जिला खेल अधिकारी बोले: तू बताएगा कलक्टर के नियम, जूते खाएगा और थाने में बंद करा दूंगा...

-जिला खेल स्टेडियम में खिलाडिय़ों व जिला खेल अधिकारी के बीच विवाद
-स्टेडियम में बगैर रजिस्ट्रेशन कराए प्रवेश नहीं करने देने का मामला

By: Meghshyam Parashar

Updated: 18 Sep 2020, 10:09 AM IST

भरतपुर. जिला खेल स्टेडियम में खिलाडिय़ों के स्टेडियम में प्रवेश को लेकर विवाद हो गया। मामला उस समय और खराब हो गया जब जिला खेल अधिकारी व खिलाडिय़ों के बीच बातचीत का वीडियो वायरल हो गया। यह वीडियो जिला कलक्टर के अलावा तमाम अधिकारियों के पास पहुंचा। इस मामले को लेकर खिलाडिय़ों ने पहले स्टेडियम के सामने और फिर कलक्ट्रेट परिसर में हंगामा किया।
जानकारी के अनुसार सेना भर्ती रैली की तैयारी करने वाले युवा व अन्य खिलाड़ी हर दिन यहां सुबह के समय आते हैं। बुधवार सुबह जिला खेल अधिकारी सत्यप्रकाश लुहाच व अन्य अधिकारियों ने उन्हें प्रवेश करने से मना कर दिया। इसको लेकर काफी देर तक दोनों के बीच कहासुनी होती रही। इसी बातचीत का एक वीडियो वायरल हुआ। इसमें जिला खेल अधिकारी सत्यप्रकाश लुहाच कह रहे हैं कि...चलता बन यहां से, कहां से आया है तू, नेता बन, तू बताएगा हमको कलक्टर के नियम, चलता बन यहां से, नहीं तो यहां से जूत खाके जाएगा, बुलाओ अटलबंध थाने से, रिपोर्ट दो मिनट में दर्ज करा देंगे, तुझे बता भी देंगे, अब यहां सुन नियम यहां का अच्छा नहीं होने दोगे, कोविड-19 के तहत निर्धारित गाइडलाइन के अनुसार मास्क लगा रखा है क्या, फिर क्यों आया तू, नियम है कि पहले रजिस्ट्रेशन कराना होता है तय राशि में, फिर 100 रुपए माह देने होते हैं। बातचीत के दौरान खिलाड़ी यह भी कहते रहे कि हमारी गल्ती क्या है, हालांकि बात नहीं बन सकी। अंत में खिलाड़ी आक्रोशित होकर जिला कलक्टर के निवास पर पहुंचे। जहां उन्होंने सुरक्षाकर्मियों ने सुबह 11 बजे कलक्ट्रेट आकर शिकायत करने को कहा। इसके बाद खिलाडिय़ों ने जिला कलक्टर नथमल डिडेल को ज्ञापन दिया।

ज्ञापन में खिलाडिय़ों ने यह लिखा...

ज्ञापन में प्रवीण चाहर, कुशल फौजदार, हेमंत देशवाल, मानवेंद्र सिंह, सतीश गुर्जर, जितेंद्र फौजदार, आजाद, धनसिंह, हरवीर आदि ने लिखा है कि भरतपुर लोहागढ़ स्टेडियम में जिला खेल अधिकारी ने अनियिमितताओं का अंबार लगा रखा है। रख-रखाव एवं नवनिर्माण के लिए आए बजट को अपने घर में शूटिंग एकेडमी में लगा लिया है, अब खिलाडिय़ों से जबरन बिना सूचना के 200-200 रुपए निजी बाउंसरों से मारपीट कर वसूली कर रहे हैं। उन्होंने रजिस्ट्रेशन शुल्क 200 रुपए व 100 रुपए माह बताए थे। दलित दीपक हरिजन को भी स्टेडियम में प्रवेश नहीं करने दिया। इसके सीसीटीवी फुटेज व अन्य साक्ष्य भी उपलब्ध है।

-कुछ असामाजिक तत्वों को स्टेडियम से निकाल दिया था। ऐसे में उन्होंने प्री-प्लान करते हुए वीडियो भी बना लिया। उन्हें रजिस्ट्रेशन कराने के बाद अलग-अलग समय निर्धारित करने के लिए कह दिया था, लेकिन वह गलत व्यवहार कर रहे थे।

सत्यप्रकाश लुहाच
जिला खेल अधिकारी

Meghshyam Parashar Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned