कोरोना संकट में CG के लिए राहत भरी खबर, दुर्ग के छह कोविड मरीजों को संक्रमण मुक्त होने पर एम्स ने किया डिस्चार्ज

कोरोना संकट के दौर में दुर्ग जिले के लिए आज राहत की खबर आई है। एम्स रायपुर ने दुर्ग जिले के छह कोरोना मरीजों को पूरी तरह संक्रमण मुक्त होने के बाद रविवार दोपहर डिस्चार्ज कर दिया है। (Coronavirus in chhattisgarh)

By: Dakshi Sahu

Updated: 10 May 2020, 06:01 PM IST

दुर्ग. कोरोना संकट (COVID-19) के दौर में दुर्ग जिले के लिए आज राहत की खबर आई है। एम्स रायपुर ने दुर्ग जिले के छह कोरोना मरीजों को पूरी तरह संक्रमण मुक्त होने के बाद रविवार दोपहर डिस्चार्ज कर दिया है। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव और एम्स की ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट में पोस्ट के जरिए छह मरीजों के ठीक होने की जानकारी दी गई है। इधर शनिवार देर रात कवर्धा जिले के तीन मरीजों को भी एम्स प्रबंधन ने संक्रमण मुक्त होने पर डिस्चार्ज कर दिया था। वहीं शुक्रवार को एम्स में भर्ती एक और कोरोना पॉजिटिव मरीज स्वस्थ होकर दुर्ग लौट गया है।

मरीजों के ठीक होकर लौटने से दुर्ग स्वास्थ्य विभाग ने थोड़ी राहत की सांस ली है, लेकिन संक्रमित राज्यों से आने वाले श्रमिकों को लेकर उनकी चिंता बढ़ गई। क्योंकि जिले में 10 संक्रमित मिले थे वे सब बाहर से आए थे। इसी वजह से प्रशासन अलर्ट है। अन्य राज्यों में फंसे श्रमिक ट्रेन से लाए जाएंगे। कब आएंगे यह तय नहीं हुआ है पर सोमवार के बाद कभी भी उनके आने की सूचना मिल सकती है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का कहना है कि बाहर से आने वाले श्रमिक उनके लिए चुनौती से कम नहीं है। इसी कारण जुनवानी स्थित शंकराचार्य मेडिकल कॉलेज को फिर से अपडेट किया जा रहा है।

कोरोना संकट में छत्तीसगढ़ के लिए राहत भरी खबर, दुर्ग के छह कोविड मरीजों को संक्रमण मुक्त होने पर एम्स ने किया डिस्चार्ज

शंकराचार्य में तैयारी का फिर लिया जा रहा जायजा
चिकित्सा अधिकारियों का कहना है कि अगर बाहर से आने वाले संक्रमित पॉजिटिव आता है तो अब तक की मेहनत पर पानी फिर सकता है। इसलिए वे विशेष एहतियात बरत रहें हैं। हालांकि बाहर राज्य से श्रमिक कब आएंगे यह निर्धारित नहीं है कि लेकिन तैयारियों को अंतिम रुप देने का काम किया जा रहा है। प्रशासन ने जिला अस्पताल प्रशासन को निर्देश दिया है कि वे शंकराचार्य मेडिकल कॉलेज की व्यवस्था का जायजा नए सिरे से ले। बिस्तर के आधार पर डॉक्टर, स्टाफ नर्स व वार्ड ब्वाय का सेटअप तैयार करे।

आंनद मंगलम हुआ खाली, सभी लौटे घर
संभावितों को स्वास्थ्य विभाग आइसोलेशन वार्ड तैयार कर रख रहा है। वर्तमान में आइसोलेशन वार्ड आनंद मंगलम और अग्रसेन भवन को बनाया गया है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का कहना है कि 14 दिनों की निगरानी पूर्ण होने पर आंनद मंगलम में रहने वाले सभी संभावितों को छुट्टी दे दी गई है। यहां 18 लोग रखे गए थे।

आज फिर भेजे 45 सैंपल, अब तक 1835 की रिपोर्ट निगेटिव
जिले में10 संक्रमित मरीज एम्स में भर्ती कराए गए थे। जिसमें से सात मरीज इलाज के बाद स्वस्थ हो गए हैं। शेष संक्रमितों का इलाज चल रहा है। शनिवार को जांच के लिए 45 सैंपल फिर भेजे गए। अब तक जिले से 1888 लोगों को सैंपल भेजा जा चुका है। जिसमें से 1835 लोगों के रिपोर्ट निवेटिव आई है। अब 84 सैंपल का रिपोर्ट आना बाकी है।

क्वारंटाइन में हैं अब 73 लोग
जिले के एक आइसोलेन व तीन क्वारंटाइन सेंटर में 73 लोग रखे गए हैं। पहले यह संख्या 129 थी। बाकी लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आने व 14 दिन की मियांद पूरी होने के बाद घर भेज दिया गया है। सबसे अधिक 47 लोग मैरी गोल्ड क्वारंटाइन सेंटर में रखे गए हैं।

coronavirus coronavirus cases
Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned