scriptThe killers tied the dead body to the tree after killing the farmer | किसान की हत्या कर शव पेड़ से बांध गए हत्यारे | Patrika News

किसान की हत्या कर शव पेड़ से बांध गए हत्यारे

रुदावल. थाना क्षेत्र के गांव वरौदा के जंगल में "ुरुवार रात खेत पर फसल में पानी देने गया किसान का शव यहां खेत पर जाने वाले कच्चे रास्ते में लहुलुहान हालत में पड़ा मिला।

भरतपुर

Published: November 19, 2021 10:38:22 pm

भरतपुर. रुदावल. थाना क्षेत्र के गांव वरौदा के जंगल में "ुरुवार रात खेत पर फसल में पानी देने गया किसान का शव यहां खेत पर जाने वाले कच्चे रास्ते में लहुलुहान हालत में पड़ा मिला। मृतक किसान के हाथ पास ही स्थित एक पेड़ से बंधे हुए थे। घटना की जानकारी तब हुई जब परिजनों ने रात में उसे कई बार फोन किया। फोन रिसीव नहीं होने पर परिजन मौके पर पहुंचे तो उसका शव पड़ा था। जिस पर परिजनों ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने मृतक का शव कब्जे में लेकर बयाना सीएचसी की मोर्चरी में रखवाया।
किसान की हत्या कर शव पेड़ से बांध गए हत्यारे
किसान की हत्या कर शव पेड़ से बांध गए हत्यारे
थाना प्रभारी मनीष शर्मा ने बताया कि गुरुवार रात को गांव वरौदा के जंगलों में एक किसान की बेहरमी से मारपीट करते हुए धारदार हथियार से हत्या करने की सूचना मिली। जिस पर वह पुलिसबल के साथ मौके पर पहुंचे और मृतक मलखानसिंह गुर्जर (५०) पुत्र घीसा निवासी वरौदा को मृत हालत में बयाना सीएचसी की मोर्चरी पर रखवाया। पुलिस टीम ने रातभर घटना स्थल पर पुलिस जाब्ता तैनात कर घटना के साक्ष्यों को लेकर जानकारी जुटाई। थाना प्रभारी ने बताया कि मृतक मलखान सिंह अपने खेतों पर गुरुवार देर शाम फसल में पानी देने गया था। मृतक के भाइयों ने अपने भाई मलखानसिंह से इंजन बंद करने के लिए उसके मोबाइल पर फोन किया लेकिन फोन रिसीव नहीं होने पर परिजन उसे देखने पहुंचे। जिस पर वह खेत पर कच्चे रास्ते में उसका खून से सना शव पड़ा था तथा हाथ बंधे हुए थे। शव पास ही स्थित पापरी के पेड़ से बंधा हुआ था। परिजनों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। शुक्रवार तड़के थाना प्रभारी शर्मा ने पुलिसबल के साथ आसपास के खेतों में हत्या के सुराग को लेकर जांच पड़ताल की।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.