1450 गांवों में हरेक परिवार से मिलकर राम मंदिर के लिए करेंगे धन संग्रह

-विश्व हिंदू परिषद् के कार्यकर्ता टोलियां बनाकर जाएंगे गांव-गांव, भरतपुर व डीग बांट रखे अलग-अलग
-विहिप के केंद्रीय मंत्री जुगलकिशोर चार दिवसीय प्रवास पर आए

By: Meghshyam Parashar

Published: 10 Jan 2021, 07:06 PM IST

भरतपुर. अयोध्या में बन रहे श्रीराम मंदिर के निर्माण के लिए विश्व हिन्दू परिषद् की ओर से जिले के 1450 गांवों में हरेक परिवार से मिलकर धन संग्रह किया जाएगा। इस अभियान के लिए विहिप के केंद्रीय मंत्री जुगलकिशोर भी रविवार को भरतपुर पहुंचे हैं। वे चार दिवसीय प्रवास पर आए हैं। उनका रेलवे स्टेशन पर स्वागत किया गया। भरतपुर के लगभग 40 वरिष्ठ समाजसेवी व दानदाताओं से मिलकर उनसे श्री राम मंदिर निर्माण के लिए सहयोग का आग्रह करेंगे।
जुगल किशोर ने बताया कि वे योजना पूर्वक पूरी समय शक्ति लगाते हुए भरतपुर जिले के लिए निर्धारित लक्ष्य के अनुसार 11 करोड़ रुपए का निधि संग्रह करें। मंदिर के निर्माण के लिए 70 एकड़ भूमि आवंटित की गई है। इसमें से तीन एकड़ भूमि पर मंदिर का निर्माण किया जाएगा। मन्दिर निर्माण का कार्य देश की श्रेष्ठ निर्माण कंपनी एलएंडटी को सौंपा गया है। मन्दिर 360 फीट लंबा, 235 फीट चौड़ा तथा 161 फीट ऊंचा बनाया जाएगा। उक्त निर्माण में होने वाले आर्थिक व्यय के लिए पूरे देश से निधि एकत्रित की जाएगी। समिति के सदस्यों की टोली लगभग देश के 11 करोड़ परिवारों तथा 4 लाख गांवों में जाएगी। इस अवसर पर जिला अभियान समिति के संयोजक डॉ. सतीश भारद्वाज, विहिप प्रान्त सेवा प्रमुख नरेश खण्डेलवाल, विहिप जिला अध्य्क्ष सिद्धार्थ फौजदार, जिला मंत्री अनिल भारद्वाज, कार्यालय प्रमुख रामअवध बघेल, उमेश पाराशर, इंदुशेखर शर्मा, देवाशीष भारद्वाज आदि उपस्थित थे। निधि संग्रहण के लिए विभिन्न मूल्यवर्ग के कूपन तैयार किए गए हैं। इनका मूल्य 10, 100 और 1000 रुपए तक रहेगा। 2 हजार या इससे अधिक राशि रसीद के माध्यम से प्राप्त की जाएगी। दानदाता को आयकर अधिनियम की धारा 80 के तहत भी इसका लाभ मिलेगा।

भरतपुर व डीग जिले से 16 करोड़ रुपए का लक्ष्य

विहिप ने भरतपुर व डीग को दो जिलों विभाजित कर रखा है। जिला अभियान समिति के संयोजक डॉ. सतीश भारद्वाज ने बताया कि भरतपुर जिले से 11 करोड़ रुपए का निधि संग्रह का लक्ष्य रखा गया है। 400 टोलियां घर-घर जाएंगी। 66 बस्तियां है व 800 कार्यकर्ता समय देंगे। गांव-गांव जाकर उन्हें राम मंदिर के सामाजिक और सांस्कृतिक महत्व की जानकारी दी जाएगी। साथ ही धन संग्रह किया जाएगा। विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ता 15 जनवरी से 27 फरवरी तक समर्पण निधि अभियान चलाएंगे। अभियान दो चरणों में चलेगा। प्रथम चरण में विशिष्ट श्रेणी के लोगों से संपर्क और धन संग्रह होगा। इसके लिए 20 श्रेणियां बनाई गई है। प्रथम चरण में 15 से 30 जनवरी तक विशिष्ट श्रेणी के लोगों से संपर्क अभियान चलेगा। इसके बाद महा जनसंपर्क अभियान 31 जनवरी से 15 फरवरी तक चलेगा। इससे वंचित रहे लोगों को बाकी 27 फरवरी तक मुलाकात की जाएगी। संत सम्मेलन, प्रभात फेरी, कलश यात्रा, महाआरती, शोभायात्रा आदि का आयोजन भी किया जाएगा। इसके लिए संतों की समिति का भी गठन किया गया है।

Meghshyam Parashar Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned