवों में सैंपलिंग पर जोर दिया तो मरीजों की संख्या भी बढऩे लगी है। यही कारण है कि अब प्रशासन का फोकस भी गांवों पर है। ऐसे में चिकसाना समेत ऐसी सीएचसी जहां ग्रामीण इलाके सटे हुए हैं उन्हें अपडेट कर कोविड केयर सेंटर के रूप में विकसित किया गया है।

क्वॉरंटीन का पालन न करने से बढ़ रहे केस

स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन का कहना है कि तेजी से कोरोना संक्रमण के बढऩे का प्रमुख कारण क्वॉरंटीन के नियमों का पालन न करना और सुरक्षा उपायों को न अपनाना है। प्रशासन का कहना है कि लॉकडाउन में जब थोड़ी छूट मिली तो लोगों का एक साथ बाहर निकलना शुरू हो गया। इससे तेजी से संक्रमण बढ़ा है। जिन संक्रमित परिवारों को होम आइसोलेट किया जा रहा है वह भी इसका ठीक से पालन नहीं कर रहे हैं। यहीं नहीं लोग न मास्क लगा रहे और न सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे हैं।

आईएलआई मरीजों को वितरित होंगी 10 हजार किट

तकनीकी एवं संस्कृत शिक्षा राज्यमंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने बताया कि भामाशाहों के माध्यम से भरतपुर विधानसभा क्षेत्र के आईएलआई रोगियों के लिए 10 हजार दवाईयों की किटें और वितरित होंगी। अब तक क्षेत्र में 14 हजार 500 दवाईयों की किटें वितरित की जा चुकी है। डॉ. गर्ग ने बताया कि क्षेत्र के 85 हजार घरों का सर्वे कराया गया इनमें पाए गए आईएलआई रोगियों को घरों पर ही दवाइयां उपलब्ध कराने के लिए स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से किटें तैयार कराई गई। इन रोगियों में से 14 हजार 500 को किटें वितरित की जा चुकी हैं। शेष रहे रोगियों के लिए भामाशाहों के माध्यम से 10 हजार दवाइयों की किटें तैयार कराई गई हैं जिन्हें शीघ्र बांटा जाएगा।

यह तीन कारण जो बन सकते हैं चुनौती

1. पीएचसी-सीएचसी को कोविड मरीजों के उपयोग में पूरी तरह से लिया जाएगा तो अन्य मरीज कहां जाएंगे?

2. अगर सामान्य मरीज ऐसे अस्पताल में आकर कोरोना संक्रमित होता है तो वह अन्य को भी संक्रमित करेगा?

3. ग्रामीण इलाकों में जागरुकता के अभाव के साथ स्वास्थ्य सेवाओं का भी बहुत अभाव है?

4. प्रशासन ने अभी तक ग्रामीण इलाकों में सामान्य मरीजों के इलाज के लिए प्लानिंग तक तैयार नहीं की है।


केस नंबर एक

कृषि महाविद्यालय कुम्हेर के डीन डॉ. उदयभान सिंह ने गत दिवस ग्राम पंचायत मडरपुर के गांवों का दौरा किया। गांव जिरौली में कई लोगों को बुखार व जुखाम खांसी है, लेकिन उन्होंने कोरोना जांच नहीं कराई है। 15-16 मई को दो बुजुर्गों की मौत हुई है, मृत्यु का कारण पता नहीं, हालांकि उन्हें सांस लेने में तकलीफ थी। मडरपुर में 37 लोग कोरोना संक्रमित मिले थे।

केस नंबर दो

गांव अजान में करीब 40 एक्टिव केस है। पहले सिर्फ एक परिवार की संक्रमित निकला। इसके बाद पूरा परिवार संक्रमित हो गया। यहां एक ही बार में 50 में से 38 कोरोना संक्रमित निकले थे। जांच में सामने आया था कि पहला संक्रमित बाहर से ही आया था।

केस नंबर तीन

हलैना, गोविन्दपुरा, रन्धीरगढ, नैवाड़ा, हिगोंटा, ललिता मूडिय़ा आदि गांवों में कई लोग कोरोना पॉजिटिव की चपेट में आ गए। कुछ लोग हरिद्वार कुम्भ स्नान से उक्त महामारी की चपेट में आए। हलैना में चार, नैवाड़ा, गोविन्दपुरा, रन्धीरगढ, ललिता मूडिय़ा में एक-एक जने की मौत हो गई। जबकि हलैना के आठ लोग भरतपुर-जयपुर के सरकारी अस्पताल में भर्ती है। अन्य गांव के एक दर्जन से अधिक लोग कोरोना पॉजिटिव है।

  • तिथि पॉजिटिव मौत एक्टिव केस
    1 मई 132 1 1202
    2 मई 106 1 1230
    3 मई 147 3 1304
    4 मई 148 3 1372
    5 मई 148 3 1430
    6 मई 149 3 1499
    7 मई 131 3 1550
    8 मई 309 3 1769
    9 मई 430 3 2109
    10 मई 877 3 2876
    11 मई 688 7 3453
    12 मई 677 4 4041
    13 मई 609 2 4530
    14 मई 575 7 4980
    15 मई 570 5 5336
    16 मई 424 3 5474
    17 मई 409 6 5524
    18 मई 359 3 5862
Meghshyam Parashar Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned