कोविड 19 : दो करोड़ खर्च होने के बाद एक साल में हेमचंद विवि के भवन का काम हुआ मात्र 20 फीसदी

दुर्ग पोटियाकला में हेमचंद यादव विश्वविद्यालय के प्रशासनिक भवन का रुका हुआ काम शुरू हो गया है। फिलहाल, 10 हजार स्क्वायर फीट में पहला फ्लोर ढलाई हो पाई है। इसमें अभी 4 और फ्लोर बनेंगे।

By: Satya Narayan Shukla

Updated: 28 May 2020, 12:35 AM IST

भिलाई@Patrika. दुर्ग पोटियाकला में हेमचंद यादव विश्वविद्यालय (Hemchand Yadav University) के प्रशासनिक भवन का रुका हुआ काम शुरू हो गया है। फिलहाल, 10 हजार स्क्वायर फीट में पहला फ्लोर ढलाई हो पाई है। इसमें अभी 4 और फ्लोर बनेंगे। कुल मिलाकर अगले दो साल में ही भवन बनकर तैयार हो पाएगा। (Bhilai patrika news) इतने कंस्ट्रक्शन में ही विवि ने करीब दो करोड़ रुपए खर्च किया है, जबकि पूरा भवन बनने में 14 से 17 करोड़ खर्च आएगा। कुछ महीने पहले विवि की कुलपति डॉ. अरुणा पल्टा ने पोटिया में विवि को दी गई जमीन और उससे लगा एरिया विवि के लिए बेहतर नहीं बताया था। वह विवि के प्रशासनिक भवन और यूटीडी बिल्डिंग के लिए नई जगह तलाश कर रही थीं। इसके लिए कलेक्टर ने मिलकर कुछ स्पॉट देखे भी थे, लेकिन बात नहीं बन पाई।

लॉकडाउन से काम हुआ धीमा
सालभर से हेमचंद विवि का निर्माण कार्य जारी है, लेकिन इतने समय में सिर्फ एक फ्लोर भी बनकर तैयार नहीं हुआ है। लॉकडाउन की वजह से मजदूरों की कमी और संक्रमण को देखते हुए बीच में काम रोक दिया गया था, जिसे अब दोबारा से शुरू कराया गया है। विवि अधिकारियों का कहना है कि पूरा प्रोजेक्ट करीब दो साल के आसपास पूरा होगा।

पोटिया में विवि की 40 एकड़ जमीन
प्रशासनिक भवन का निर्माण पोटियाकला दुर्ग में मिली 40.88 एकड़ जमीन पर हो रहा है। विवि को शासन ने पोटियाकला में जो जगह दी है, वह तीन तरफ से शनशान घाट से घिरी हुई है। यही नहीं विवि जिस जगह पर बनेगा, वह दुर्ग नगर निगम का ट्रेंचिंग ग्राउंड है। बीते दिनों हुए कार्यपरिषद की बैठक में सभी सदस्यों के सामने भी जमीन की वास्तिविक स्थिति दिखाई गई थी, जिसमें सभी ने इस पर आपत्ति जताई थी। यह जमीन यू शेप में टुकड़ों में बटी हुई है। ऊपर से लोलैंड होने और नाले की वजह से कैंपस में पानी भरने की संभावना रहेगी। कार्यपरिषद के सभी सदस्यों ने जगह बदल देने के प्रस्ताव पर मुहर लगाई थी। हालांकि विवि भवन बनाने का खर्च और जमीन को बर्बाद नहीं कर सकता इसलिए यहां प्रशासनिक भवन बनाने की ही तैयारी है। यूटीडी की प्लानिंग कहीं और होगी।

20 करोड़ तक का प्राकलन
पोटियाकला में हेमचंद विवि का प्रशासनिक भवन बनाने के लिए पीडब्ल्यूडी ने 20 करोड़ रुपए का प्राक्लन तैयार किया। इसके बाद शासन ने निर्माण कार्यों के लिए 14 करोड़ रुपए की स्वीकृति दे दी। पहली किश्त के रूप में पीडब्ल्यूडी को 5 करोड़ रुपए सौंप दिए गए। विवि प्रशासन ने ही स्पष्ट किया है कि अभी तक निर्माण कार्य में करीब 1.72 करोड़ का खर्च हुआ है। यानी विवि ने भले ही अभी नई जगह तलाशने का निर्णय ले लिया, लेकिन इसमेंं निर्माण कार्य में काफी रुपए खर्च किए जा चुके हैं।

कुलपति ने शासन स्तर पर बात की

डॉ. सीएल देवांगन, कुलसचिव, हेमचंद विवि ने कहा कि पोटियाकला में विवि के प्रशासनिक भवन का काम शुरू हो गया है। लॉकडाउन से काम प्रभावित हुआ है। नई जगह के लिए अभी निर्णय नहीं हुआ है। वैसे भी यह भवन काम में लिया जाएगा। नई जगह के बारे में कुलपति ने शासन स्तर पर बात की है।

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर ..ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News App.

Satya Narayan Shukla Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned