संभलिए भरतपुर...यह भीड़ बना रही कोरोना का खतरा, अभी सन्नाटा ही अच्छा है

शहर में सुबह बाजार खुलने के बाद कोरोना संक्रमण को लेकर लोगों में कोई खास जागरुकता नहीं दिख रही है। यह खुद शहरवासियों को ही समझना होगा कि कोरोना के दो दिन में ही 55 से अधिक केस आ चुके हैं। इसलिए कोरोना के साथ जीने की आदत तो डालनी ही होगी, परंतु सोशल डिस्टेंसिंग की पालना करना भी जरूरी होगा।

By: Meghshyam Parashar

Published: 31 May 2020, 03:54 PM IST

भरतपुर. शहर में सुबह बाजार खुलने के बाद कोरोना संक्रमण को लेकर लोगों में कोई खास जागरुकता नहीं दिख रही है। यह खुद शहरवासियों को ही समझना होगा कि कोरोना के दो दिन में ही 55 से अधिक केस आ चुके हैं। इसलिए कोरोना के साथ जीने की आदत तो डालनी ही होगी, परंतु सोशल डिस्टेंसिंग की पालना करना भी जरूरी होगा। तभी जाकर हम कोरोना से जंग जीत पाएंगे। वहीं गांव महलपुर काछी में पूर्व विधायक के घर में घुसकर मारपीट करने के मामले में गिरफ्तार आरोपी कोरोना पॉजिटिव निकला। पूर्व विधायक निर्भयलाल जाटव ने 25 अप्रेल को गांव के ही 6 नामजद लोगों के खिलाफ धारदार हथियार से हमला कर पुत्री व भतीजे को घायल करने का मामला दर्ज कराया था। इस पर हैड कांस्टेबल मानसिंह कांस्टेबल राजवीर, पवन, गजेन्द्र को साथ लेकर महलपुर पहुंचे। उन्होंने पांचों आरोपियों को 28 मई को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार करने के बाद थाना प्रभारी ने फाइल का अवलोकन कर मुल्जिम से पूछताछ करते रिमांड फार्म पर हस्ताक्षर किए और सभी आरोपियों का रूपवास सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर परीक्षण करवाया। इसके बाद आरोपियों को ऑनलाइन रूपवास न्यायिक मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया गया। वहां से इन्हें जेल भेजने के आदेश दिए गए। उसके बाद हैड कांस्टेबल मानसिंह व हैड कांस्टेबल राजकुमार आरोपियों को भरतपुर आरबीएम ले गए। वहां इनकी सैंपलिंग की गई। सैंपलिंग के बाद इन्हें आरबीएम स्थित अस्थाई जेल छोड़ आए। गिरफ्तारी के बाद पूछताछ में कोरोना पॉजिटिव दिलेर पुत्र चन्द्रभान ने बताया कि झगड़े से पूर्व वह कोटा से आया था। वहीं झगड़े के बाद वह नदवई स्थित अपने मामा राकेश के ईट भट्टा पर रहा था। वह गिरफ्तारी से एक दिन पूर्व रामनगर स्थित अपने रिश्तेदार के यहां से वापस आया था।

व्यापार महासंघ की पहल पर ठेके का विवाद समाप्त

भरतपुर. जिला व्यापार महासंघ के जिलाध्यक्ष संजीव गुप्ता की अध्यक्षता में शनिवार को बैठक हुई। इसमें जिला महामंत्री नरेंद्र गोयल, जिला उपाध्यक्ष मोहन मितल, शहर अध्यक्ष भगवानदास बंसल, व्यापार महासंघ के लीगल एडवाइजर सीए अतुल मितल उपस्थित रहे। बासन गेट व्यापार महासंघ के पदाधिकारी व शराब ठेकेदार के साथ उनके सहयोगी के साथ बात हुई। दोनों पक्षों को सुनने के बाद समझाइश की गई। जिलाध्यक्ष ने कहा कि बासन गेट व्यापार संघ 31 मई से सरकारी नियम के आधार पर प्रतिष्ठान खोलेगा व उनकी समस्या का समाधान एक निश्चित अवधि के अंदर किया जाएगा। बैठक में बासन गेट व्यापार संघ के अध्यक्ष अनिल गुप्ता, सुभाष, महासचिव रवि माथुर, संरक्षक भगवानदास, ठेकेदार पक्ष के गोविंद, राजू व सुधांशु गौड़ उपस्थित थे। उल्लेखनीय है कि 185 वर्ष प्राचीन गोपालजी मंदिर के पास ही ठेका खोलने के विरोध में आंदोलन किया जा रहा था। तीन दिन से व्यापारियों ने बाजार भी बंद कर रखा था।

Meghshyam Parashar Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned