Breaking news जिला अस्पताल की तीनों सीबीसी मशीन खराब, दो वारंटी पीरियड में

खुर्सीपार में सिर्फ एक बार उपयोग होने के बाद धूल खा रही थी सीबीसी मशीन.

By: Abdul Salam

Published: 03 Jul 2021, 10:04 PM IST

भिलाई. डेंगू रोधी माह चल रहा है, जुलाई से ही डेंगू के मरीजों का अस्पताल में पहुंचना शुरू होता है। जिसके मरीजों का प्लेट लेट जांच करने के लिए सीबीसी मशीन का उपयोग किया जाता है। जिला अस्पताल, दुर्ग में इसकी तीन मशीन है। तीनों मशीन खराब है। इसी तरह से खुर्सीपार के सरकारी अस्पताल में भी यह मशीन एक पार्ट की कमी के कारण धूल खा रही थी। यही वजह है कि मरीजों को सीबीसी जांच किए बिना ही लौटाया जा रहा था।

एक मरीज को लौटाए तीन सरकारी अस्पतालों ने
खुर्सीपार की एक डेंगू सस्पेक्टेड मरीज को बापू नगर, खुर्सीपार से गुरुवार को और जिला अस्पताल, दुर्ग से शुक्रवार को सीबीसी मशीन खराब होने की बात कहते हुए लौटा दिए थे। उक्त मरीज के रक्त सिरम की शनिवार को एलाइजा जांच किए, जिसमें जांच रिपोर्ट नेगेटिव रही है।

वारंटी पीरियड में है मशीन
जिला अस्पताल, दुर्ग और अन्य अस्पतालों में नई मशीन दी गई है। जिला अस्पताल में सीबीसी जांच के लिए दो नई मशीन दी गई है। दोनों ही खराब पड़ी है। वारंटी पीरियड के दौरान इन मशीनों को शिकायत मिलते ही तुरंत सुधार किया जाना चाहिए। यहां ऐसा नहीं हो रहा है। अस्पताल प्रबंधन की ओर से बार-बार शिकायत करने के बाद भी दोनों ही मशीन में सुधार करने के लिए कंपनी से मैकेनिक नहीं आ रहे हैं। अस्पताल प्रबंधन इसको लेकर बार-बार पत्र लिख रहा है।

पुरानी मशीन का नहीं मिल रहा पार्ट
जिला अस्पताल, दुर्ग में एक पुरानी मशीन है, वह मशीन भी खराब है। अच्छी क्वालिटी की मशीन है, लेकिन पार्ट्स नहीं मिलने की वजह से उसकी मरम्मत नहीं हो पा रही है। अस्पताल प्रबंधन कम से कम उस मशीन को शुरू करने की कोशिश कर रहा है। जिससे मरीजों को बिना जांच के लौटाया न जा सके।

रिजेंट नहीं होने की वजह से शो पीस बन गई थी मशीन
खुर्सीपार के सरकारी अस्पताल में यह मशीन करीब एक साल पहले दी गई है। यहां के लैब टेक्नीशियन को कंपनी ने एक बार इसे ऑपरेट करना सिखाया। इसके बाद मशीन का रिजेंट खराब हो जाने की वजह बंद पड़ी थी। शनिवार को अस्पताल की प्रभारी डॉक्टर ने बताया कि रिजेंट आज ही लैब टेक्नीशियन को दिए हैं। कंपनी की ओर से एक बार आकर लैब टेक्शनीशियन को मशीन ऑपरेट करना सिखाना होगा। इसके बाद इसका संचालन अस्पताल में कर लिया जाएगा। जब तक कंपनी की ओर से यहां के लैब टेक्नीशियन को ऑपरेट करने का सही तरीका नहीं बताया जाता, तब तक यह मशीन शो-पीस बन कर रखी रहेगी।

तीनों सीबीसी मशीन है खराब
सिविल सर्जन व प्रभारी जिला अस्पताल, दुर्ग डॉक्टर पुनित बालकिशोर ने बताया कि जिला अस्पताल, दुर्ग की तीनों सीबीसी मशीन खराब है। इस वजह से डेंगू सस्पेक्टेड मरीजों को बिना जांच के लौटाया जा रहा है। दो मशीन वारंटी पीरियड में है, दोनों ही मशीनों के मरम्मत को लेकर कंपनी को पत्र लिखा जा रहा है। कंपनी से एक्सपर्ट नहीं आ रहे हैं। तीसरी मशीन पुरानी है, उससे काम चलाया जा सकता था, लेकिन पुरानी मशीन के पाटर््स नहीं मिल रहे हैं।

Abdul Salam
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned