संगठित अपराध और महिला अत्याचार के मामलों को गंभीरता से ले पुलिस अधिकारी, लापरवाही नहीं होगी बर्दाश्त

Additional Director General of Police (SDRF) Sanjay Aggarwal संजय अग्रवाल ने कहा कि संगठित अपराध और महिला अत्याचारों के मामलों को पुलिस अधिकारी गंभीरता से लें।

By: rohit sharma

Published: 09 Aug 2019, 03:04 AM IST

भरतपुर. Additional Director General of Police (SDRF) संजय अग्रवाल ने कहा कि संगठित अपराध और महिला अत्याचारों के मामलों को पुलिस अधिकारी गंभीरता से लें। इन प्रकरणों में तुरंत कार्रवाई हो, इसमें किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा कि राजस्थान पुलिस के मुखिया डीजीपी भूपेन्द्र यादव भी अधिकारियों से यही अपेक्षा रखते हैं। यह बात एडीजी ने गुरुवार दोपहर पुलिस अधीक्षक कार्यालय में जिले के अधिकारियों की अपराध बैठक लेते हुए कही। डीजीपी दो दिवसीय दौरे वार्षिक निरीक्षण पर भरतपुर आए हुए हैं।

 


उन्होंने जिले में बढ़ रहे सड़क हादसों को लेकर चिंता जताई। उन्होंने कहा कि दुर्घटनाओं में कमी लाने के लिए ठोस कार्रवाई की जाए। लापरवाह वाहन चालकों के खिलाफ कार्रवाई हो, जिससे दूसरे व्यक्ति इन हादसों का शिकार नहीं हो। उन्होंने जिले में बढ़ती पैंडेंसी को लेकर भी नाराजगी जाहिर की। एडीजी ने सभी अधिकारियों को लम्बित प्रकरणों को प्राथमिकता के साथ निपटाने की बात कही, जिससे पीडि़त व्यक्ति को समय पर न्याय मिल सके। आम व्यक्ति को पुलिस से खासी अपेक्षाएं, जिन पर हमें खरा उतरना है। बैठक में पुलिस अधीक्षक हैदरअली जैदी, एएसपी (मुख्यालय)डॉ.मूलसिंह राणा समेत सीओ व थाना प्रभारी मौजूद थे। एडीजी ने अधिकािरयों की बैठक के बाद जिले की सीएलजी सदस्यों की भी बैठक ली। इसमें सदस्यों ने ट्रेफिक समस्या, गश्त और समेत अन्य समस्याओं में सुधार की बात कही। इससे पहले एडीजी ने रेंज कार्यालय का जायजा लिया। यहां पर उन्होंने डीआईडी लक्ष्मण गौड से चर्चा की। एडीजी अग्रवाल शुक्रवार को डीग सर्किल सीओ कार्यालय और पुलिस थाने का निरीक्षण करेंगे।


एसपी साहब...इन्हें Super-30 फिल्म दिखाओ

इससे पहले सुबह रिजर्व पुलिस लाइन में जवानों की संपर्क सभा ली। उन्होंने कहा कि महकमे में कांस्टेबल और हैड कांस्टेबल महत्वपूर्ण कड़ी है, इसके बगैर बेहतर पुलिसिंग की कल्पना नहीं की जा सकती है। उन्होंने जवानों से पुलिस का इकबाल बुलंद रखने का आह्वान किया। उन्होंने समानता पर चर्चा करते हुए कहा कि वर्तमान में सभी बराबर है, अब पहले जैसे हालात नहीं हैं। पहले आईएएस और आईपीएस के अधिकारियों के बच्चों के ही बड़े अधिकारी बनने की बात कहते थे, अब ऐसा कतई नहीं है। अब कांस्टेबल व आमजन का बच्चा भी आईपीएस व आईआईटी के क्षेत्र में झण्डे गाड़ रहा है। उन्होंने एसपी हैदरअली जैदी ने कहा कि वह जवानों को फिल्म Super-30 दिखाए, जिससे काफी प्रेरणा मिलेगी। संपर्क सभा में उन्होंने जवानों से उनकी समस्याएं भी जानी और डीजीपी को अवगत करा समस्या समाधान कराने की बात कही।

rohit sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned