scriptAncillary in trouble due to increase in raw material price | रॉ मटेरियल के दाम बढऩे से एंसीलरी मुश्किल में | Patrika News

रॉ मटेरियल के दाम बढऩे से एंसीलरी मुश्किल में

केंद्रीय राज्यमंत्री एमएसएमई भानुप्रताप सिंह से मांग की कि फोर्स मेजर क्लॉज के तहत वित्तीय वर्ष 2020- 21 एवं 21-22 के बैलेंस ऑर्डर को तत्काल कैंसिल किया जाए।

भिलाई

Published: April 22, 2022 07:07:32 pm

Bhilai भिलाई. रॉ मटेरियल में बेतहाशा वृद्धि के कारण एंसीलरी एवं एमएसएमई उद्योगों की स्थिति मरणासन्न हो गई है। जल्द ही राहत देने के लिए कोई सख्त कदम नहीं उठाया गया तो इन उद्योगों में तालाबंदी की नौबत आ जाएगी। हजारों की संख्या में यहां के श्रमिक बेरोजगार हो जाएंगे।
रायपुर प्रवास पर आए केंद्रीय राज्यमंत्री एमएसएमई भानुप्रताप सिंह को बीएसपी एंसीलरी इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के अध्यक्ष रतन दासगुप्ता के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने उनसे सौजन्य भेंट की। दासगुप्ता ने मंत्री को बताया कि यहां के उद्योग पिछले चार दशक से बीएसपी के साथ हर सुख-दुख में कदम से कदम मिलाकर चल रहे हैं। कोरोना काल की मार से पहले ही तबाही की कगार पर पहुंच चुके उद्योग रॉ मटेरियल के इनपुट कॉस्ट में 100 फीसदी की बढ़ोतरी से हलाकान हैं। पीएसयू के वेंडरों पर मुसीबत की घड़ी आई हुई है। इनपुट कॉस्ट बढऩे के कारण ही कुछ ऑर्डर बैलेंस हैं।
दासगुप्ता ने मंत्री से मांग की कि फोर्स मेजर क्लॉज के तहत वित्तीय वर्ष 2020- 21 एवं 21-22 के बैलेंस ऑर्डर को तत्काल कैंसिल किया जाए। 80 फीसदी ऑर्डर पूरे किए जा चुके हैं। बहुत कम ही ऑर्डर बचे हुए हैं। ऐसी स्थिति में सभी पेंडिंग ऑर्डर को तत्काल प्रभाव से समाप्त कर रि टेंडर किया जाए। मंत्री से आग्रह किया कि सेल चेयरमैन को निर्देशित करें कि ऐसी स्थिति में किसी को भी आरपीएन न किया जाए एवं किसी प्रकार का एक्शन न लिया जाए।
राज्य मंत्री सिंह ने मांगों को गंभीरता से सुना और इस पर ठोस निर्णय लेने का भरोसा दिलाया। उन्होंने बताया कि अगले माह मंत्रालय की एक महत्वपूर्ण मीटिंग होने वाली है जिसमें एमएसईएम उद्योगों को राहत देने पर विचार-विमर्श होगा। मौके पर उपस्थित एमएसएमई छत्तीसगढ़ के संयुक्त संचालक राजीव एस एवं उनके अधिकारियों ने भी मांग का समर्थन दिया। प्रतिनिधिमंडल में एसोसिएशन की तरफ से महासचिव श्याम अग्रवाल, वरिष्ठ सचिव सुरेश चावड़ा, पूर्व महासचिव राजेश खंडेलवाल, चरणजीत सिंह गिल, हरीश मुदलियार,गौरव रोजिन्दार व रविशंकर मिश्रा शामिल थे।
रॉ मटेरियल के दाम बढऩे से एंसीलरी मुश्किल में
रॉ मटेरियल के दाम बढऩे से एंसीलरी मुश्किल में

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठाLiquor Latest News : पियक्कडों की मौज ! रात एक बजे तक खरीदी जा सकेगी शराबशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफMorning Tips: सुबह आंख खुलते ही करें ये 5 काम, पूरा दिन गुजरेगा शानदारDelhi Schools: दिल्ली में बदलेगी स्कूल टाइमिंग! जारी हुई नई गाइडलाइनMahindra Scorpio 2022 का लॉन्च से पहले लीक हुआ पूरा डिजाइन और लुक, बाहर से ऐसी दिखती है ये पावरफुल कारबैड कोलेस्‍ट्राॅल और डिमेंशिया को कम करके याददाश्त को बढ़ाता है ये लाल खट्‌टा-मीठा फल, जानिए इसके और भी फायदेAC में लगाइये ये डिवाइस, न के बराबर आएगा बिजली बिल, पूरे महीने होगी भारी बचत

बड़ी खबरें

दिल्ली-NCR में सुबह-सुबह खतरनाक आंधी के साथ बारिश, कई जगह उखड़े पेड़, फ्लाइट्स प्रभावितज्ञानवापी मामले के बीच गोवा के सीएम का बड़ा बयान, प्रमोद सावंत बोले- 'जहां भी मंदिर तोड़े गए फिर से बनाए जाएं'BJP को सरकार बनाने के लिए क्यों जरूरी है काशी और मथुरा? अयोध्या से बड़ा संदेश देने की तैयारीबेल्जियम, पहला देश जिसने मंकीपॉक्स वायरस के लिए अनिवार्य किया क्वारंटाइनएशिया कप हॉकी: पहले ही मैच में भिड़ेंगे भारत और पाकिस्तान, ऐसा है दोनों टीमों का रिकॉर्डआख़िर क्यों असदुद्दीन ओवैसी बार-बार प्लेसेज ऑफ़ वर्शिप एक्ट की बात कर रहे हैं, जानें क्या है यह एक्टकपिल देव के AAP में शामिल होने की चर्चा निकली गलत, सोशल मीडिया पर पूर्व कप्तान ने खुद साफ की स्थितिआक्रांताओं द्वारा तोड़े गए मंदिरों के बारे में बात करना बेकार है: सद्गुरु
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.