scriptStill the officials silent on illegal mining | एक दशक में 100 लोग गंवा चुके जान, फिर भी अवैध खनन पर अधिकारी मौन | Patrika News

एक दशक में 100 लोग गंवा चुके जान, फिर भी अवैध खनन पर अधिकारी मौन

- अब नगर विधायक वाजिब अली ने खींचा सरकार का ध्यान
- अवैध विस्फोटक का हो रहा इस्तेमाल

भरतपुर

Published: April 01, 2022 01:10:41 pm

भरतपुर . जिले में रसूखदारों के बुलडोजर पहाड़ों को छलनी कर रहे हैं। तमाम शिकायतों के बाद भी अवैध खनन का खेल खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। जांच में लीपापोती का ही नतीजा है कि अवैध खनन के चलते पिछले 10 सालों में 100 लोग जान गंवा चुके हैं, लेकिन जिम्मेदारों के कान पर जूं तक नहीं रेंगी है। अब इस मामले को लेकर नगर विधायक वाजिब अली ने सरकार का ध्यान खींचा है।
नगर विधायक अली ने विधानसभा में नियम 131 के अंतर्गत ध्यानाकर्षण प्रस्ताव दिया है। इसमें कहा है कि उनकी विधानसभा नगर में भारी मात्रा में अवैध खनन किया जा रहा है। इसकी शिकायत स्थानीय अधिकारियों से बहुत बार किए जाने के बाद भी रोक नहीं लग सकी है। गत वर्ष जांच हुई और खनन पट्टा संख्या 126/2008, 307/2008, 543/2008 एवं 542/2008 आदि पर अनियमितताओं के चलते पट्टों को खारिज करने के प्रस्ताव जुलाई 2021 में एसएमई की ओर से खान निदेशक को भेजे गए, लेकिन नौ माह तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। विधायक वाजिब ने कहा कि ग्राम बुहापुर में खनन पट्टा एमएल 104/2007, एमएल 333/2007, एमएल 342/2007 एवं एमएल 360/2007 धारकों की ओर से बिना ब्लास्टिंग की स्वीकृति लिए अपने पट्टे क्षेत्र से बाहर रोज अवैध बारूद का इस्तेमाल कर अवैध खनन किया जा रहा है। इसकी शिकायत मुख्यमंत्री कार्यालय तक हुई, लेकिन जांच में इस पट्टे की पिच तक को नहीं नापा गया और न ही उनके ब्लास्टिंग की स्वीकृति चेक हुई। अधिकारियों ने लीपापोती कर कार्रवाई को दबा दिया।
एक दशक में 100 लोग गंवा चुके जान, फिर भी अवैध खनन पर अधिकारी मौन
एक दशक में 100 लोग गंवा चुके जान, फिर भी अवैध खनन पर अधिकारी मौन
10 दिन पहले हुई एक की मौत

विधायक वाजिब ने कहा कि करीब दस दिन पहले रसिया गांव में एक व्यक्ति की मौत हुई है। पिछले करीब 10 सालों में करीब 100 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। सीकरी तहसील में संचालित स्टोन क्रशर्स को भी पर्यावरण के नियमों की अवहेलना के चलते नोटिस दिए गए, लेकिन अधिकारियों की मिलीभगत से आज भी सभी स्टोन क्रेशर पर्यावरण के नियमों की पालना नहीं कर रहे हैं। इसके चलते आए दिन ग्रामीण प्रदर्शन कर रहे हैं। लापरवाही को लेकर लोगों में रोष है। इसके लिए सरकार को तुरंत ठोस कदम उठाने होंगे।
पहाड़ी इलाके में हो रहा अवैध विस्फोटक का प्रयोग

मेवात के पहाड़ी इलाके में लंबे समय से अवैध विस्फोटक का उपयोग हो रहा है। अधिकृत लाइसेंस धारकों की ओर से भी मनमर्जी से अवैध खनन करने वालों को विस्फोटक देने की बात सामने आती रही है। हालांकि लंबे समय से पुलिस की ओर से भी अवैध विस्फोटक के खिलाफ कार्रवाई नहीं करना रहस्य बना हुआ है। बताते हैं कि यहां कई बार अवैध विस्फोटक को लेकर विवाद हो चुका हैं। चूंकि अधिकृत लाइसेंस धारक की ओर से खननमाफिया को इसलिए अवैध विस्फोटक देने की बात सामने आती रही है, क्योंकि महंगे दामों में विक्रय होता है। हालांकि रसूख के दबाव में कभी कार्रवाई नहीं हो पाती है। फोटो कैप्शन: भरतपुर. जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपते विप्र फाउण्डेशन के कार्यकर्ता।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

यहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतियूपी में घर बनवाना हुआ आसान, सस्ती हुई सीमेंट, स्टील के दाम भी धड़ामName Astrology: पिता के लिए भाग्यशाली होती हैं इन नाम की लड़कियां, कहलाती हैं 'पापा की परी'इन 4 राशियों के लड़के अपनी लाइफ पार्टनर को रखते हैं बेहद खुश, Best Husband होते हैं साबितजून में इन 4 राशि वालों के करियर को मिलेगी नई दिशा, प्रमोशन और तरक्की के जबरदस्त आसारमस्तमौला होते हैं इन 4 बर्थ डेट वाले लोग, खुलकर जीते हैं अपनी जिंदगी, धन की नहीं होती कमी1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्ससंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजर

बड़ी खबरें

Texas School Firing : अमरीका फिर लहूलुहान, 18 वर्षीय युवक की अंधाधुंध फायरिंग में 18 छात्र और 3 शिक्षकों की मौतमहंगाई से जंग: रिकॉर्ड निर्यात से घबराई सरकार, गेहूं के बाद अब 1 जून से चीनी निर्यात भी प्रतिबंधितआंध्र प्रदेश में जिले का नाम बदलने पर हिंसा, मंत्री का घर जलाया, कई घायलपंजाब के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री के OSD प्रदीप कुमार भी हुए गिरफ्तार, 27 मई तक पुलिस रिमांड में विजय सिंगलारिलीज से पहले 1 जून को गृहमंत्री अमित शाह देखेंगे अक्षय कुमार की 'पृथ्वीराज', जानिए किस वजह से रखी जा रहीं स्पेशल स्क्रीनिंगGujrat कांग्रेस के वरिष्ठ नेता का विवादित बयान, बोले- मंदिर की ईंटों पर कुत्ते करते हैं पेशाबIPL 2022, Qualifier 1 RR vs GT: मिलर के तूफान में उड़ा राजस्थान, गुजरात ने पहले ही सीजन में फाइनल में बनाई जगहRajya Sabha Election 2022: राजस्थान से मुस्लिम-आदिवासी नेता को उतार सकती है कांग्रेस
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.