चुनौती की चेन तोडऩे से पहले नहीं लेंगे चैन

- सीएमएचओ बोले दिनचर्या अब केसों पर निर्भर

By: Meghshyam Parashar

Published: 20 May 2021, 02:42 PM IST

भरतपुर. कोरोना ने सब कुछ उथल-पुथल कर दिया है। इस काल में हर दिन नई चुनौती है, लेकिन सबसे जरूरी जिंदगियों को बचाना है। सुबह से शाम और रात से सुबह बस एक ही फिक्र है कि ऑक्सीजन, बेड, दवा एवं इलाज के अभाव में कोई जिंदगी दम नहीं तोड़ दे। सभी चिकित्सक एवं चिकित्साकर्मियों की दिनचर्या भी अब केसों के हिसाब से चल रही है। हमने ठाना है कि कोरोना की चेन तोडऩे से पहले हम चैन नहीं लेंगे। यह कहना है मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. कप्तान सिंह का।
डॉ. सिह कहते हैं कि संदेश इसमें सबसे अहम कड़ी है। हमें समय पर सूचना मिल जाए तो हम हरसंभव मरीज की सेवा को तत्पर हैं। दूसरी लहर में बढ़ते केसों के सवाल पर सीएमएचओ कहते हैं कि दूसरी लहर निश्चित रूप से थमेगी। सभी चिकित्साकर्मी इसके लिए दिन-रात मेहनत कर रहे हैं, लेकिन आमजन का सहयोग इसमें सबसे जरूरी चीज है। लोग अनावश्यक नहीं घूमकर सरकारी गाइड लाइन का पालन करें तो हम इस चुनौती से जल्दी ही पार पा लेंगे। डॉ. सिंह कहते हैं कि निश्चित रूप से दूसरी लहर में मौतों का आंकड़ा बढ़ा है, लेकिन इसके लिए लोगों का सावचेत रहना बेहद जरूरी है। जरा भी लक्षण दिखें तो चिकित्सक के पास जाएं। इसमें बिल्कुल देरी नहीं करें। खास तौर से मेडिकल से दवा लेकर स्वस्थ होने का प्रयास नहीं करें। यदि लक्षण दिखें तो चिकित्सक को दिखाकर होम आइसोलेट होकर चिकित्सक के अनुसार दवा लें और गाइड लाइन का पालन करें तो लोग जल्द स्वस्थ होंगे। सीएमएचओ डॉ. सिंह कहते हैं कि विभाग की ओर से गांव-गांव सर्वे कराकर जुकाम-खांसी, बुखार के मरीजों को घर पर ही दवा दी जा रही है, इससे कोरोना का संक्रमण नहीं फैल सके। उन्होंने कहा कि सबसे के प्रयासों से हम कोरोना को हराने में जरूर कामयाब होंगे।

संदेश और फोन कॉल्स की भरमार

सीएमएचओ डॉ. सिंह कहते हैं कि न तो अब रात का सोने का समय नियत है और न जागने का। फोन कॉल्स की भरमार के चलते रात्रि को सोने में कितने बजेंगे। इसका पता नहीं है और सुबह कौनसी इमरजेंसी कॉल आ जाएगी, यह अब दिनचर्या में शुमार है। डॉ. सिंह कहते हैं कि हर दिन 200 से 300 फोन कॉल्स के जवाब देने होते हैं। इनमें से बहुतेरों को व्यस्तता के चलते जवाब नहीं दे पाते। इसके अलावा ट्विटर, वाट्एएप, फेसबुक एवं अन्य सोशल मीडिया पर मिलने वाले संदेशों का जवाब देना भी दिनचर्चा में शामिल कर दिया है, इससे हम किसी भी जरूरतमंद को समय पर इलाज मुहैया करा सकें।

यह सेवा का समय है, भले ही मुसीबत बड़ी हो

सीएमएचओ डॉ. सिंह ने बताया कि आज भरतपुर ही नहीं पूरा देश कोरोना महामारी से जूझ रहा है। ऐसे में जरूरी है कि हर जरुरतमंद की सेवा के लिए सबको आगे आना चाहिए। जिस तरह चिकित्साकर्मी कोरोना के खतरे के बीच मरीजों की सेवा कर रहे हैं। उसी तरह आमजन को भी पड़ोसियों, जरुरतमंद व परेशान रिश्तेदारों व परिजनों की मदद से पीछे नहीं हटना चाहिए। यह सेवा ही कोरोना महामारी को समाप्त करने में बड़ी मदद करेगी।

Meghshyam Parashar Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned