दल्ली में बनेगा 5 करोड़ से 100 बिस्तर का अस्पताल

दल्ली में बनेगा 5 करोड़ से 100 बिस्तर का अस्पताल

Dileshwar Prasad Chandrakar | Publish: Jul, 13 2018 06:46:57 PM (IST) | Updated: Jul, 13 2018 07:01:10 PM (IST) Dalli Rajhara, Chhattisgarh, India

अनुपूरक बजट में मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने अस्पताल खोलने का प्रस्ताव किया शामिल

दल्लीराजहरा. बालोद जिले के सबसे बड़े नगर पालिका परिषद क्षेत्र की सबसे बड़ी आवश्यकता स्वास्थ्य रक्षा की ओर राज्य शासन ने ध्यान दिया है। एक बड़े अस्पताल की दो दशक से मांग थी। इस मांग को राज्य शासन ने अनुपूरक बजट में शामिल कर क्षेत्रवासियों को बड़ी राहत भरी पहल किया है। १०० बिस्तर अस्पताल के भवन निर्माण के लिए लगभग पांच करोड़ की स्वीकृति दे दी है। वहीं सौ से अधिक चिकित्सा स्टॉफ नियुक्ति को भी पारित करवाया है।
ज्ञात रहे कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने विकास यात्रा के दौरान राजहरा प्रवास पर जनप्रतिनिधियों की मांग पर 5 जून को किए अपने वादे को पूरा किया है।

नगरवासियों की बहुप्रतीक्षित मांग 100 बिस्तर अस्पताल निर्माण के लिए सरकार ने 4.74 करोड़ रुपए अनुपूरक बजट में शामिल कर लिया गया है। इस अस्पताल में 25 डॉक्टर, 70 पैरामेडिकल व 10 प्रशासनिक स्टॉफ सहित अन्य कर्मचारियों की नियुक्ति की जाएगी। इस सूचना से नगरवासियों को बड़ी खुशी हुई है।
घोषणा के आठ साल बाद सरकार को आई याद
गौरतलब हो पत्रिका ने इस संबंध में 16 दिसंबर 2017 एवं 6 मई 2018 और ५ जून से अब तक लगातार प्रमुखता के साथ समाचार प्रकाशित कर दल्ली की स्थिति को सामने लाई जा रही है। इसमें अस्पताल सहित नगर की अन्य मूलभूत सुविधाओं की आवश्यकता को सरकार तक पहुंचाई जा रही है।

इसी के तरह नगरवासियों की बहुप्रतीक्षित मांग कि यहां एक सरकारी अस्पताल हो, के निर्माण के लिए मुख्यमंत्री ने लगभग 8 वर्ष पूर्व घोषणा तो कर दी गई थी, परंतु शासकीय जमीन के अभाव मेंं इसके निर्माण को लेकर बाधाएं आ रही थी। इसके लिए एक ही विकल्प था कि भिलाई इस्पात संयंत्र द्वारा पूर्व में संचालित बीएसपी हाई स्कूल क्रमांक तीन की पांच एकड़ जमीन। बाद में मामले में जनप्रतिनिधियों सहित अनेक संगठनों की मांग पर बीएसपी प्रबंधन ने विधिवत रजिस्ट्री कर शासन को हाई स्कूल भवन की पांच एकड़ जमीन सौंपी गई। अब उसी में अस्पताल भवन बनेगा।

सुविधा के लिए लगातार भीड़े रहे संगठन

मामले में 20 वर्षों से लोग एक शासकीय अस्पताल की मांग करते रहे हैं। इसके लिए राजनीतिक दल, सामाजिक संगठन, श्रमिक यूनियनों एवं नगर पालिका के जनप्रतिनिधियों ने समय-समय पर मुख्यमंत्री, स्वास्थ्य मंत्री, सांसद, विधायक, कलक्टर को मांगपत्र सौंपकर उनसे नगर मेंं बेहतर स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराने की मांग की जाती रही है। पर लगभग 8 वर्ष पूर्व अपने विकास यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री ने राजहरावासियों को अस्पताल की सुविधा मुहैया कराने की घोषणा की थी जो पूरा होने जा रहा है।

विडंबना है कि नगर में नहीं एक भी शासकीय अस्पताल
लगभग 45 हजार की आबादी वाले इस नगर मेें एक भी शासकीय अस्पताल नहीं होने के कारण यहां के लोगों को मजबूरन निजी अस्पतालों की शरण लेनी पड़ती है। चूंकि लौह अयस्क नगरी दल्लीराजहरा माइंस क्षेत्र होने के कारण यहां मजदूरों की संख्या ज्यादा है। ऐसे में शासकीय अस्पताल नहीं होने के कारण गरीब तबके के लोगों को निजी अस्पतालों में जाकर मंहगा ईलाज कराना पड़ता है। वहीं कई मौकों पर ईलाज के लिए उन्हें आर्थिक परेशानियों से भी जूझना पड़ता है। अब जाकर मिलने की उम्मीद जगी है। इस अस्पताल के निर्माण से नगर के साथ आदिवासी विकासखण्ड डौण्डी की जनता को भी सस्ती और अच्छी चिकित्सा सुविधाओं का लाभ मिल पाएगा। उन्हें रायपुर, भिलाई तक दौड़ लगाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

जमीन मिली, पर भी भवन निर्माण व बजट जारी करने में हो रही थी देरी
दल्लीराजहरा में एक ओर बीएसपी, तो दूसरी ओर रेलवे की जमीन है। नगर पालिका परिषद् के पास स्वयं की जमीन नहीं होने के कारण यहां अनेक विकास कार्यों में बाधाएं आती रहती है। मामले में नगर को उपेक्षित होते देख सभी राजनीतिक पार्टियों के जनप्रतिनिधियों व संगठनों ने एकजूटता दिखाते हुए प्रदेश सरकार से नगर में बीएसपी की खाली पड़ी जगह पर उक्त अस्पताल के निर्माण की मांग निरंतर जारी रखी। तब बीएसपी के आला अधिकारियों को पत्र भेजकर स्कूल की खाली जमीन की मांग की गई।

तब प्रशासन की पहल पर 2.04 हेक्टेयर अर्थात पांच एकड़ की जमीन को शासन को नि:शुल्क विधिवत हस्तांतरित कर दिया गया था। इसके लिए 13 दिसंबर 2018 को शासन की ओर से जिला कलेक्टर डॉ. सारांश मित्तर एवं बीएसपी की ओर से एजीएम माइंस एसके मिश्रा ने अपने अपने हस्ताक्षर किए हैं। पर भी प्रदेश सरकार ने इसमें लेट कर दी थी।

अब भूमिपूजन का है इंतजार
अस्पताल भवन निर्माण के लिए अब तो तेजी से काम करने की है। इसके लिए पहले काम शुरू कराने के लिए भूमिपूजन करने का लोगों को इंतजार रहेगा। इस संबंध में भाजपा के वरिष्ठ गोङ्क्षवद वाधवानी ने कहा राजहरावासियों के लिए यह बहुत हर्ष का विषय है कि पुरानी मांग 100 बिस्तर अस्पताल को सीएम डॉ. रमन सिंह ने घोषणा को अमल में लाते हुए अस्पताल निर्माण के लिए राशि को बजट मेंं शामिल कर लिया है। अब जल्द ही सांसद विक्रम उसेंडी के साथ राजहरा का एक प्रतिनिधिमण्डल मुख्यमंत्री से भेंट कर उन्हें अस्पताल निर्माण के लिए भूमिपूजन करने आमंत्रित करेंगे।

बहुप्रतीक्षित मांग पूरा होते नजर आ रही
नगर पालिका अध्यक्ष काशीराम निषाद ने इस संबंध मेंं कहा लंबे अरसे से नगर की जनता को एक शासकीय अस्पताल की आवश्यकता थी। उसे अनुपूरक बजट में शामिल कर सीएम ने उम्मीद जगा दी है। इसके लिए मुख्यमंत्री, स्वास्थ्य मंत्री, जिला प्रभारी मंत्री, विधायक, सांसद सहित तमाम प्रशासनिक अधिकारियोंं से भेंट कर उन्हें ज्ञापन सौंपकर 100 बिस्तर अस्पताल की मांग करते रहे। अब तमाम संघर्षों के बाद जनता की यह बहुप्रतीक्षित मांग पूरा होते नजर आ रही है। जो आसपास ग्रामीण क्षेत्र के लोगों के लिए भी प्रशन्नता की बात है। हम मुख्यमंत्री से आग्रह करते हैं कि वे जल्द ही प्रशासनिक प्रक्रियाओं को पूरा कर अस्पताल की नींव रखेे।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned