लॉकडाउन में छत्तीसगढ़ के लिए 11 ट्रेनों को मिली अनुमति, श्रमिकों, स्टूडेंट्स को ऑनलाइन कराना होगा रजिस्ट्रेशन

कोरोना महामारी और लॉकडाउन में फंसे लोगों के लिए राहत की खबर है। छत्तीसगढ़ सरकार को 11 ट्रेनों की अनुमति मिल गई है। इन 11 ट्रेनों को चरणबद्ध तरीके से चलाया जाएगा। (Shramik Special Trains)

By: Dakshi Sahu

Published: 10 May 2020, 05:52 PM IST

भिलाई. कोरोना महामारी (Coronavirus lockdown in chhattisgarh) और लॉकडाउन में फंसे लोगों के लिए राहत की खबर है। छत्तीसगढ़ सरकार को 11 ट्रेनों की अनुमति मिल गई है। इन 11 ट्रेनों को चरणबद्ध तरीके से चलाया जाएगा। जिसमें लॉकडाउन में फंसे प्रवासी श्रमिक, स्टूडेंट्स और संकट में पड़े चिकित्सा की आवश्यकता वाले लोग ही सफर कर पाएंगे। ट्रेन में सफर के लिए सभी को ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना होगा। जिन 11 ट्रेनों को अनुमति मिली है उनमें पठानकोट पंजाब से चांपा, साबरमती अहमदाबाद से बिलासपुर के लिए दो ट्रेन, विजयावाड़ा आन्ध्रप्रदेश से बिलासपुर, लखनऊ उत्तरप्रदेश से रायपुर के लिए तीन ट्रेन, लखनऊ से भाटापारा के लिए दो ट्रेन, मुजफ्फरपुर बिहार से रायपुर और दिल्ली से बिलासपुर के लिए ट्रेन शामिल है।

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर प्रवासी मजदूरों को छत्तीसगढ़ लाने की कवायद शुरू कर दी गई है। इसी के तहत रेलवे स्टेशनों का अधिकारियों द्वारा निरीक्षण एवं प्रवासी मजदूरों को क्वारंटाइन करने या उनको होम क्वारंटाइन रखने की व्यवस्था का जायजा लिया गया है। छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा राज्य के बाहर फंसे मजदूरों को लाने के लिए विशेष ट्रेन की व्यवस्था के चलते केंद्र सरकार से बातचीत कर मजदूरों को लाने के लिए छत्तीसगढ़ में 8 स्टेशनों का चयन किया गया है । जहां यह विशेष ट्रेन रूकेगी। जिसमें राजनांदगांव स्टेशन का भी चयन किया गया है।

राजनांदगांव कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य, एसपी जितेंद्र शुक्ला, जिला पंचायत सीईओ तनुजा सलाम, सीएमएचओ मिथिलेश चौधरी, नगर पुलिस अधीक्षक मणिशंकर चंद्रा, नगर निगम आयुक्त चन्द्रकान्त कौशिक, कोतवाली प्रभारी वीरेंद्र चतुर्वेदी सहित आला अधिकारियों ने रविवार को रेलवे स्टेशन का निरीक्षण किया एवं बाहर से आने वाले मजदूरों की स्कैनिंग एवं उन्हें क्वारंाइन सेंटर या होम क्वारंटाइन सेंटर में रखे जाने की जानकारी ली। इसी के साथ साथ अधिकारियों का पूरा दल नया बस स्टैंड स्थित रैन बसेरा में जिसे अति संवेदनशील क्षेत्र बनाया गया है, वहां का भी निरीक्षण किया गया और इस कार्य में लगे कर्मचारियों एवं अधिकारियों को दिशा निर्देश भी दिए गए हैं।

राजनांदगांव कलेक्टर ने कहा कि अभी गाइडलाइन आई नहीं है लेकिन सुरक्षा के लिहाज से रेलवे स्टेशन का निरीक्षण किया गया है और जैसे ही गाइडलाइन आएगी, उस हिसाब से आगे की प्रक्रिया की जाएगी। इस संबंध में रेलवे स्टेशन प्रबंधक एवं आरपीएफ को समुचित दिशा निर्देश दिए गए हैं। रेलवे स्टेशन मास्टर एमपी अख्तर ने कहा कि अभी रेलवे से कोई विशेष जानकारी नहीं आई है कि ट्रेन कब आएगी लेकिन सुरक्षा के लिहाज से आज रेलवे स्टेशन का निरीक्षण किया गया है एवं बाहर से आने वाले मजदूरों की जांच कराकर उन्हें होम क्वारंटाइन या क्वारंटाइन में रखने की व्यवस्था की जा रही है।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned