दुर्ग जिले में कोरोना के 5 कंटेनमेंट जोन, 100 मीटर का एरिया सील, 8 संक्रमितों के संपर्क में आने वाले 32 लोग क्वारंटाइन

महीनेभर बाद एक ही दिन में कोरोना के दुर्ग में 8 संक्रमित मिलने के बाद लॉकडाउन में ढील देने की तैयारी कर रहा प्रशासन फिर से अलर्ट मोड में आ गया है। (Coronavirus in chhattisgarh)

By: Dakshi Sahu

Published: 05 May 2020, 12:24 PM IST

दुर्ग. महीनेभर बाद एक ही दिन में कोरोना के दुर्ग में 8 संक्रमित (covid-19) मिलने के बाद लॉकडाउन में ढील देने की तैयारी कर रहा प्रशासन फिर से अलर्ट मोड में आ गया है। नए मामलों के रिपोर्ट आने के तत्काल बाद संक्रमित जहां क्वारंटाइन थे, उनके साथ आसपास के इलाकों को 5 कंटेनमेंट जोन बनाकर सील कर दिया गया। कंटेनमेंट जोन के 100 मीटर दायरे में शामिल घरों से किसी को भी निकलने की अनुमति नहीं जा रही है। क्षेत्र में आवाजाही को भी प्रतिबंधित कर दिया गया है। इसके साथ जिले में धारा 144 को फिर से प्रभावशील कर दिया गया है। पॉजिटिव पाए गए 8 व्यक्तियों के प्राइमरी कांटैक्ट में मुख्यत: परिवार के सदस्य एवं जिस आश्रय स्थल पर उन्हें रखा गया, वह लोग चिन्हांकित किए गए। इनमें इन नागरिकों के परिवार के 40 सदस्य, 5 अन्य व्यक्ति, शिविरों में रह रहे 52 अन्य श्रमिक, यहां ड्यूटी कर रहे 16 शासकीय कर्मचारी एवं 14 स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी शामिल हैं।

Read more: अमृत मिशन का सुपरवाइजर कोरोना पॉजिटिव, गोंदिया से लौटा था, संपर्क में आए 16 लोग होम क्वारंटाइन ....

कंटेनमेंट जोन में हो रहा स्वास्थ्य परीक्षण
कंटेनमेंट जोन में घर-घर स्वास्थ्य परीक्षण आरंभ कर दिया गया है। प्रथम दिन लगभग 1000 घरों में सर्वे किया गया। यह कार्य आगामी दो दिवस में पूर्ण करने का लक्ष्य है। इस कार्य के लिए स्वास्थ्य विभाग की मितानिन-कार्यकर्ता, महिला एवं बाल विकास विभाग की सुपरवाइजर, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की ड्यूटी लगाई गई है। सभी विभागों को मिलाकर इस कार्य के लिए 400 से अधिक अधिकारी-कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है।

जिले में इससे पहले महीनेभर से कोरोना का एक भी नया मामला नहीं आया था। इसके चलते जिला प्रशासन द्वारा ग्रीन जोन को लेकर केंद्र द्वारा जारी गाइड लाइन के तहत लॉक डाउन में ढील देने की तैयारी की जा रही थी। नए मामले आने के तत्काल बाद सभी जगहों को सील कर कलेक्टर अंकित आनंद ने जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ स्थिति की समीक्षा की। इसके बाद रात में ही सभी संक्रमितों के प्राइमरी कान्टेक्ट्स की जानकारी जुटाई गई।

बाहर निकलने की अनुमति नहीं
कंटेनमेंट जोन में सभी दुकानें और अन्य वाणिज्यिक संस्थान बंद रहेंगे। इस दौरान घर पहुंच सेवा के माध्यम से आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई की जाएगी। कंटेनमेंट जोन में सभी प्रकार के वाहनों की आवाजाही प्रतिबंधित रहेगी। मेडिकल इमरजेंसी को छोड़कर अन्य कारणों से घर से बाहर निकलने की अनुमति नहीं होगी।

कंटेनमेंट जोन सील पुलिस का पहरा
कंटेनमेंट जोन को सील करने के साथ ही किसी भी तरह का मूवमेंट न हो इसके लिए पुलिस का पहरा बैठा दिया गया है। रिपोर्ट आने के तत्काल बाद भी इन इलाकों के आने-जाने के रास्तों को बंद कर 100-100 जवानों की टीम तैनात कर दी गई थी। कंटेनमेंट जोन निगरानी के लिए पुलिस लगातार पेट्रोलिंग कराई जा रही है।

संपर्क में आए 32 सभी क्वारंटाइन
पॉजिटिव रिपोर्ट के बाद जिला प्रशासन द्वारा प्रभावितों की हिस्ट्री खंगालकर संपर्क में आए लोगों की पहचान की गई। इसमें 32 लोग सामने आए। इन लोगों की भी तत्काल जांच कर क्वारंटाइन किया गया। संपर्क वाले 25 लोगों को मेरी गोल्ड परिसर में और 7 लोगों को अग्रसेन भवन सेक्टर 4 में क्वारंटाइन किया गया।

100 मीटर में रहने वाले हर व्यक्ति की जांच
कलेक्टर ने संबंधित इलाके को कंटेनमेंट जोन घोषित करने के साथ 100 मीटर के दायरे में आने वाले सभी घरों के प्रत्येक व्यक्ति की जांच के निर्देश दिए हैं। यह कार्य स्वास्थ्य विभाग द्वारा सीएमएचओ के नेतृत्व में सोमवार की सुबह शुरू कर दिया गया है। इसके अलावा प्रभावितों के संपर्क में आए सभी लोगों की जांच के लिए कहा गया है।

इन इलाकों को कंटेनमेंट जोन
घोषित किया गया
कुम्हारी नगर पालिका निगम के अंतर्गत वार्ड-10
कुम्हारी नगर पालिका निगम के अंतर्गत वार्ड-11
दुर्ग नगर निगम के अंतर्गत आनंद विहार कॉलोनी बोरसी
जामुल के अंतर्गत घासीदास पारा
भिलाई नगर निगम के ईडब्लूएस हाउसिंग बोर्ड

coronavirus
Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned