खरीफ की फसल का लक्ष्य...

भरतपुर. किसान अब खरीफ फसल की बुवाई में जुट गया है। इसे देखते हुए सरकार ने जिले में कृषि विभग को 2.34 लाख हैक्टेयर में बुवाई का लक्ष्य निर्धारित किया है।

By: pramod verma

Published: 14 Jun 2020, 09:00 PM IST

भरतपुर. किसान अब खरीफ फसल की बुवाई में जुट गया है। इसे देखते हुए सरकार ने जिले में कृषि विभग को 2.34 लाख हैक्टेयर में बुवाई का लक्ष्य निर्धारित किया है। लक्ष्य के अनुरूप किसानों ने बुवाई का कार्य शुरू कर दिया है, लेकिन प्री-मानसून की स्थिति को देखते हुए किसानों ने कम क्षेत्र में बुवाई की है।

जिले में लगभग 3.05 लाख किसान हैं, जो कृषि कार्य पर निर्भर हैं। इन्होंने खरीफ में बाजरा, ज्वार, कपास, सब्जी आदि की बुवाई शुरू कर दी है। अभी यह 30 हजार हैक्टेयर में की है, जहां मानसून देरी से आने की स्थिति में सिंचाई के लिए पानी की आवश्यकता पड़ेगी। इसलिए शेष किसान मानसून का इंतजार कर रहा है, जिस कारण बुवाई कार्य में देरी हो रही है।

वैसे कृषि विभाग को ज्वार 5 हजार हैक्टेयर, बाजरा 1.30 लाख, कपास 7 हजार, ग्वार 10 हजार, अन्य फसल 32 सौ हैक्टेयर आदि सहित कुल 2.34 लाख लक्ष्य मिला है। इसमें से 10 हजार 50 हैक्टेयर में बाजरा, 5750 में ज्वार, 4435 हैक्टेयर में कपास की बुवाई किसानों ने की है, जो कम है।


हालांकि, मानसून ने मुम्बई में प्रवेश कर लिया है और यहां 24-25 जून तक पहुंचने की संभावना है। इसलिए अधिकांश किसान सक्रिय मानसून का इंतजार कर रहे हैं, तब इनका बुवाई कार्य शुरू होगा। इससे फसल को भरपूर सिंचाई का पानी मिल सके। कृषि विशेषज्ञों का कहना है कि किसान अपनी फसल में उन्नत किस्म का प्रमाणित बीज का उपयोग करे।

कृषि विभाग के संयुक्त निदेशक देशराज सिंह का कहना है कि लक्ष्य के अनुरूप किसानों ने अभी कम बुवाई की है। वहीं मानसून भी 24-25 जून तक आने की संभावना है। इसलिए किसान फसल को पर्याप्त सिंचाई के पानी के इंतजार के कारण बुवाई में देरी कर रहे हैं।

pramod verma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned