दुर्ग जिले में एक दिन में मिले कोरोना के 32 नए मरीज, दो बच्ची समेत एक ही परिवार के नौ लोग संक्रमित

दुर्ग जिले में कोरोना संक्रमण अब विकराल रूप ले रहा है। सोमवार को अब तक के सबसे अधिक 32 पॉजिटिव मरीज मिले हैं। तीन माह में यह अब तक की सबसे अधिक संख्या है।

By: Dakshi Sahu

Published: 30 Jun 2020, 01:24 PM IST

दुर्ग. जिले में कोरोना संक्रमण अब विकराल रूप ले रहा है। सोमवार को अब तक के सबसे अधिक 32 पॉजिटिव मरीज मिले हैं। तीन माह में यह अब तक की सबसे अधिक संख्या है। इस रिपोर्ट के बाद जिले में कोरना मरीजों का आंकड़ा 165 पहुंच गया है। ट्रेवल हिस्ट्री के अलावा ऐसे लोगों की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आने लगी है जो अपने कार्य क्षेत्र या फिर घर पर रहे हैं।

सोमवार को आए रिपोर्ट में क्वारंटाइन सेंटर में रहने वाले बीएसएफ के जवान समेत रूस से आया युवक, शंकराचार्य मेडिकल कॉलेज अस्पताल के स्टाफ और दो नाबालिग लड़कियां भी पॉजिटिव मिली है। सोमवार को कोविड हॉस्पिटल जुनवानी में 32 मरीज उपचारार्थ भर्ती थे। बड़ी संख्या में पॉजिटिव मरीज मिलने की वजह से स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी यह आंकलन करने लगे है कि शहर में कहीं कम्युनिटी स्प्रेड शुरू तो नहीं हो चुका है। यही वजह है कि क्वारंटाइन सेंटर में रहने वालों के अलावा पॉजिटिव में ऐसे लोगों की संख्या अधिक है जो प्राइमरी कॉन्टेक्ट में आए है। बीएसएफ के जवानों के लगातार आ रहे पॉजिटिव केस को अधिकारी कम्युनिटी स्प्रेड ही मान रहे हैं।

बीएसएफ के जवान लगातार छुट्टी से ड्यूटी पर लौट रहे हैं। ड्यूटी पर लौटने से पूर्व इन्हें क्वारंटाइन किया जा रहा है। आने वाले समय में इन्हें इनकी संख्या बढऩे से क्वारंटाइन करने अतिरिक्त भवन की जरूरत होगी। इसे देखते हुए जिला प्रशासन और बीएसएफ के अधिकारियों की समन्वय बैठक हुई। जिसमें जिला मुख्यालय के विज्ञान विकास केंद्र और रूंगटा कॉलेज को क्वारंटाइन सेंटर के रूप में उपयोग का निर्णय लिया गया। इसके अलावा ग्रामीण व शहरी इलाके के स्कूल और बड़े कम्युनिटी हॉल की जरूरत के अनुसार उपयोग का निर्णय किया गया।

बैठक में बीएसएफ के डीआईजी परदीप कत्याल ने बताया कि ट्रेनों के माध्यम से जवान ड्यूटी ज्वाइन करने लौटेंगे। इनके लिए अतिरिक्त क्वारंटाइन सेंटर की जरूरत होगी। बैठक एसएसपी अजय यादव के कक्ष में हुई। यादव व कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भूरे ने उन्हें बताया कि अतिरिक्त जरूरतों की दृष्टि से भवनों को चिन्हित किया गया है। यहां बुनियादी सुविधाओं का निरीक्षण भी अधिकारियों द्वारा कर लिया गया है। बैठक में अपर कलेक्टर प्रकाश सर्वे, सीएमएचओ डॉ. गंभीर सिंह ठाकुर व एसडीएम खेमलाल वर्मा भी मौजूद थे।

दो जवान मिले पॉजिटिव
सोमवार को आई रिपोर्ट में बीएसफ द्वारा बनाए क्वारंटाइन सेंटर में रहने वाले 2 जवान फिर से पॉजिटिव निकले है। इसमें से एक महाराष्ट्र से कार से आया है। बताया जा रहा है कि साथ आए तीन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव पहले ही आ चुकी है। वहीं एक की रिपोर्ट सोमवार को पॉजिटिव आई है। स्मृति नगर में रहने वाले बीएसएफ का अन्य जवान भी संक्रमित है। इस जवान की कोई ट्रेवल हिस्ट्री नहीं है, लेकिन वह पॉजिटिव जवान के प्राइमरी कॉन्टेक्ट में आया था।

स्क्रीनिंग करने वाली कोरोना की चपेट में
शंकराचार्य मेडिकल कॉलेज में मरीजों का स्क्रीनिंग करने वाली 2 स्टाफ नर्स समेत कार्यालय के कर्मचारी की भी टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। तीनों को कोविड हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। स्टाफ नर्स वार्ड में ड्यूटी कर रही थी। प्रबंधन ने कुछ दिन पहले ही दोनों को स्क्रीनिंग कार्य में लगाया था। अनुमान है कि स्क्रीनिंग के दौरान ही वे कोरोना की चपेट में आए है।

होगी आज से नियमित जांच
जंजगिरी बीएमवाय चरोदा निवासी युवक कोरोना पॉजिटिव निकला है। अभी वह बलौदाबजार में है। स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों ने उसे तत्काल एम्स के कोविड हॉस्पिटल में भर्ती होने की सलाह दी है। वह योजना के तहत चलने वाले अमृत फार्मेसी का कर्मचारी है। जिला अस्पताल में स्टाल किए गए ट्रू नाट मशीन से जांच मंगलवार से शुरू हो जाएगी। सिविल सर्जन डॉ. पी बाल किशोर ने बताया कि सोमवार को प्रांरभिक जांच (टेस्टिंग) के तहत कुछ सैंपल लगाए गए है। रिपोर्ट देखने के बाद मंगलवार से नियमित जांच शुरू की जाएगी।

एक ही परिवार की दो नाबालिग
बोरसी क्षेत्र की दो नाबालिग बहनों को कोरोना पॉजिटिव बताया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने संयुक्त परिवार में रहने वाली कजिन का रेण्डम जांच के तहत सैंपल कलेक्ट किया था। दोनों को सर्दी-खासी की शिकायत थी। परिवार में 18 सदस्य है और दो अलग घरों में निवास करते हैं। परिवार के मुखिया फेरी लगाकर सामान बेचता है और पेटिंग कार्य करता है।

रूस से आकर रुका था होटल में
इंटरनेशनल ट्रेवल हिस्ट्री वाला युवक कोरोना का मरीज निकला है। वह पावर हाउस भिलाई स्थित होटल अमित इंटरनेशनल में रुका था। विभाग के अधिकारियों का कहना है कि वह कुछ दिन पहले ही रुस से आया है। वह वहां पढ़ाई करने गया था। कोरोना की वजह से वह लौटा है।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned