जोश, जुनून, उत्साह व उम्मीद की दौड़

जोश, जुनून, उत्साह व उम्मीद की दौड़
bharatpur

Mukesh Kumar Sharma | Publish: Feb, 03 2016 11:41:00 PM (IST) Bharatpur, Rajasthan, India

अभ्यर्थियों का देर रात से ही मैदान पर पहुंचना शुरू हो गया गया था। भर्ती को देखते केन्द्रीय बस स्टैण्ड के

भरतपुर।अभ्यर्थियों का देर रात से ही मैदान पर पहुंचना शुरू हो गया गया था। भर्ती को देखते केन्द्रीय बस स्टैण्ड के आसपास के क्षेत्र में सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त और भारी पुलिस बल तैनात किया गया था। ज्ञात रहे कि यहां मुख्यालय पर 16 फरवरी तक सेना की भर्ती होगी। इसमें भरतपुर के अलावा धौलपुर व करौली जिले के अभ्यर्थी सम्मलित होंगे।

अभ्यर्थियों की स्वास्थ्य जांच आज

भर्ती में सफल रहे अभ्यर्थियों की स्वास्थ्य जांच गुरुवार को मैदान पर होगी। इसके लिए सेना की सात सदस्यीय चिकित्सकों की टीम देर शाम तक भरतपुर पहुंचेगी। ये टीम प्रत्येक अभ्यर्थी की आंख की दृष्टि, अंगों की जांच, कोई हड्डी टूटी तो नहीं, कान की स्थिति व चलने में कोई परेशानी तो नहीं आदि की जांच करेगी। यहां से स्वस्थ्य घोषित किए गए अभ्यर्थी ही 28 फरवरी को आयोजित होने वाली लिखित परीक्षा में शामिल हो सकेंगे।

यूं चली भर्ती प्रक्रिया

नुमाइश मैदान पर मंगलवार देर रात करीब 3 बजे से अभ्यर्थियों की प्रवेश प्रक्रिया शुरू हो गई थी। अभ्यर्थियों की रजिस्टेशन की जांच के बाद उन्हें मैदान के अंदर लिया गया। यहां 16 सौ मीटर दौड़ हुई और उसके बाद जिक जैक व नाइन फीट डिच (गड्ढे को लांघना) और बीम परीक्षा हुई। इसके बाद रजिस्टेशन और उनके  कागजातों की जांच हुई। दौड़ प्रक्रिया समाप्त होने के बाद शाम तक कागजात प्रक्रिया चली।  

ऑन लाइन है प्रक्रिया

भर्ती प्रक्रिया ऑन लाइन है। दौड़ व शारीरिक जांच के बाद सारा कार्य कम्प्यूटर से होता है। लिखित परीक्षा या अन्य स्तर पर कोई गलत अभ्यर्थी शामिल न हो, इसके लिए बॉयोमैट्रिक जांच, डिजीटल फोटो व कागजातों को स्कैन करते है। अभ्यर्थी के डाटा को कम्प्यूटर में सुरक्षित किया जा रहा है, जिससे किसी अभ्यर्थी की जांच करनी हो तो उसकी मदद ली जा सके।

एक अभ्यर्थी हुआ घायल

भर्ती निदेशक सुधांशु कुमार ने बताया कि अभ्यर्थियों की मैदान पर पहली दौड़ सुबह करीब चार बजे से शुरू हुई। इसमें कामां थाने के गांव सबलाना निवासी सलीम खां घायल हो गया। उसे तुरंत एम्बुलेंस अस्पताल भिजवाया गया। उसके पैर में फे्रक्चर आया है। उन्होंने बताया कि गुरुवार को जिले के डीग, नदबई व भरतपुर तहसील के अभ्यर्थी भाग लेंगे।

गुप्तचर एजेंसी रख रहीं नजर


भर्ती को देखते हुए सेना की गुप्तचर एजेंसी सक्रिय हैं। वह मैदान और उसके आसपास के क्षेत्र में सादा वर्दी में नजर रखे हुए हैं। वहीं, मैदान पर भीड़भाड़ वाले क्षेत्र में नजर रखने के लिए सीसीटीवी कैमरों से निगाह रखी जा रही है। इसके अलावा सेना के अधिकारी व कर्मचारी मैदान में हो रही प्रत्येक गतिविधि पर बारीकी से निगाह बनाए हुए हैं।

दूसरे का नाम लिखने पर किया बाहर

मैदान पर दौड़ के बाद एक अभ्यर्थी ने आवेदन पर स्वयं का नाम नहीं लिखकर अन्य युवक का नाम लिख रखा था। जांच में उसके पकड़े जाने पर अभ्यर्थी से जानकारी ली गई और उसे बाद वह मैदान से बाहर कर दिया गया।

प्रवेश पत्र की दो कॉपी लाएं अभ्यर्थी

भर्ती में कई अभ्यर्थियों के प्रवेश पत्र की मूल प्रति के साथ डुप्लीकेट कॉपी साथ नहीं लाने से सुबह के समय परेशानी आई। ऐसे अभ्यर्थी सुबह के समय फोटोकॉपी कराने के लिए इधर-उधर भटकते दिखे। भर्ती निदेशक ने कहा कि अभ्यर्थी प्रवेश पत्र की दो कॉपी साथ लेकर आए।

बाहर रहा कड़ा पहरा

इस बार भर्ती के दौरान सुरक्षा के कड़े उपाय किए गए हैं। नुमाइश मैदान के बार सड़क पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। यहां किसी भी व्यक्ति को ठहरने की इजाजत नहीं है। क्षेत्र में वाहनों की आवाजाही बंद रखी गई थी। उधर, एएसपी (मुख्यालय) भरतलाल मीणा व एडीएम (शहर) विशम्भरलाल रात से व्यवस्था पर नजर बनाए हुए थे। दूसरी पारी में एएसपी (एडीएफ) पीयूष दीक्षित व सीओ सिटी पूजा अवाना सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned