भिलाई: झूठी निकली 1.90 लाख लूट की शिकायत, कर्ज से बचने सब्जी व्यापारी ने ही रची थी साजिश, ड्राइवर को बनाया गवाह

भिलाई से लगे नंदिनी एरोड्रम के नजदीक सोमवार रात सब्जी व्यापारी से 1.90 लाख रुपए लूट की वारदात झूठी निकली। 36 घंटे बाद पुलिस ने बुधवार को खुलासा करते हुए बताया कि प्राथी सब्जी व्यापारी अरूण साहू ने कर्ज से बचने के लिए यह साजिश रची थी।

By: Dakshi Sahu

Published: 28 Oct 2020, 08:19 PM IST

भिलाई . भिलाई से लगे नंदिनी एरोड्रम के नजदीक सोमवार रात सब्जी व्यापारी से 1.90 लाख रुपए लूट की वारदात झूठी निकली। 36 घंटे बाद पुलिस ने बुधवार को खुलासा करते हुए बताया कि प्राथी सब्जी व्यापारी अरूण साहू ने कर्ज से बचने के लिए यह साजिश रची थी। अपने साथ पिकअप वाहन चालक को लूट का गवाह बनाया था। एएसपी ग्रामीण प्रज्ञा मेश्राम ने बताया कि प्रार्थी ने अरूण और ड्राइवर रवि यादव से अलग-अलग पूछताछ की गई तो दोनों के बयानों में विरोधाभास सामने आया। जिसके बाद ड्राइवर से सख्ती से पूछताछ की गई। उसने पूरी साजिश से पर्दाफाश कर दिया। लूट की झूठी शिकायत और पुलिस को गुमराह करने के आरोप में प्रार्थी अरूण के खिलाफ नंदिनी थाने में अपराध दर्ज किया गया है। नंदिनी थाना टीआई लक्ष्मण कुमेटी ने बताया कि प्रार्थी के झूठ का पर्दाफाश करने में सीसीटीवी फुटेज की अहम भूमिका रही। प्रार्थी ने जिस रास्ते का जिक्र शिकायत में किया उस समय पर वह वहां से गुजरा ही नहीं था।

Read more: नंदिनी एरोड्रम के पास सब्जी एजेंट से 1.90 लाख की लूट, फिल्मी स्टाइल में दो बाइक सवारों ने पीछा करके वारदात को दिया अंजाम ....

इस तरह गढ़ी थी लूट की झूठी कहानी
खुर्सीपार से नंदिनी की ओर दो पहिया वाहन से जा रहे सब्जी का थोक व्यापारी (सब्जी एजेंट) अरुण साहू (31 साल) ने सोमवार की रात करीब 9.30 बजे खुद के साथ लूट की शिकायत पुलिस में दर्ज कराई थी। उसने कहानी गढ़ते हुए बताया था कि चार बाइक सवार युवक उसका 1.90 लाख रुपए लूट कर फरार हो गए। घटना नंदिनी एरोड्रम के पास की है। पुलिस ने इस मामले में धारा 394 के तहत लूट का अपराध दर्ज किया था। इसके साथ ही जांच भी शुरू कर दी थी।

बाइक सवारों ने किया था ओवरटेक
पुलिस ने रिपोर्ट में प्रार्थी ने बताया था कि मेन रोड में पीछे से दो बाइक में 4 लोग आए। एक ने व्यापारी को फिल्मी अंदाज में ओवरटेक करते हुए लात मारकर गिराना चाहा। लात उसके दाहिने पैर घुटने के पास लगी। इस पर व्यापारी ने अपनी गाड़ी रोक दी। इतने में चारों बदमाश बाइक से उतर गए। व्यापारी अरुण को पकड़ कर गाड़ी से गिरा दिया। दो बदमाशों ने पेट के बल पटककर उसे कसकर पकड़ लिया। तीसरे बदमाश ने जेब से पर्स निकाल लिया। चौंथे ने उनकी गाड़ी की चाबी निकालकर डिक्की खोल लिया और रूपए से भरा थैला निकाल लिया। थैला निकालने के बाद चारों फुर्ती से बाइक स्टार्ट कर जामुल की ओर भाग निकले।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned