ADG के करीबियों पर ACB कस सकता है शिकंजा, दुर्ग से सीनियर IPS का कंप्यूटर जब्त, साइबर एक्सपर्ट करता था सिस्टम हैक

ACB Raid: दुर्ग कादंबरी नगर में रहने वाले जीपी सिंह के साइबर एक्सपर्ट मणिभूषण के मकान में एक टीम ने छापा मारा। जहां से कंप्यूटर को जब्त किया।

By: Dakshi Sahu

Published: 03 Jul 2021, 06:13 PM IST

भिलाई. छत्तीसगढ़ में ACB (एंटी करप्शन ब्यूरो) ने बड़ी कार्रवाई करते हुए पुलिस अकादमी के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक जीपी सिंह (IPS GP Singh) के करीब 15 ठिकानों पर छापा मारा हैं। इस तारतम्य में दुर्ग कादंबरी नगर में रहने वाले जीपी सिंह के साइबर एक्सपर्ट मणिभूषण के मकान में एक टीम ने छापा मारा। जहां से कंप्यूटर को जब्त किया। कंप्यूटर ऑपरेटर पर खुफिया सिस्टम से फोन सुनने और हैक करने का शक है। एसीबी के आधिकारियों से मिली जानकारी के मुताबिक दुर्ग रेंज में आईजी के पदस्थापना के दौरान भयादोहन कर जबरदस्त तरीके से अवैध वसूली की गई थी। इसमें उनके काम करने वाले कर्मचारी और संपर्क में रहने वाले उद्योगपति शिक्षाविद, होटल व्यवसायी, अपराधिक कार्यो में लिप्त उनके संपर्की और पत्रकार जो प्लांटेड खबरे छापते थे वे शामिल हैं। ऐसे लोगों की पूरी लिस्ट एसीबी की टीम ने तैयार किया है। इस सभी कर गाज गिर सकती है।

पुलिस विभाग के कई कर्मियों के नाम
दुर्ग रेंज आईजी रहे जीपी सिंह ने भयादोहन कर अवैध वसूली करने की शिकायतें लगातार एसीबी को मिल रही थी। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक एसीबी ने पहले उनके साथ कार्य करने वाले अधिकारियों और कर्मचारियों की लिस्ट तैयार की। इसमें कुछ आरक्षक और प्रधान आरक्षक भी शामिल है। इन सबसे भी एसीबी पूछताछ करेगी। जीपी सिंह के ठिकानों पर छापे के बाद पुलिस विभाग के साथ ही उनके संपर्क में रहने वालों के बीच हड़कंप मच गया है।

सिविलियन में इनकी बनाई गई लिस्ट
एसीबी ने जीपी सिंह के नजदीकी रहे सामजिक कार्यकर्ता, शिक्षाविद, उद्योगपति, होटल व्यवसायी, बड़ा कबाड़ी, काला तेल का काम करने वाले लोग, पीडब्ल्यूडी के बड़े ठेकेदार, भिलाई स्टील प्लांट के ट्रांसपोर्टर का काम करने वाले लोग, क्रिेकेट सटोरिए, अवैध गुटखा व्यापारी शामिल है। एसीबी को यह भी पता चला है कि रसमड़ा की एक इस्पात कारखाना में नक्सल क्षेत्र के अवैध माइनिंग कर उनके संरक्षण में लोहा तैयार किया जाता था। उसकी भी जांच होगी। इसके अलावा दुर्ग के कई पत्रकारों के नाम है जो प्लांटेड खबरे प्रकाशित करते थे। उनके घर पर सब्जी या फिर लजीज व्यंजन पहुंचाते थे। यह भी बताया जाता है कि राजनांदगांव में पत्रकारों से मिलकर करोड़ों की जमीन मामले में हेराफेरी की है। उसकी भी एसीबी जांच करेंगी।

ACB की छापेमार कार्रवाई जारी

छत्तीसगढ़ के सीनियर IPS अफसर जीपी सिंह के रायपुर स्थित सरकारी बंगले में 54 घंटे से ACB की छापेमार कार्रवाई जारी है। गुरुवार सुबह 6 बजे जांच टीम जीपी सिंह के सरकारी बंगले में दाखिल हुई थी। शनिवार की दोपहर तक टीम वहीं जमी हुई है। सूत्रों के मुताबिक विदेशों में खाते और निवेश संबंधी कई ऐसे अहम दस्तावेज मिले हैं जिनकी पड़ताल जीपी सिंह के घर पर ही की जा रही है। पिछले 54 घंटों से ADG जीपी सिंह अपने घर में बंद हैं। उनके साथ उनका बेटा और परिवार के अन्य सदस्य भी हैं। सिंह ने फोन पर कुछ लोगों से बात भी की है, मगर ACB की नजर उन पर बनी हुई है। कुछ कागजों में अफसर और नेताओं के नाम भी मिले हैं। जानकारी के मुताबिक सिंह की फिलहाल गिरफ्तारी नहीं होगी। आज छापे की कार्रवाई पूरी हो सकती है और एसीबी टीम बंगले से निकल सकती है।

Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned