भादों में खूब बरसे बदरा, फिर भी नहीं छलकी 'खुशियां

- बांधों में नहीं पहुंचा पूरा पानी, जिले में पिछले साल जितनी हुई अब तक बारिश

By: Meghshyam Parashar

Published: 05 Sep 2020, 09:58 AM IST

भरतपुर . सावन भले ही मनभावन नहीं रहा हो, लेकिन भादों की बारिश ने जिले को खूब तरबतर किया है, लेकिन इससे इतर खुशियां छलकने की आस अभी तक अधूरी ही है। जिले के बांध रीते होने से अगले वर्ष गर्मियों में पानी की पूर्ति कर पाने में विभाग को पसीना आना तय है।
जिले में यूं तो मानसून जून माह में प्रवेश करता है, लेकिन इस बार मानसून थोड़ी देरी से जुलाई में यहां पहुंचा, लेकिन मानसून आगमन की जोरदार बारिश के लिए लोगों को इंतजार करना पड़ा। इसके बाद सावन के माह में भी लोगों को बूंदाबांदी से संतोष करना पड़ा, लेकिन इस बार भादों की बारिश ने जिले को खूब भिगोया। इस माह में जिले में अच्छी बारिश हुई, जिससे बारिश करीब-करीब औसत के आंकड़े तक पहुंच गई। खास बात यह है कि बारिश ठीक होने के बाद भी जिले के बांध अब तक रीते हैं। ऐसे में गर्मियों के मौसम में भरपूर पानी मिलने की मुराद लोगों की अब तक अधूरी है। सिंचाई विभाग के मुताबिक जिले में अब तक 403 एमएम बारिश रिकॉर्ड की जा चुकी है, जो राजस्व एवं सिंचाई विभाग के आंकड़ों को मिलाकर है। पिछले वर्ष जिले में 405 एमएम बारिश रिकॉर्ड की गई थी। हालांकि औसत बारिश 444 एमएम बारिश मानी जाती है।

फसल के लिहाज से अच्छी बारिश
इस बार भादों में हुई बारिश फसलों के लिए खासी मुफीद रही है। खरीफ की फसल इस बार अच्छी बताई जा रही है। शुरुआती दिनों में बारिश होने के बाद हुई बोई गई फसल अब लहलहाने लगी हैं। बाजरा की फसल में अब बालें निकल आई हैं। वहीं चारे के रूप में बोई जाने वाली ज्वार भी इस बार अच्छी है। अन्य फसलें भी इस बार ठीक बताई जा रही हैं।

बांध भराव क्षमता वर्तमान स्थिति
बंध बरैठा 8.84 6.27
अजान बांध .82 3.35
खान सूरजापुर बांध 2.29 1.12
कंजर बरौली 1.36 1.06
आजऊ बांध 1.52 0.548
हूसना बांध 0.91 0.30
चिकसाना बांध 3.05 1.82
(पानी मीटर में)

अब तक जिले में बारिश

भरतपुर 382
अजान 280
बारैठा 506
बयाना 397
भुसावर 248
डीग 250
हलैना 385
हिंगोटा 218
कामां 473
कुम्हेर 419
नदबई 404
नगर 351
पहाड़ी 351
रूपवास 416
सेवला 400
सेवर 497
सीकरी डैम 561
उच्चैन 328
वैर 471
(बारिश एमएम में)

इनका कहना है

इस बार ठीक बारिश हुई है। उम्मीद है कि यह औसत आंकड़े तक पहुंच जाएगी, लेकिन बांध अभी भी रीते हैं। बांधों में बारिश का पर्याप्त पानी नहीं पहुंच सका है।
- बनै सिंह, अधिशासी अभियंता, सिंचाई विभाग भरतपुर

Meghshyam Parashar Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned