संभागीय आयुक्त भी बोले: पिलर्स हटाकर अवैध खनन करने वालों पर लगाएं पैनल्टी

-कामां एवं डीग क्षेत्र के अवैध खनन तथा अवैध क्रशर की रोकथाम के लिए गठित कमेटी की बैठक

By: Meghshyam Parashar

Published: 16 Dec 2020, 02:09 PM IST

भरतपुर. संभागीय आयुक्त प्रेमचंद बेरवाल ने कहा कि संबंधित विभाग आपसी समन्वय से कार्ययोजना तैयार कर अवैध खनन पर पूर्ण पाबन्दी लगाएं इससे राज्य सरकार के राजस्व में बढ़ोतरी कर आवंटित लक्ष्य प्राप्त किया जा सके। संभागीय आयुक्त बेरवाल मंगलवार को कामां एवं डीग क्षेत्र के अवैध खनन तथा अवैध क्रशर की रोकथाम के लिए गठित कमेटी की बैठक की अध्यक्षता करते हुए उपस्थित अधिकारियों को निर्देशित कर रहे थे। उन्होंने खनन विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे माइनिंग क्षेत्र को सुपर इम्पोज करने के लिए पिलर्सों का शत-प्रतिशत लगाया जाना सुनिश्चित करें। इससे इस क्षेत्र के बाहर होने वाली अवैध खनन की गतिविधियों पर प्रभावी रोक लगाई जा सके। उन्होंने इन पिलर्स को हटाने वाले लोगों के विरुद्ध नियमानुसार पैनल्टी लगाने के निर्देश दिए। अवैध खनन के कार्य में आने वाले वाहनों को जप्त कर क?ी कार्रवाई करें साथ ही बिना रवन्ना कटाए वाहनों पर भी कार्यवाही करें। उन्होंने खनन विभाग को निर्देश दिए कि लीज धारकों की ओर से अतिरिक्त क्षेत्र में अवैध खनन करने पर उनके खिलाफ कार्यवाही किया जाना सुनिश्चित करें। उन्होंने वन विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि बंशी पहाड़पुर एवं बंध बारैठा क्षेत्र में नियमित भ्रमण कर हो रहे अवैध खनन के विरुद्ध कार्यवाही करें तथा वन नाकों पर नियुक्त कार्मिकों का समय-समय पर बदलते रहें। उन्होंने जिला परिवहन अधिकारी को निर्देश दिए कि अवैध खनन के ओवरलोड वाहनों पर कार्यवाही करें। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के मद्देनजर लोगों की मानसिकता में बदलाव लाने के लिए बस स्टैण्ड एवं टैक्सी स्टैण्डों पर फ्लैक्स बैनर के माध्यम से समझाएं कि वाहनों में क्षमता से अधिक सवारी नहीं भरें तथा कोहरे के समय प्रोपर संकेत लगाएं। इस अवसर पर पुलिस महानिरीक्षक संजीव नर्जरी, जिला कलक्टर नथमल डिडेल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक डॉ. मूल सिंह राणा, क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी राजेश शर्मा, एसडीएम पहाड़ी संजय गोयल आदि उपस्थित थे।

रसूख के दबाव में छिपा है बड़ा खेल

नौ अक्टूबर को पुलिस, खनिज विभाग के संयुक्त निर्देशन में हुई कार्रवाई में सामने आया था कि धौलेट के पहाड़ में करीब दो सौ मीटर की एक अवैध लीज हरियाणा के एक व्यक्ति को ठेके पर दे रखी है। इसमें कार्रवाही के दौरान पांच पोकलेन मशीन खनन करती पाई गई। इनमें से दो मशीनों को रसूख के दबाव में छोड़ दिया गया। दूसरी खान में दो मशीन अवैध खनन करती बरामद की गई। इसी तरह से नांगल के खसरा नम्बर 162 में लीजों के बीच में खाली स्थानों पर खनन करती एक पोकलेन मशीन को जप्त कर लाया गया था। इसका मुकदमा खनिज विभाग के कार्यदेशक वीरेन्द्र सिंह ने दर्ज कराया था। इसमें धौलेट के पहाड़ में पुराने अवैध खनन पिट अनियमित कर ताजा खनन होता पाया गया था। इसमें पांच मशीनों के खिलाफ खनिज विभाग के सर्वेयर मनमोहन सिंह ने अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी। अब बताते हैं कि पैनल्टी की कार्रवाई रसूख के दबाव में नहीं हो पा रही है। बताते हैं कि फॉरमेन की टीम ने अवैध खनन के खिलाफ हुई कार्रवाई के बाद सर्वे रिपोर्ट संबंधित अधिकारी को सौंप दी थी। इसमें तीन फॉरमेन ने हस्ताक्षर कर दिए थे, पैनल्टी लगाने का अधिकार भी एमई के पास सुरक्षित होता है। इसके बाद भी अभी पैनल्टी नहीं लगाना बड़ा सवाल खड़ा कर रहा है।

Meghshyam Parashar Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned