विद्यार्थियों को चरित्रवान बनाने के लिए पंजाब सरकार का बड़ा कदम

  • स्कूली विद्यार्थियों में नैतिक मूल्य मजबूत बनाने के लिए ‘स्वागत जि़ंदगी’ नाम का नया विषय
  • कक्षा एक से 12वीं तक सभी प्रकार के स्कूलों में लागू, कुल 100 अंकों की होगी परीक्षा

By: Bhanu Pratap

Updated: 01 Oct 2020, 06:37 PM IST

चंडीगढ़। पंजाब के स्कूल शिक्षा मंत्री विजय इंदर सिंगला की मंजूरी के बाद स्कूल शिक्षा विभाग ने विद्यार्थियों में नैतिक मूल्यों को मज़बूत बनाने के लिए ‘स्वागत जि़ंदगी’ नाम का नया विषय लागू कर दिया है।

चालू सत्र से लागू

इसकी जानकारी देते हुए आज यहाँ स्कूल शिक्षा विभाग के एक प्रवक्ता ने बताया कि यह विषय राज्य के सभी सरकारी, एफिलिएटेड, ऐसोशिएटेड, एडेड और अनएडेड स्कूलों में लागू किया गया है। ‘स्वागत जि़ंदगी’ नाम का यह नया विषय चालू सत्र 2020-21 से शुरू किया गया है। प्रवक्ता के अनुसार इसका उद्देश्य विद्यार्थियों को मानक शिक्षा देने के साथ-साथ उनमें नैतिक मूल्यों को मज़बूत बनाना है ताकि वह समाज के जिम्मेदार और अच्छे नागरिक बन सकें।

100 अंक की परीक्षा

प्रवक्ता के अनुसार यह विषय पूर्व-प्राथमिक से लेकर बारहवीं कक्षा तक के विद्यार्थियों को पढ़ाया जायेगा। इस विषय के कुल 100 अंक होंगे जिनमें 50 अंकों का लिखित और 50 अंकों का प्रैक्टिकल होगा। बोर्ड की क्लासों (पंचवीं, आठवीं, दसवीं और बारहवीं) के लिए पेपर पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड द्वारा तैयार किया जायेगा जबकि बाकी कक्षाओं के लिए इस विषय का मूल्यांकन स्कूल स्तर पर किया जायेगा। स्कूल से प्राप्त हुए अंक और ग्रेड सर्टिफिकेट में दर्ज किये जाएंगे।

पुस्तकें प्रकाशित की जाएंगी

प्रवक्ता के अनुसार इस विषय के लिए पाठ्यक्रम एस.सी.ई.आर.टी. द्वारा तैयार किया गया है। इसके आधार पर पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड द्वारा पुस्तकें प्रकाशित करवाकर विद्यार्थियों को उपलब्ध करवाई जाएंगी। स्कूल मुखियों को हफ्ते में इस विषय का कम से कम एक पीरियड लगाने के निर्देश दिए गए हैं।

Show More
Bhanu Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned