प्यार को विश्वास दिलाने के लिए पीडि़ता ने खुद रचा षड्यंत्र, जांच में मामला निकला झूठा

कोतवाली थाना अंतर्गत सिवाईच स्कूल के पास दो दिन पहले एक वेबा पर बाइक सवार युवकों द्वारा ज्वलनशील पदार्थ फेंकने की हुई वारदात का पुलिस ने बुधवार को खुलासा कर दिया।

By: rohit sharma

Published: 09 Jun 2021, 09:42 PM IST

भरतपुर. कोतवाली थाना अंतर्गत सिवाईच स्कूल के पास दो दिन पहले एक वेबा पर बाइक सवार युवकों द्वारा ज्वलनशील पदार्थ फेंकने की हुई वारदात का पुलिस ने बुधवार को खुलासा कर दिया। जांच में मामला झूठा निकला। स्वयं पीडि़ता ने अपने प्रेमी को विश्वास दिलाने के लिए षड्यंत्र के तहत वारदात करने की बात कबूली है। महिला ने वारदात के लिए अपने भतीजों पर गंभीर आरोप लगाए थे लेकिन जांच के दौरान आरोपी की लोकेशन अलग-अलग स्थानों पर मिली। गौरतलब रहे कि उक्त महिला का अपने ससुरालीजनों के साथ जमीन बंटवारे को लेकर विवाद चल रहा है। जमीन की कीमत करोड़ों रुपए बताई जा रही है। मामले में पुलिस का कहना है कि आरोपी पक्ष कोई रिपोर्ट दर्ज कराता है तो अलग से जांच की जाएगी।


थाना प्रभारी रामकिशन यादव ने बताया कि स्कूटी सवार महिला रेखा पत्नी स्व.सोहन सिंह यादव निवासी नगला मांझी कुम्हेर हाल निवासी रणजीतनगर ने गत 7 जून को यहां सिवाईच स्कूल के पास बाइक सवार चार युवकों द्वारा उस पर ज्वलनशील पदार्थ फेंकने का आरोप लगाया था। रिपोर्ट में पीडि़ता ने अपने ही भतीजों पर संगीन आरोप लगाए थे। वारदात को गंभीरता से लेते एसपी देवेन्द्र कुमार विश्नोई ने थाना पुलिस को आवश्यक निर्देश देते हुए। जिस पर पुलिस टीम ने जांच शुरू की। अनुसंधान में वारदात स्थल के आसपास हरीजन बस्ती सरकूलर रोड, तुलसी रेस्टोरेन्ट के पास लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेजों को पुलिस ने खंगाला और स्थानीय लोगों से पूछताछ की। पीडि़ता ने वारदात में जिन आरोपियों पर ज्वलनशील पदार्थ फेंकने का आरोप लगाया उनकी मोबाइल लोकेशन की जांच की गई। जो वारदात स्थल से दूर थी। एक की लोकेशन जयपुर में थी। आरोपियों से जांच में कुछ नहीं निकलने पर पुलिस को घटना को लेकर संदेह हुआ। जिस पर पुलिस ने पीडि़ता व उसके पुत्र से पूछताछ की। पूछताछ में बताया कि उसका व जेठ के पुत्रों के साथ संपत्ति को लेकर विवाद चल है। वह और अभिषेक शर्मा नामक व्यक्ति निजी रस्तोगी अस्पताल में नर्सिंग स्टाफ के रूप में नौकरी करते हैं। जहां अभिषेक से उसकी जान-पहचान हो गई और उससे प्यार करने लगी। इसको लेकर अभिषेक ने कहा कि वह अपने जेठ के पुत्रों से संबंध रखती है। उसने इससे मना किया लेकिन वह इस बात उससे वापस दोहराता था। जिस पर उसने अभिषेक को विश्वास दिलाने के लिए फोन किया और कहा कि उसे सोमवार को मालूम चल जाएगा। इसके बाद उसने 7 जून को वारदात को अंजाम दिया और अस्पताल पहुंच पुलिस को हमले की जानकारी दी।

rohit sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned