सब्जी पड़ी महंगी...11 दिन में निकले 133 कोरोना संक्रमित में 29 सिर्फ सब्जी विक्रेता


-बार-बार बताने के बाद भी सब्जी मंडी में नहीं हो रही सोशल डिस्टेंसिंग की पालना
-आगरा इलाके से सब्जी का आगमन भी रहा मुख्य कारण

By: Meghshyam Parashar

Published: 01 Jun 2020, 03:29 PM IST

भरतपुर. कफ्र्यू में छूट जरूर दी गई है लेकिन इसका अर्थ यह नहीं है कि हम कोरोना संक्रमण को लेकर बेपरवाह हो जाएं। यदि आपने सावधानी न बरती तो संक्रमण कहीं भी हो सकता है, चाहे वह आपका पुराना परिचित फल-सब्जी विक्रेता ही क्यों न हो। उससे पहले की ही तरह पूरी आत्मीयता से सब्जी खरीदें लेकिन कोरोना से बचाव के लिए जारी गाइडलाइन का पालन करते हुए। कहीं ऐसा न हो कि वो आपको संक्रमित कर दे। हाल के दिनों में सब्जी विक्रेता भी संक्रमण के बड़े वाहक बने हैं। इसलिए, सब्जी खरीदते समय शारीरिक दूरी के साथ ही मॉस्क लगाना कतई न भूलें। यह सबक सब्जी विक्रेताओं के लिए भी है कि वो भी पूरी तरह सावधानी बरतें। वो खुद को बचा पाएंगे तो उनका ग्राहक स्वयं सुरक्षित हो जाएगा। कोरोना संक्रमितों की संख्या अब 250 पार पहुंच गई, जो 20 मई तक लगभग 120 थे। यानि 20 मई से अब तक 11 दिन में 133 संक्रमित हो गए। इस कोरोना संक्रमण फैलने की वजह कुम्हेर गेट थोक सब्जी मंडी में बढ़ी भीड़ से सामने आई है, जहां गत दिनों चिकित्सकीय टीम ने सब्जी आढ़तिया, पल्लेदार, फुटकर सब्जी विक्रेता व बाहर से आने वाले लगभग 52 लोगों के सैम्पल लिए। इनमें से 29 पॉजिटिव निकले हैं। सब्जी मंडी में 29 लोगों के संक्रमित मिलने पर अब इनके संपर्क में आए लोगों को ढूंढऩा मुश्किल होगा। क्योंकि, मंडी में बयाना, रूपवास, अछनेरा, हिण्डौन व भरतपुर के आसपास के गांव से सब्जियां आ रही थीं। इस बीच प्रशासन सोशल डिस्टेंसिंग और मुंह पर मास्क लगाने की अपील करता रहा। यहां बरती गई ढिलाई का नतीजा संक्रमण फैलने के रूप में नजर आया है।

खुद अफसरों के खिलाफ हो गए थे सब्जी विक्रेता

22 मार्च से लॉक डाउन लगा था, लेकिन जरुरत के हिसाब से सब्जी मंडियां खुली रहीं। मंडी में भीड-़भाड़ के चलते 25 अप्रेल से सब्जी मंडी का समय परिवर्तित कर दिया। मंडी का समय पहले रात दस से सुबह पांच बजे तक कर दिया। तब भी भीड़ के हालात पर काबू न देख प्रशासन ने मंडी समय रात बारह से सुबह पांच बजे तक कर दिया। फिर भी भीड़ पर काबू पाने पर ध्यान नहीं दिया। इतना ही नहीं प्रशासनिक अधिकारियों ने कोशिश की तो विरोध शुरू कर दिया गया।

अब लेना पड़ा मंडी बंद करने का निर्णय

थोक सब्जी मंडी में आढ़तिया रामनिवास का कहना है कि ऐसे में संक्रमितों की संंख्या बढ़ी तो सब्जी मंडी बंद का निर्णय प्रशासन ने लिया। मंडी में कुछ दिन पहले 52 सैम्पल लिए गए। इनमें से 29 पॉजिटिव आए हैं। सैम्पलिंग का कार्य तो निरंतर चलना चाहिए था। यही नहीं पूरे शहर को दोपहर एक बजे बाद से लॉक डाउन करने का निर्णय लेना पड़ा। पुन: सुबह आठ से दोपहर एक बजे तक किराना, आटा चक्की खोलने व दूध बेचने आदि का समय निर्धारित करना पड़ा। यही हालत बाजार में भी रही, जहां दुकानों पर लगी भीड़ पर नियंत्रण रखने के इंतजाम नहीं किए गए।

-संक्रमण की रोकथाम के लिए सोशल डिस्टेंस, मास्क, सैनेटाइजर और घर में रहना जरूरी है, तभी नियंत्रण किया जा सकता है। सब्जी मंडी में भी लोगों को नियंत्रण रखना चाहिए था। कुछ दिनों में अधिक पॉजिटिव केस सब्जी मंडी से ही सामने आए हैं। लोगों को नियमों का पालन करना होगा।
- डॉ. कप्तान सिंह, सीएमएचओ भरतपुर।

Meghshyam Parashar Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned