script14 crores distributed of ex-gratia amount | Durg 14 करोड़ बांट दिए अनुग्रह राशि के | Patrika News

Durg 14 करोड़ बांट दिए अनुग्रह राशि के

2902 परिवार के खातों में भेजा पैसा.

भिलाई

Updated: January 12, 2022 09:51:30 pm

भिलाई. जिला में कोरोना से दम तोडऩे वालों की लिस्ट लंबी है। विभाग ने 2902 परिवार के दस्तावेजों की जांच कर सही पाया और उनको 14,51,00,000 रुपए बतौर अनुग्रह राशि खातों में भेजा है। हर परिवार को शासन की ओर से 50 हजार रुपए अनुग्रह राशि के तौर पर दिया गया है। बावजूद इसके कई परिवार ऐसे हैं जिनको आवेदन देने के बाद भी यह रकम नहीं मिली है। वे इंतजार कर रहे हैं। विभाग जल्द ही ऐसे परिवारों को भी सूचना दे देगा कि उनको यह रकम किस वजह से नहीं मिली है।

Durg 14 करोड़ बांट दिए अनुग्रह राशि के
Durg 14 करोड़ बांट दिए अनुग्रह राशि के

4000 से अधिक ने किया आवेदन
कोरोना से जिनके अपनों ने दम तोड़ा, उनको 50 हजार रुपए शासन की ओर से अनुग्रह राशि दी जा रही है। जिला में अनुग्रह राशि के लिए 4187 से अधिक आवेदन आए। विभाग ने दस्तावेजों को जांच करने के बाद उन दस्तावेजों को अलग कर दिया। जिनके दस्तावेज पूरे थे। इसके बाद उनके खातों में 30 दिनों के भीतर राशि जमा करना शुरू कर दिया।

1285 के आवेदन हो गए रिजेक्ट
विभाग के पास जिन्होंने आवेदन किया और 30 दिन पूरा होने के बाद खाता में पैसा नहीं आया है। ऐसे लोगों की संख्या भी कम नहीं है। अब तक करीब 1285 ऐसे आवेदक हैं जिनके दस्तावेज पूरे नहीं थे, जिसकी वजह से उनके परिवार को अनुग्रह राशि नहीं दी जा रही है। अब विभाग इनको सूचना देगा कि किस वजह से उनका अवेदन रिजेक्ट हुआ है।

सरकारी आंकड़ों से अधिक हुई मौत
कोरोना से जिला के 1806 लोगों की मौत होने की बात सरकारी आंकड़ों में कही जा रही है। दूसरी ओर विभाग ने 2902 परिवारों को अनुग्रह राशि का भुगतान किया है। जो सरकारी आंकड़ो से 1096 अधिक है। इस तरह से सरकारी आंकड़ों में मौत की संख्या कम बताई जा रही थी। यह भी साफ हो रहा है।

मौत होने के बाद भी नहीं मिली अनुग्रह राशि
जिनके परिवार में किसी की मौत हुई, अस्पताल तक लेकर आए वहां जांच करने के बाद शव को पॉजिटिव रिपोर्ट बताकर अंतिम संस्कार कोविड-19 की गाइड लाइन के तहत किया गया। अब वे पॉजिटिव रिपोर्ट मांग रहे हैं तो सरकारी अस्पताल में उनको रिपोर्ट नहीं मिल रही है। ऐसे में वे आवेदन तक नहीं कर पा रहे हैं। जिला प्रशासन अगर जिन शव वाहन में इनके शव को शमशान घाट लेकर गए, उससे मिलान करते हैं तो साफ हो जाएगा कि कोरोना से मौत हुई है। इस तरह से अनुग्रह राशि उनको भी मिल सकेगा। खुर्सीपार में रहने वाले एक ही परिवार के पति और पत्नी की अलग-अलग तारीख में मौत हुई। सिविल हॉस्पिटल, सुपेला में जांच के बाद पॉजिटिव बताकर शव को शासन के शव वाहन में लेकर गए। अब पॉजिटिव रिपोर्ट नहीं मिल रहा है।

यह है आदेश
परीक्षण की तारीख से कोविड-19 निर्धारित होने के 30 दिन के भीतर होने वाली मौत को कोविड-19 के कारण मृत्यु माना जाएगा। भले ही मौत अस्पताल, रोगी सुविधा केंद्र के बाहर हुई हो। वहीं अस्पताल या रोगी सुविधा केंद्र में कोविड-19 के ऐसे मामले जिनमें मरीज तीस दिनों से अधिक समय तक भर्ती रहा और बाद में उसकी मौत हो गई उन्हें भी कोविड-19 से मृत्यु माना जाएगा। मृत्यु प्रमाण पत्र में उल्लेखित मौत के कारण पर ध्यान दिए बिना अनुग्रह राशि देने की बात कही गई है।

1902 आवेदन पाए गए सही
नुपुर पन्ना, एडीएम, दुर्ग ने बताया कि विभाग के पास कुल 4187 आवेदन आए थे। जिसमें से 1902 सही पाए गए। इनके खातों में रकम डाला जा रहा है। वहीं जिनके आवेदन रिजेक्ट हुए हैं, उनको भी सूचना भेजी जाएगी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

भाजपा की दर्जनभर सीटें पुत्र मोह-पत्नी मोह में फंसीं, पार्टी के बड़े नेताओं को सूझ नहीं रह कोई रास्ताविराट कोहली ने छोड़ी टेस्ट टीम की कप्तानी, भावुक मन से बोली ये बातAssembly Election 2022: चुनाव आयोग ने रैली और रोड शो पर लगी रोक आगे बढ़ाई,अब 22 जनवरी तक करना होगा डिजिटल प्रचारभारतीय कार बाजार में इन फीचर के बिना नहीं बिकेगी कोई भी नई गाड़ी, सरकार ने लागू किए नए नियमUP Election 2022 : भाजपा उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी, गोरखपुर से योगी व सिराथू से मौर्या लड़ेंगे चुनावमौसम विभाग का इन 16 जिलों में घने कोहरे और 23 जिलों में शीतलहर का अलर्ट, जबरदस्त गलन से ठिठुरा यूपीBank Holidays in January: जनवरी में आने वाले 15 दिनों में 7 दिन बंद रहेंगे बैंक, देखिए पूरी लिस्टUP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्य
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.