इस शख्स का दुस्साहस तो देखों, मजिस्ट्रेट की पत्नी से ठगे चार लाख

न्यायालय के निलंबित कर्मचारी ने ही मजिस्ट्रेट की पत्नी को पेंशन दिलाने के नाम पर साढ़े चार लाख की ठगी कर ली।

By: Satya Narayan Shukla

Published: 16 May 2018, 10:18 PM IST

दुर्ग@Patrika. न्यायालय के निलंबित कर्मचारी ने ही मजिस्ट्रेट की पत्नी को पेंशन दिलाने के नाम पर साढ़े चार लाख की ठगी कर ली। पेंशन निर्धारण नहीं होने और जमा राशि भी हाथ नहीं आने पर थाने में शिकायत की गई है। चौहान टाउन निवासी उषा किरण केरकेट्टा की शिकायत पर जेवरा चौकी पुलिस ने कर्मचारी नगर निवासी सतीश श्रीवास्तव के खिलाफ धोखाधड़ी और अमानत में खयानत की धारा के तहत अपराध दर्ज किया है।

न्यायायिक मजिस्ट्रेट पति के निधन के बाद साल 2012 से ठगी
@Patrika पुलिस के मुताबिक आरोपी साल 2012 से ठगी कर रहा था। पीडि़त महिला ने बताया कि उनके पति न्यायायिक मजिस्ट्रेट थे। पति के निधन के बाद उसके अधीनस्थ कर्मचारी आरोपी सतीश का घर पर आना जाना था। आरोपी ने यह कहते हुए रुपए ऐठना शुरू किया कि पेंशन निर्धारण के लिए हाईकोर्ट जाना पड़ेगा। हाईकोर्ट के कर्मचारियों को पैसे देने पडेंगे। इसके बाद महिला ने उसे रुपए देते गई। चार साल बाद भी पेंशन निर्धारण नहीं होने पर आरोपी के खिलाफ शिकायत की।

Read more: बीमा कंपनी में फर्जीवाड़ा कर करोड़ों की ठगी करने वाले चार आरोपी दिल्ली से गिरफ्तार

पीडि़त महिला ने ठगी की शिकायत हाईकोर्ट में की थी
पीडि़त महिला ने ठगी की शिकायत हाईकोर्ट में की थी। शिकायत पर हाईकोर्ट ने पुलिस को निर्देश दिए थे कि मामले की जांच कर संबंधित न्यायालय को सूचना दें। पुलिस ने हाईकोर्ट के निर्देश पर जांच शुरू की। न्यायालय ने पुलिस के प्रतिवेदन को आधार बनाते हुए एफआईआर करने का निर्देश दिया।

Read more: करोड़ों की ठगी का आरोपी सीजी हेड एमपी से गिरफ्तार, मुखिया भाग गया अमेरिका

आरोपी की गिरफ्तारी नहीं
न्यायालय के निलंबित कर्मचारी के खिलाफ जेवरा पुलिस ने बुधवार को दोपहर एफआईआर किया। पुलिस का कहना है कि एफआईआर के बाद उसे गिरफ्तार करने आरोपी के घर गई थी। आरोपी के घर में नहीं होने से पुलिस वापस लौट आई।

Satya Narayan Shukla Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned