जम्मू से भिलाई लौटे सीआईएसएफ के 19 जवान कोरोना से संक्रमित जिला में 218 पॉजिटिव केस, 6 ने तोड़ा दम

शास्त्री हॉस्पिटल में कोरोना जांच कराने लगी लंबी कतार.

 

By: Abdul Salam

Updated: 02 Sep 2020, 11:43 PM IST

भिलाई. केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) भिलाई इस्पात संयंत्र यूनिट और उतई यूनिट के जम्मू से 60 जवान लौटे हैं। जिसमें से अब तक 28 की जांच की जा सकी है। जिसमें से 19 जवानों की जांच रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। शेष जवानों की जांच की जानी है। पॉजिटिव आए जवानों को सुपेला के लाल बहादुर शास्त्री हॉस्पिटल में रात 8 बजे के बाद तक रोककर रखा गया था, लेकिन कोरोना केयर सेंटर लेकर जाने एंबुलेंस नहीं पहुंची थी। कोरोना जांच के साथ केयर सेंटर तक लेकर जाने तक में लेट लतीफी हो रही है। यह हर बार देखने को मिल रहा है। जिला में बुधवार को कोरोना के 218 पॉजिटिव केस मिले हैं। वहीं 6 कोरोना संक्रमितों ने आज दम तोड़ा। अब तक जिला के 104 से अधिक कोरोना संक्रमितों ने दम तोड़ा है।

जांच कराने लग रही लंबी कतार
कोरोना का प्रकोप जैसे-जैसे बढ़ता जा रहा है, वैसे-वैसे हॉस्पिटल में इसकी जांच कराने लग रही कतार लंबी होती जा रही है। स्टाफ पहले की तरह है और मरीजों की संख्या बढ़ रही है। जिससे हर किसी का जांच नहीं करवाया जा रहा है। वहीं शहरी क्षेत्र में जांच करने जा रही टीम का उपयोग उस तरह से नहीं किया जा रहा है, जिसका लाभ अधिक से अधिक लोगों को मिल सके। जिस तरह से हॉस्पिटल में भीड़ बढ़ रही है, उसको देखते हुए जांच करने के लिए व्यवस्था को बढ़ाने की जरूरत है। वह नाकाफी नजर आ रही है। इससे लोग घर बिना जांच के लौट रहे हैं और उनके संक्रमण से परिवार के दूसरे सदस्य भी प्रभावित हो रहे हैं। जांच के लिए अब अलग-अलग शिफ्ट में ड्यूटी लगाने की जरूरत है। जिससे कम कर्मियों पर अधिक दबाव न आए।

शंकरा में 40 पेसेंट आईसीयू में
जुनवानी के कोरोना केयर सेंटर, शंकराचार्य, जुनवानी में करीब 40 पेसेंट आईसीयू (गहन चिकित्सा कक्ष) में है। यहां अधिक संक्रमित मरीजों को ही रखा जा रहा है। सामान्य मरीजों को कचांदुर के कोरोना केयर सेंटर में रखा जा रहा है। इस तरह से गंभीर मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है। इससे अधिक गंभीर मरीजों को रायपुर के अलग-अलग हॉस्पिटल में रेफर किया जा रहा है।
बीएसपी के यूआरएम से तीन कोरोना पॉजिटिव
भिलाई इस्पात संयंत्र के एचआरडीसी के २८ साल के कर्मचारी, यूनिवर्सल रेल मिल के ३१ साल के ऑपरेटर कम टेक्नीशियन निवासी सेक्टर-८, यूआरएम से ही सीनियर ऑपरेटर ४८ साल, निवासी सेक्टर-1 को, यूआरएम से ही ऑपरेटर कम टेक्नीशियन २८ साल, निवासी सेक्टर-2 की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव रही है। इस तरह से यूआरएम से ३ संक्रमित हुए हैं। मेडिकल से १९ साल के कर्मचारी, निवासी सेक्टर-10, बीएसपी के पूर्व कर्मचारी ६८ साल बुजुर्ग, निवासी मिनिमाता नगर, भिलाई, पूर्व कर्मचारी ६६ साल, निवासी दुर्ग, पूर्व कर्मचारी ६१ साल, निवासी खुर्सीपार, जोन-2, १७ साल का युवक, निवासी कैंप, बीएसपी में सीएनआईटी की मैनेजर ४६ साल, निवासी सेक्टर-6, एमएसजी के सीनियर टेक्नीशियन, ५९ साल, निवासी मोगरा हाउस, एमएसजी के ५३ साल के कर्मचारी, निवासी मोगरा ब्लाक, मेडिकल से ५२ साल की कर्मी, निवासी सेक्टर-11, मेडिकल से ५० साल के कर्मचारी, बीएसपी के पूर्व कमचारी ६६ साल, निवासी इस्पात नगर, भिलाई, बीएसपी के पूर्व कर्मचारी ६२ साल निवासी प्रगति नगर, रिसाली, भिलाई, सेक्टर-9 में रहने वाले २२ साल के युवक, सूर्य विहार में रहने वाली ५८ साल की महिला, बजरंग पारा में रहने वाले २५ साल के युवक कोरोना से संक्रमित हुए हैं। 20 लोगों की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव रही है, जिसमें से 10 को होम आइसोलेशन में रहने कहा गया है।

खुर्सीपार थाना के 5 जवान पॉजिविट
खुर्सीपार थाना के 5 जवानों की कोरोना जांच रिपोर्ट बुधवार को पॉजिटिव आई है। इनकी जांच लाल बहादुर शास्त्री हॉस्पिटल, सुपेला में सोमवार को की गई थी। इसके पहले भी यहां के जवान कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। थाना के शेष जवानों का जांच करने पर वे भी संक्रमित निकले हैं।

बीएसपी का यह अधिकारी पॉजिटिव या नेगेटिव
भिलाई इस्पात संयंत्र के एक अधिकारी ने मरोदा में मंगलवार को कोविड-19 की जांच करवा ली। जिसमें वह पॉजिटिव रहा। इसके बाद उक्त अधिकारी बुधवार को सेक्टर-9 हॉस्पिटल पहुंच गया। यहां भी वह जांच कराने कतार में खड़ा हो गया। जिला प्रशासन को इसकी जानकारी एप में उसका लोकेशन देखने पर मिली। प्रशासन ने बीएसपी के अधिकारियों से कहा कि उक्त अधिकारी की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव है, वह किस तरह से सेक्टर-9 में जहां लोगों की भीड़ है, वहां मौजूद है। बीएसपी प्रबंधन की ओर से उक्त अधिकारी से पूछा गया तो उसने कहा कि सेक्टर-9 में उसने जांच करवा लिया है। जहां उसकी जांच रिपोर्ट नेगेटिव रही है।

सेक्टर-9 में मौत पर भड़के रिश्तेदार
बीएसपी के सेक्टर-9 में बुधवार की सुबह एक पूर्व कर्मचारी की उपचार के दौरान मौत हो गई। इस पर मौजूद उनके परिजन में से एक ने नाराज होकर यहां रखे कम्प्यूटर को नुकसान पहुंचाया। इसके बाद सेक्टर-9 प्रबंधन ने उसे शांत करवाया। घटना सेक्टर-9 हॉस्पिटल के डी-1 वार्ड की है।

स्वास्थ्य कर्मचारी समेत यह हुए संक्रमित
प्रभारी डॉक्टर अनिल शुक्ला ने बताया कि जिला में संजय नगर सुपेला से एक युवक, वार्ड 56 दुर्ग से एक पुरुष ,मरोदा मार्केट भिलाई से एक पुरुष ,नेहरू नगर भिलाई से एक युवक, टंकी मरोदा भिलाई से एक पुरुष, पुराना बोरसी कॉलोनी से एक युवक, वार्ड 51 दुर्ग से एक पुरुष, मैत्री विहार भिलाई से एक पुरुष, भिलाई से एक युवक, आर्य नगर कोहका से एक पुरुष, लक्ष्मी नगर रिसाली फेस टू से एक पुरुष, आर्य नगर दुर्ग से एक महिला व पुरुष, खंडेलवाल कॉलोनी दुर्ग से एक पुरुष, दुर्ग से ही एक पुरुष, अमलेश्वर पाटन से एक पुरुष, चरोदा से एक युवक, दुर्ग से तीन पुरुष, सुभाष नगर भिलाई से एक युवक, ग्राम अकोला कुम्हारी से एक युवक, भिलाई से दो पुरुष, बोरसी दुर्ग से दो पुरुष व एक महिला, लेबर कैंप जामुल से एक युवक ,वार्ड 39 भिलाई से एक महिला, सड़क 83 सेक्टर-6 भिलाई से एक युवक, राधा कृष्ण मंदिर के पास खुर्सीपार से एक पुरुष, जोन-2 खुर्सीपार से एक युवक, भिलाई से एक युवक, दुर्ग से एक पुरुष, निजी हॉस्पिटल भिलाई से एक महिला, ग्राम गनियारी वार्ड-7 से एक युवक संक्रमित पाए गए हैं।

कोरोना मरीजों का इलाज करने जिला प्रशासन ने चिंहित किया प्राइवेट हॉस्पिटल को
कोरोना मरीजों के इलाज के लिए जिला प्रशासन, दुर्ग ने कुछ निजी अस्पतालों को अनुमति दी है। मित्तल हॉस्पिटल, स्मृति नगर पूरी तरह से कोविड के लिए डेडिकेटेड हास्पिटल होगा। इसमें आईसीयू के लिए 40 बेड अलग से होंगे। इसके साथ ही वर्धमान हॉस्पिटल, स्टेशन रोड दुर्ग, आईएमआई हॉस्पिटल खुर्सीपार, बीएम शाह हॉस्पिटल सुपेला स्टील सिटी पद्मनाभपुर, एसआर हॉस्पिटल चिखली, बीएसआर एच टेक में अब कोरोना मरीजों का इलाज हो सकेगा। कोविड मरीजों से इलाज के लिए ली जाने वाली राशि निजी अस्पताल तय करेंगे। इन अस्पतालों में कोविड मरीजों का इलाज किए जाने पर सहमति बनने के बाद कलेक्टर डॉ सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने इन अस्पतालों में इलाज के लिए अनुमति दी है।

6 कोरोना संक्रमितों ने आज दम तोड़ा

दुर्ग निवासी 64 साल बुजुर्ग का मंगलवार को सेक्टर-9 हॉस्पिटल में निधन हो गया। जिनका कोरोना जांच करवाया गया। बुधवार को रिपोर्ट में वे पॉजिटिव पाए गए। इनको मंगलवार को हॉस्पिटल में दाखिल किए थे। बीएमवाय चरोदा के पंचशील नगर में रहने वाली ६५ साल की बुजुर्ग महिला को उपचार के लिए कोरोना केयर सेंटर, जुनवानी में दाखिल किया गया था। जहां बुधवार को उन्होंने उपचार के दौरान अंतिम सांस ली।कादंबरी नगर में रहने वाली 60 साल की बुजुर्ग महिला को 23 अगस्त 2020 को एम्स, रायपुर में दाखिल किया गया था। जहां बुधवार को उन्होंने अंतिम सांस लिया।

भिलाई में रहने वाली महिला ने तोड़ा दम
भिलाई में रहने वाली 50 साल की महिला ने निजी हॉस्पिटल में मंगलवार को दम तोड़ा। सांस लेने में महिला को तकलीफ थी, इस वजह से कोरोना टेस्ट करवाया गया। बुधवार को रिपोर्ट पॉजिटिव आई। दुर्ग में रहने वाली 75 साल की बुजुर्ग महिला को 26 अगस्त 2020 को हॉस्पिटल में दाखिल किए थे। रेफर कर रायपुर निजी हॉस्पिटल लेकर गए। जहां बुधवार को उन्होंने दम तोड़ा। भिलाई के एक 46 साल के व्यक्ति को रायपुर हॉस्पिटल में दाखिल किए। जहां उनकी मौत हो गई। जांच में रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव पाई गई।

COVID-19
Show More
Abdul Salam
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned