कोरोना टीकाकरण में तकनीक बनी बाधा, 8.30 घंटे CG TEEKA APP का सर्वर डाउन, बिना वैक्सीन लगाए लौटे लोग

Corona vaccination in chhattisgarh: CG TEEKA APP की तकनीकी समस्या थमने का नाम नहीं ले रही है। बुधवार को साढ़े आठ घंटे पोर्टल बंद रहने के कारण कोरोना टीकाकरण कार्यक्रम बुरी तरह प्रभावित रहा।

By: Dakshi Sahu

Updated: 20 May 2021, 12:31 PM IST

भिलाई. CG TEEKA APP की तकनीकी समस्या थमने का नाम नहीं ले रही है। बुधवार को साढ़े आठ घंटे पोर्टल बंद रहने के कारण कोरोना टीकाकरण कार्यक्रम बुरी तरह प्रभावित रहा। दुर्ग जिले के कई वैक्सीनेशन सेंटर (Corona vaccination center in Durg) में बुधवार को सुबह 7 बजे के बाद से पंजीयन होना बंद हो गया। इस पोर्टल में पंजीयन करवाने की कोशिश करने वालों ने देखा कि लिखा हुआ आ रहा है शेड्यूलिंग क्लोस्ड फॉर सम टाईम। इसके आगे बढ़ नहीं रहा। जिसके कारण लोग सुबह से सेंटर्स में पहुंचे जरूर, लेकिन निराश होकर घर लौटे। दोपहर बाद फिर पोर्टल खुला, तब सेंटर्स में हितग्राही लौटे और टीका लगवाए।

Read more: 18+ टीका, CM के गृह जिले में पार्षदों और नेताओं के कब्जे में वैक्सीनेशन सेंटर, भीड़ बाहर खड़ी ये अपनों को बुलाकर लगवा रहे वैक्सीन .....

17 लोगों को टीका लगाने के बाद हाथ पर हाथ धरे बैठे रहे कर्मी
भिलाई अंडा चौक, खुर्सीपार के वैक्सीनेशन सेंटर में रात 12 से सुबह 7 बजे के मध्य जिन्होंने पंजीयन करवाया था, उन 17 में से 16 ने पहुंचकर टीका लगवा लिया। इसके बाद पंजीयन नहीं होने से लोग परेशान होते रहे। इस दौरान पंजीयन से संबंधित जानकारी लेने कई लोग आ रहे थे। मौजूद कर्मी उनको पंजीयन करने का तरीका बता रहे थे। इस काम में ही पूरा समय बीत रहा था।

8.30 घंटे बाद खुला पोर्टल
बुधवार को सुबह 7 बजे से बंद पोर्टल दोपहर बाद करीब 3.30 बजे के बाद खुला। तब स्वास्थ्यकर्मियों ने लोगों को फोन करके बुलाया गया। इसके बाद 10 वायल से यहां के करीब 106 लोगों को टीका लगाया गया। शाम हो गई थी, इस लिए दो वायल लेकर टीम को लौटना पड़ा। वर्ना और 22 लोगों को टीका लगाया जा सकता था।

छावनी में सिर्फ 9 हितग्राहियों को लगा वैक्सीन
पोर्टल में एरर की वजह से छावनी में बुधवार सुबह से दोपहर 3.30 बजे तक सिर्फ 9 हितग्राहियों को ही टीका लगाया जा सका। शाम तक यहां 44 डोज लगाया जा सका। इसी तरह से पावर हाउस बस स्टैंड में 18 हितग्राहियों को दोपहर तक टीका लगाया गया था, शाम तक 47 जा सका। हुडको में सुबह से सिर्फ 45 लाभार्थियों को ही टीका लगाया गया था। इसके बाद से पंजीयन बंद था, वहां शाम को फिर लोग आने लगे तो देर शाम तक वैक्सीनेशन जारी रहा। इस तरह से 121 लोगों को टीका लगाया गया।

हर सेंटर को 12 वायल दिया जा रहा
हर सेंटर को 12 वायल दिया जा रहा है। वैक्सीनेटर 11-11 डोज हर वायल में लगा रहे हैं। अब मॉनिटरिंग करने वाले उनको फोन करके दस डोज लगाने के लिए ही कह रहे हैं। असल में राज्य सरकार हर डोज का पैसा दे रही है। विभाग में कुछ ऐसे जिम्मेदार भी मौजूद हैं, जो चाहते हैं कि सरकार का अधिक से अधिक पैसा वैक्सीन खरीदने में लगे। इस वजह से वे खास तौर पर वैक्सीनेटर को फोन करके दस डोज लगाने ही कह रहे हैं। चीफ मेडिकल हेल्थ ऑफिसर के अधीन यह काम किया जा रहा है। इसकी शिकायत एक वैक्सीनेटर ने की है।

Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned